Sunday, December 5, 2021
Homeराजनीतिआगरा: खुले मेनहोल में गिरी गाय, लोगों ने जेसीबी मंगवाकर बचाई जान,...

आगरा: खुले मेनहोल में गिरी गाय, लोगों ने जेसीबी मंगवाकर बचाई जान, तीन घंटे चला रेस्क्यू


अमर उजाला ब्यूरो, आगरा
Published by: मुकेश कुमार
Updated Sat, 20 Nov 2021 12:15 AM IST

सार

धूलियागंज डलाबघर के बीच में खाने की तलाश में घूम रही गाय यहां खुले पड़े मेनहोल में गिर गई। मेनहोल पर ढक्कन नहीं होने से यह हादसा हुआ। 

मेलहोल में गिरी गाय
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

आगरा के धूलियागंज में कचरे के ढेर के बीच खुले पड़े मेनहोल में गाय गिर गई, जिसे बाहर निकालने के लिए तीन घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी। नगर निगम कर्मचारियों और स्थानीय लोगों की मेहनत के बाद गाय को बचा लिया गया। 

घटना के बाद क्षेत्रीय पार्षदों में सीवर नेटवर्क संभाल रही कंपनी वबाग के खिलाफ बेहद आक्रोश है। पार्षदों का आरोप है कि गाय के सीवर मेनहोल में गिरने की सूचना देने के तीन घंटे तक वबाग के कर्मचारी नहीं पहुंचे। गाय की जगह कोई इंसान भी खुले मेनहोल का शिकार हो सकता है। 

मेलहोल पर नहीं था ढक्कन
धूलियागंज डलाबघर के बीच में खाने की तलाश में घूम रही गाय यहां खुले पड़े मेनहोल में गिर गई। मेनहोल पर ढक्कन नहीं होने से यह हादसा हो गया। गाय गिरने पर वबाग को सूचना दी गई, पर कंपनी कर्मचारी नहीं आए। इस पर पार्षद रवि बिहारी माथुर और राकेश जैन ने नगर निगम के पशु चिकित्साधिकारी को फोन करके टीम बुलवाई। 

जेसीबी की मदद से मेनहोल की खोदाई की गई, जिसके बाद गाय को बाहर निकाला गया। पूरे तीन घंटे बाद गाय बाहर निकाली जा सकी। इस हादसे के बाद धूलियागंज के लोगों में वबाग के खिलाफ आक्रोश है। उन्होंने वबाग के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करके विरोध भी किया। 

कंपनी का करार निरस्त हो
पार्षद रवि बिहारी माथुर ने कहा कि कंपनी वबाग का रवैया बेहद गैर जिम्मेदाराना है। कंपनी ने तीन घंटे तक सुनवाई नहीं की। गाय की जान चली जाती तो वबाग की जिम्मेदारी होती। पूरे शहर में सीवर बह रहा है। मैनहोल पर ढक्कन तक नहीं रखे। कंपनी का करार तत्काल निरस्त कराया जाए और ऐसी लापरवाही पर जुर्माना लगे। 

लोग भी हो सकते हैं हादसे का शिकार
पार्षद राकेश जैन ने कहा कि प्रदेश और केंद्र की सरकार गाय बचाने के लिए जुटी हुई है, लेकिन वबाग कंपनी के अधिकारी तीन घंटे तक गाय बचाने के लिए नहीं पहुंचे। पूरे शहर में 1000 से ज्यादा जगहों पर मैनहोल पर ढक्कन नहीं रखवाए हैं। जैसे गाय गिरी है, वैसे ही आम लोग भी हादसे का शिकार हो सकते हैं। 

विस्तार

आगरा के धूलियागंज में कचरे के ढेर के बीच खुले पड़े मेनहोल में गाय गिर गई, जिसे बाहर निकालने के लिए तीन घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी। नगर निगम कर्मचारियों और स्थानीय लोगों की मेहनत के बाद गाय को बचा लिया गया। 

घटना के बाद क्षेत्रीय पार्षदों में सीवर नेटवर्क संभाल रही कंपनी वबाग के खिलाफ बेहद आक्रोश है। पार्षदों का आरोप है कि गाय के सीवर मेनहोल में गिरने की सूचना देने के तीन घंटे तक वबाग के कर्मचारी नहीं पहुंचे। गाय की जगह कोई इंसान भी खुले मेनहोल का शिकार हो सकता है। 

मेलहोल पर नहीं था ढक्कन

धूलियागंज डलाबघर के बीच में खाने की तलाश में घूम रही गाय यहां खुले पड़े मेनहोल में गिर गई। मेनहोल पर ढक्कन नहीं होने से यह हादसा हो गया। गाय गिरने पर वबाग को सूचना दी गई, पर कंपनी कर्मचारी नहीं आए। इस पर पार्षद रवि बिहारी माथुर और राकेश जैन ने नगर निगम के पशु चिकित्साधिकारी को फोन करके टीम बुलवाई। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular