Friday, January 21, 2022
Homeराजनीतिएक बार फिर पासपोर्ट के मामले में सबसे खराब देशों की सूची...

एक बार फिर पासपोर्ट के मामले में सबसे खराब देशों की सूची में शुमार



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत के खिलाफ जहर उगलने और आंतक को पनाह देने वाले पाकिस्तान के लिए बुरी खबर है। पाकिस्तान एक बार फिर पासपोर्ट के मामले में सबसे खराब देशों की सूची में शुमार हो गया है। हेनली पासपोर्ट इंडेक्स में पाकिस्तान के पासपोर्ट को दुनिया का चौथा सबसे खराब पासपोर्ट घोषित किया गया है। 

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स 2022 के अनुसार, पाकिस्तानी पासपोर्ट को लगातार तीसरे वर्ष अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए चौथा सबसे खराब स्थान दिया गया है। पाकिस्तानी पासपोर्ट के साथ दुनिया भर में केवल 31 गंतव्यों तक वीजा-मुक्त या वीजा-ऑन-अराइवल पहुंच है।पीएम इमरान खान, जो पाकिस्तान को रियासते मदीना बनाना चाहते थे, उनके शासनकाल में पाकिस्तानी पासपोर्ट की औकात और खराब हुई है और पाकिस्तानी पासपोर्ट को 108वें नंबर पर रखा गया है और पाकिस्तानी नागरिक अपने पासपोर्ट के साथ सिर्फ 31 देशों की ही वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं। वहीं, सीरिया 109, इराक 110 और अफगानिस्तान 111वें नंबर पर हैं।

द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, हेनले पासपोर्ट इंडेक्स, जो दुनिया के सभी पासपोटरें की रैंकिंग है, उन गंतव्यों की संख्या के अनुसार, जहां उनके धारक बिना पूर्व वीजा के पहुंच सकते हैं, पाकिस्तान को 108 वें स्थान पर रखा गया है।हेनले एंड पार्टनर्स फर्म का हेनले पासपोर्ट इंडेक्स 2006 से नियमित रूप से दुनिया के सबसे अधिक यात्रा-अनुकूल पासपोर्ट की निगरानी कर रहा है।

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स साल 2006 से हर साल पासपोर्ट को लेकर रैंकिंग जारी करता है, जिससे पता चलता है कि, किस देश का पासपोर्ट दुनिया में सबसे ज्यादा स्वतंत्र है। हालांकि, पिछले 16 साल के दरम्यां पिछले 2 सालों से कोविड महामारी की वजह से पासपोर्ट रैंकिंग और भी ज्यादा जरूरी हो गई है। हालांकि, पासपोर्ट की रैकिंग में कोविड महामारी की वजह से लगाए जा रहे प्रतिबंधों को शामिल नहीं किया गया है।

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स-2022 की रिपोर्ट में जापान और सिंगापुर को 192 देशों में पहले नंबर पर रखा गया है और जापान और सिंगापुर के पासपोर्ट धारक 192 देशों की वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं।इसमें अफगान नागरिकों की तुलना में 166 अधिक गंतव्य हैं, जो 199 पासपोर्ट के सूचकांक में सबसे नीचे है और अफगान नागरिक बिना अग्रिम वीजा की आवश्यकता के सिर्फ 26 देशों तक पहुंच सकते हैं।

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स के अनुसार, दक्षिण कोरिया और जर्मनी विश्व के 190 देशों में वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं और ये दोनों देश दूसरे स्थान पर हैं, जबकि फिनलैंड, इटली, लक्जमबर्ग और स्पेन सभी एक साथ तीसरे स्थान पर हैं। इन सभी देशों के लोग विश्व के 189 देशों में वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं।

यूरोपीय संघ के देश हमेशा की तरह सूची में शीर्ष स्थान पर कब्जा जमाए हुए हैं और फ्रांस, नीदरलैंड और स्वीडन एक स्थान और आगे बढ़कर चौथे स्थान पर ऑस्ट्रिया और डेनमार्क के साथ शामिल हो गए हैं। इन देशों के लोग 188 देशों की यात्रा वीजा फ्री कर सकते हैं।इंडेक्स में आयरलैंड और पुर्तगाल पांचवें स्थान पर हैं। वहीं, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम, जिन्होंने 2014 में एक साथ शीर्ष स्थान हासिल किया था, उनकी रैंकिंग कम हो गई है और साल 2022 की रैकिंग में ये दोनों देश छठे स्थान पर हैं।

2021 की तुलना में 2022 की पहली तिमाही में भारत की पासपोर्ट शक्ति में सुधार हुआ है। अब यह हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में 83वें स्थान पर है, जो पिछले साल 90वें स्थान पर था। हालांकि, 2020 में भारतीय पासपोर्ट का रैंक 84 आंका गया था, जबकि 2016 में भारत माली और उज्बेकिस्तान के साथ 85वें स्थान पर था।

 

(आईएएनएस)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular