Monday, May 10, 2021
Home मनोरंजन इस एक्ट्रेस को ‘फुल गुंडी’ कहते थे को-स्टार, ऐसा था फिल्मी परिवार

इस एक्ट्रेस को ‘फुल गुंडी’ कहते थे को-स्टार, ऐसा था फिल्मी परिवार


इस एक्ट्रेस को ‘फुल गुंडी’ कहते थे को-स्टार, ऐसा था फिल्मी परिवार

अनुरीता झा

अनुरीता झा (Anurita Jha) बताती हैं कि पहली बार साड़ी पहनना काफी मजेदार के साथ-साथ थोड़ा असहज करने वाला था, जबकि बिहारी होने के चलते भाषा पसंद आई. यही वजह रही कि वे इस मोर्चे पर दूसरे अभिनेताओं से कहीं अधिक फिल्म से जुड़ पाईं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 8, 2020, 11:48 PM IST

मुंबई. गैंग्स ऑफ वासेपुर (Gangs of Wasseypur) और भारत जैसी फिल्मों के बाद वेब सीरीज आश्रम में दिख चुकी एक्ट्रेस अनुरीता झा (Anurita Jha) इन दिनों कॉमेडी वेब सीरीज परिवार में चुटीले अभिनय से सुर्खियां बटोर रहीं हैं. मगर खुद उन्हें इसमें सबसे अच्छा क्या लगा, इसके जवाब में वह यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma), रणवीर शौरी (Ranveer Shauri), विजय राज (Vijay Raj) और गजराज राव (Gajraj Rao) जैसे धुरंधर अभिनेताओं के साथ अभिनय के मौके को गिनाती हैं. अपने सहकर्मियों की प्रतिभा से मंत्रमुग्ध अनुरीता फिल्म से अपने लिए यही सबसे बड़ी सीख मानती हैं.

अनुरीता कहती हैं कि वे सभी अपने अंदाज से सीन को बिल्कुल दूसरे लेवल तक पहुंचा देते थे. सबसे अदभुत समर्पण यशपाल शर्मा का रहा. वह अपना शॉट खत्म होने के बाद भी उसकी बेहतरी के बारे में सोचते और डिस्कस करते रहते थे. इन सभी प्रतिभाशाली अभिनेताओं को सलाम. मैंने इनसे बहुत कुछ सीखा.

मूल रूप से बिहार की अनुरीता को फिल्म ऑफर हुई तो पृष्ठभूमि-भाषा दोनों में बिहारी टच का होना, उनके लिए चीजें थोड़ा आसान कर गया. परिवार में वे बहू मंजू का किरदार निभा रही जो सच के रास्ते पर चलते पति के बुरे कामों का विरोध करती है, वह बच्चों को ईमानदारी से कमाई करने और जिंदगी जीने का सही तरीका बताती है. शूटिंग की यादों को ताजा करते हुए अनुरीता सीनियर एक्टर गजराज राव के बारे में बताती हैं कि वे एक इंस्परेशन हैं. वे काम का काफी भार होने के बावजूद मन शांत रखने का तरीका बताते थे.

उन्होंने सिखाया कि काम के दौरान आस-पास हो रही चीजों से खुद को अलग कर सिर्फ सीन पर कैसे फोकस करना चाहिए. उनका मजाकिया अंदाज बेहद अनूठा था, वह मुझे मजाक में वन फुल गुंडी कहा करते थे. अनुरीता बताती हैं कि पहली बार साड़ी पहनना काफी मजेदार के साथ-साथ थोड़ा असहज करने वाला था, जबकि बिहारी होने के चलते भाषा पसंद आई. यही वजह रही कि वे इस मोर्चे पर दूसरे अभिनेताओं से कहीं अधिक फिल्म से जुड़ पाईं. अनुरीता के मुताबिक आश्रम और परिवार के बाद कुछ और अच्छी सीरीज में वह जल्द नजर आएंगी.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular