Friday, April 16, 2021
Home भारत अंतरिक्ष में मानव, पहली बार मिलेगी 5जी सेवा... जानिए, साल 2021 से...

अंतरिक्ष में मानव, पहली बार मिलेगी 5जी सेवा… जानिए, साल 2021 से लोगों को क्या-क्या उम्मीदें


चंद समय के बाद साल 2021 दस्तक देने वाला है। इस साल तकनीक और विज्ञान के जरिए हमें कई तोहफे मिलने की उम्मीद है, जिससे जीवनशैली में कई बड़े बदलाव होंगे। मेसाच्युसेट्स स्थित कंपनी टेराफुगिया जहां इस साल आसमान में उड़ने वाली कार लाने जा रही है। वहीं, अमेरिकी वैज्ञानिकों द्वारा बनाई गई कृत्रिम किडनी भी लाखों लोगों को नई जिंदगी देगी। अंतरिक्ष में यह साल भारत के लिए भी ऐतिहासिक साबित होगा, क्योंकि इसी साल मिशन गगनयान के तहत दिसंबर 2021 में मानव को पहली बार अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। चीन भी मंगल पर इसी साल पहुंचेगा।

आसमान में उड़ेगी कार 
मेसाच्युसेट्स स्थित कंपनी टेराफुगिया इस साल आसमान में उड़ने वाली कार लाने जा रही है। इसे कंपनी ने टीएफ-एक्स नाम दिया है। इसमें 3से चार लोगों के बैठने की क्षमता है और इसे आराम से घर के गैरेज में पार्क किया जा सकता है। इसकी अनुमानित कीमत 183000 पाउंड (1 करोड़ 81लाख रुपये) बताई जा रही है। 2013 में कंपनी ने टीएफ-एक्स के निर्माण की घोषणा की थी।

इस साल के मध्य में 5जी सेवा मिलेगा
रिलायंस भारत में 5जी नेटवर्क 2021 की दूसरी तिमाही में लॉन्च करेगा। इसकी घोषणा कंपनी ने की है। जियो किफायती दर पर भारत में 5जी की शुरुआत करेगा। एक आंकलन के मुताबिक, 2021 में 60 फीसदी फोन में 5जी नेटवर्क होगा। मीडिया रिपोर्ट के माने तो दुनियाभर के कई देशों में 6 जी तकनीक पर काम चल रहा है। यह तकनीक भी जल्द आएगी।

पहली बार अंतरिक्ष पर मानव
भारत की पहली मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा दिसंबर 2021 में शुरू होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2018 को ‘गगनयान मिशन’ का ऐलान किया था। मिशन गगनयान के तहत दिसंबर 2021 में मानव को पहली बार अंतरिक्ष में भेजा जाएगा।

मंगल पर चीन
23 जुलाई 2020 को चीन ने मंगल ग्रह के लिए अपने पहले मिशन तिआनवेन1 को सफलतापूर्वक लॉन्‍च किया था। अप्रैल 2021 में रोवर को मंगल की सतह पर उतारेगा। चीन का यह मिशन अगर सफल रहता है तो यह मानव के इतिहास में पहली बार में मंगल की कक्षा में चक्‍कर लगाने, लैंडिंग करने और रोवर के चक्‍कर लगाने का एक ही मिशन में पहला अभियान होगा। इस मिशन का लक्ष्‍य मंगल की सतह पर किन जगहों पर बर्फ है, इसका पता लगाना। इसके अलावा सतह की संरचना, जलवायु और पर्यावरण के बारे में पता लगाना है।

पहली कृत्रिम किडनी बनकर तैयार
अमेरिका में वैज्ञानिकों ने कृत्रिम किडनी बनाने में सफलता हासिल कर ली है। अब सिर्फअमेरिकी फेडरल ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से मंजूरी मिलना बाकी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च 2021 तक इसके बाजार में आने की उम्मीद है। भारत में हर साल आठ से दस हजार किडनी प्रत्यारोपण की सर्जरी होती है, जबकि सालाना करीब एक लाख लोगों को किडनी प्रत्यारोपण की जरूरत होती है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular