Sunday, October 24, 2021
Home राजनीति आजमगढ़ में कानपुर का फर्जी शिक्षक गिरफ्तार, दूसरे के शैक्षिक प्रमाण पत्र...

आजमगढ़ में कानपुर का फर्जी शिक्षक गिरफ्तार, दूसरे के शैक्षिक प्रमाण पत्र पर कर रहा था नौकरी


अमर उजाला नेटवर्क, आजमगढ़
Published by: हरि User
Updated Sat, 03 Jul 2021 12:48 AM IST

सार

वर्ष 2011 में कानपुर नगर के बर्रा थाना क्षेत्र निवासी कमल नरायण मिश्र पुत्र स्व. कपिल देव मिश्रा ने सहायक अध्यापक का पदभार ग्रहण किया था। तैनाती हरैया अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय दाम महुला पर हुई थी।
 

आजमगढ़ पुलिस की गिरफ्त में कानपुर नगर के बर्रा क्षेत्र का फर्जी शिक्षक कमल नरायण मिश्र।
– फोटो : सोशल मीडिया।

ख़बर सुनें

दूसरे व्यक्ति के शैक्षिक प्रमाण पत्रों के आधार पर गलत तरीके से शिक्षक की नौकरी प्राप्त करने वाले व्यक्ति को आजमगढ़ जनपद की रौनापार पुलिस ने शुक्रवार की सुबह प्राथमिक विद्यालय दाम महुला के पास से गिरफ्तार किया।  

वर्ष 2011 में कानपुर नगर के बर्रा थाना क्षेत्र निवासी कमल नरायण मिश्र पुत्र स्व. कपिल देव मिश्रा बेसिक शिक्षा विभाग में बतौर सहायक अध्यापक का पदभार ग्रहण किया था। नियुक्ति में कमल नरायन ने कूटरचित दस्तावेज लागाए थे। उसकी तैनाती आजमगढ़ के शिक्षा क्षेत्र हरैया अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय दाम महुला पर हुई।

केस दर्ज होने की भनक लगते ही हो गया था फरार
फर्जीवाड़े की शिकायत विभाग में हुई तो जांच शुरू हुई और जांच में कमल नरायण मिश्र के फर्जीवाड़े की कलई खुलती गई। फर्जीवाड़े की पुष्टि होते ही खंड शिक्षाधिकारी हरैया ने कमल नरायण के खिलाफ रौनापार थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करा दिया। वहीं मुकदमा दर्ज होने की भनक लगते ही कमल नरायनण विद्यालय छोड़ कर फरार हो गया। मुखबिर से मिली सूचना पर रौनापार पुलिस ने कमल नरायण को शुक्रवार की सुबह प्राथमिक विद्यालय दाम महुला के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसका संबंधित धाराओं में चालान कर दिया गया है। 

विस्तार

दूसरे व्यक्ति के शैक्षिक प्रमाण पत्रों के आधार पर गलत तरीके से शिक्षक की नौकरी प्राप्त करने वाले व्यक्ति को आजमगढ़ जनपद की रौनापार पुलिस ने शुक्रवार की सुबह प्राथमिक विद्यालय दाम महुला के पास से गिरफ्तार किया।  

वर्ष 2011 में कानपुर नगर के बर्रा थाना क्षेत्र निवासी कमल नरायण मिश्र पुत्र स्व. कपिल देव मिश्रा बेसिक शिक्षा विभाग में बतौर सहायक अध्यापक का पदभार ग्रहण किया था। नियुक्ति में कमल नरायन ने कूटरचित दस्तावेज लागाए थे। उसकी तैनाती आजमगढ़ के शिक्षा क्षेत्र हरैया अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय दाम महुला पर हुई।

केस दर्ज होने की भनक लगते ही हो गया था फरार

फर्जीवाड़े की शिकायत विभाग में हुई तो जांच शुरू हुई और जांच में कमल नरायण मिश्र के फर्जीवाड़े की कलई खुलती गई। फर्जीवाड़े की पुष्टि होते ही खंड शिक्षाधिकारी हरैया ने कमल नरायण के खिलाफ रौनापार थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करा दिया। वहीं मुकदमा दर्ज होने की भनक लगते ही कमल नरायनण विद्यालय छोड़ कर फरार हो गया। मुखबिर से मिली सूचना पर रौनापार पुलिस ने कमल नरायण को शुक्रवार की सुबह प्राथमिक विद्यालय दाम महुला के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसका संबंधित धाराओं में चालान कर दिया गया है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular