Sunday, January 23, 2022
Homeभारतइलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री में देश का यह शहर सबसे आगे, राष्ट्रीय...

इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री में देश का यह शहर सबसे आगे, राष्ट्रीय औसत से 6 गुना ज्यादा खरीदी गईं EV गाड़ियां


नई दिल्ली. दिल्ली भारत की इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) की राजधानी के रूप में उभर रही है. देश के दूसरे हिस्सों की तुलना में दिल्ली में ईवी (EV) की बिक्री लगभग 6 गुना ज्यादा हुई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कहा कि दिल्ली प्रदूषण (Air Pollution) में अपने योगदान को कम करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है. इस बात की खुशी है कि हमारी ईवी नीति (EV Policy) बड़ी सफल साबित हुई है. दिल्ली में सितंबर-नवंबर तिमाही में इलेक्ट्रिक वाहन दूसरे सबसे ज्यादा खरीदे गए प्रकार के वाहन हैं.

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली की प्रगतिशील इलेक्ट्रिक वाहन नीति बड़ी सफल साबित हुई है. दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है. दिल्ली में पिछली तिमाही में इलेक्ट्रिक वाहनों ने सीएनजी और डीजल वाहनों की बिक्री को पीछे छोड़ दिया है. कुल बेचे गए वाहनों में इलेक्ट्रिक वाहनों का 9 फीसदी हिस्सा है, जबकि राष्ट्रीय औसत 1.6 फीसदी है. पिछली तिमाही में दिल्ली में 9,540 इलेक्ट्रिक वाहन बिके हैं. हर महीने बिक्री तेजी से बढ़ रही है.

Electric Vehicle, electric car, cost of elecric car, Delhi news, electric vehicles sale purchase news, delhi government, इलेक्ट्रिक कार, कार की कीम, इलेक्ट्रिक कार की कीमत, दिल्ली में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कीमत, ईवी गाड़ियां, दिल्ली में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कितनी है डिमांड, दिल्ली सरकार, कैलाश गहलोत, सीएम अरविंद केजरीवाल,

दिल्ली में सितंबर से नवंबर तक कुल 9,540 इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री हुई.

25 फीसदी इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी का लक्ष्य
बता दें कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 2024 तक वाहनों की कुल बिक्री में 25 फीसदी इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी का लक्ष्य रखा है. पिछले 3 महीनों में ईवी की बिक्री दिल्ली में कुल वाहनों की बिक्री का लगभग 9 फीसदी हो गई है. दिल्ली में सितंबर और नवंबर 2021 में ईवी की बिक्री 9.2 फीसदी थी, जबकि अक्टूबर में यह कुल बिक्री का 8.2 फीसदी थी. उल्लेखनीय है कि दिल्ली में पिछली तिमाही में इलेक्ट्रिक वाहन, पेट्रोल से चलने वाले वाहनों के बाद दूसरे सबसे ज्यादा खरीदे जाने वाले वाहन हैं. सीएनजी वाहनों की बिक्री नवंबर में 6.5 फीसदी रह गई है.

ये भी पढ़ें – अगर Traffic Police ने काट दिया है आपका गलत चालान तो कैसे पाया जा सकता है इससे छुटकारा?

दिल्ली ईवी राजधानी के रुप में उभर रही है- केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर इस जानकारी को साझा करते हुए लिखा कि मुझे खुशी है कि दिल्ली 9 फीसदी इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री के साथ भारत की ईवी राजधानी के रूप में उभर रही है. दिल्ली प्रदूषण में अपने योगदान को कम करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है.

Electric Vehicle, electric car, cost of elecric car, Delhi news, electric vehicles sale purchase news, delhi government, इलेक्ट्रिक कार, कार की कीम, इलेक्ट्रिक कार की कीमत, दिल्ली में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कीमत, ईवी गाड़ियां, दिल्ली में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कितनी है डिमांड, दिल्ली सरकार, कैलाश गहलोत, सीएम अरविंद केजरीवाल,

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली की प्रगतिशील इलेक्ट्रिक वाहन नीति बड़ी सफल साबित हुई है.

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली की प्रगतिशील इलेक्ट्रिक वाहन नीति बड़ी सफल साबित हुई है. दिल्ली में इलेक्ट्रिक व्हीकल की बिक्री दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है. सीएम के विजन के कारण ही दिल्ली सरकार इस तरह के शानदार सुधार लाने में सफल रही है.

तेजी से बढ़ रही इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री
दिल्ली में सितंबर से नवंबर तक कुल 9,540 इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री हुई. इसमें से सितंबर में 2,873, अक्टूबर में 3,275 और नवंबर में 3,392 इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री हुई. पेट्रोल वाहनों के बाद इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री दूसरे स्थान पर पहुंच गई है. इस बीच 82,626 पेट्रोल वाहनों की बिक्री हुई है. वहीं, इलेक्ट्रिक वाहनों ने डीजल और सीएनजी वाहनों को पीछे छोड़ दिया. इस तिमाही में 7,820 सीएनजी वाहन और 2,688 डीजल वाहन बिके. हाइब्रिड श्रेणी में 3,918 पेट्रोल और सीएनजी वाहनों की बिक्री हुई. इसके अलावा 1,429 पेट्रोल प्लस अन्य हाइब्रिड वाहनों की बिक्री हुई.

ये भी पढ़ें: अब आपको वाहन रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट के लिए नहीं जाना पड़ेगा RTO, डीलर ही तुरंत दे देंगे प्रिंटेड RC

बता दें कि दिल्ली सरकार की ईवी नीति को पूरे भारत में सबसे प्रगतिशील नीति के रूप में स्वीकार किया गया है. दिल्ली सभी तरह के इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए रोड टैक्स और पंजीकरण शुल्क में पूरी तरह से छूट देने वाला पहला राज्य बन गया. इसके अलावा पात्रता मानदंड को सरल बनाया गया ताकि अधिक से अधिक लोग सब्सिडी का लाभ उठा सकें. दिल्ली सरकार और डिस्कॉम ने पिछले दो वर्षों में दिल्ली भर में 380 से अधिक चार्जिंग पॉइंट के साथ 201 चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए. राष्ट्रीय स्तर पर किसी भी शहर में अब तक सबसे अधिक‌ चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए जाने का रिकॉर्ड है. 2022 के मध्य तक और 600 सार्वजनिक चार्जिंग पॉइंट बनाए जाएंगे.

Tags: Chief Minister Arvind Kejriwal, Delhi Government, Electric Car, Electric Vehicles, EV charging, Transport department





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular