Thursday, December 2, 2021
Homeभारतअक्टूबर में दिल्ली की बेहतर हवा ने हैरत में डाला, लेकिन आगे...

अक्टूबर में दिल्ली की बेहतर हवा ने हैरत में डाला, लेकिन आगे इंतजार कर रहा स्मॉग!


नई दिल्ली. दिल्ली में इस बार अक्टूबर महीने में एयर क्वालिटी (Air Quality) न सिर्फ बीते साल से अच्छी (Better) है बल्कि पिछले चार सालों में सबसे बेहतर है. कोरोना (Covid-19) के कारण बीते साल लंबे चले लॉकडाउन के कारण माना जा रहा था कि 2020 की सर्दियों में स्मॉग कम होगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ था. अब इस साल अक्टूबर महीने में एयर क्वालिटी इंडेक्स बेहतर स्थिति में है. जबकि इस साल आर्थिक गतिविधियां भी ज्यादा हैं और सड़क पर वाहन भी अधिक दौड़ रहे हैं!

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस अक्टूबर में वायु की गुणवत्ता बेहतर बने रहने के पीछे कम पराली जलाया जाना बड़ा कारण है. रिपोर्ट के मुताबिक बीते साल के मुकाबले इस साल पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की घटनाएं अपेक्षाकृत कम हुई हैं. विशेष तौर पर महीने के दूसरे पखवाड़े में. 25 अक्टूबर तक के डेटा के मुताबिक पराली जलाने की घटनाएं 2017 के बाद सबसे कम रही हैं.

क्यों कम जलाई गई पराली
पराली कम जलाए जाने का एक अन्य कारण ये भी है कि 1 से 11 अक्टूबर तक धान की खरीद रोकी गई थी. शायद इस वजह से पराली कम जलाई गई क्योंकि किसान अगली फसल लगाने के लिए खेतों की सफाई को ध्यान में रखकर पराली जलाते हैं.

बारिश का भी रहा असर
वहीं बारिश को भी पराली कम जलाने का एक कारण माना जा रहा है. पंजाब और हरियाणा में अक्टूबर महीने में सामान्य से काफी ज्यादा बारिश दर्ज की गई है. पंजाब और हरियाणा में 290 फीसदी और 192 फीसदी ज्यादा बारिश दर्ज की गई है. इसके अलावा दिल्ली में भी इस वर्ष बीते सालों की तुलना में अधिक बारिश हुई है. इसे भी एयर क्वालिटी इंडेक्स बेहतर होने का कारण माना जा रहा है.

क्या बिगड़ सकते हैं हालात?
लेकिन अगर किसी भी कारण से किसानों ने अब तक पराली कम जलाई है और इसकी वजह से स्मॉग जैसी स्थिति नहीं बनी है तो अगले कुछ दिनों में स्थिति बिगड़ भी सकती है. क्योंकि अब तक पराली न जला सके किसान जब ऐसा करना शुरू करेंगे तो वायु की गुणवत्ता खराब से बेहद खराब हालत में पहुंच सकती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular