Sunday, December 5, 2021
Homeराजनीतिकाशी में पीएम मोदी: पूर्व की सरकारों पर तंज, हेल्थ केयर सिस्टम...वोकल...

काशी में पीएम मोदी: पूर्व की सरकारों पर तंज, हेल्थ केयर सिस्टम…वोकल फॉर लोकल, पढ़ें प्रधानमंत्री के भाषण की मुख्य बातें


सार

रिंग रोड किनारे मेंहंदीगंज में पीएम मोदी जनसभा की शुरुआत हर-हर महादेव के उद्घोष से की। जनता से संवाद करते हुए कहा कि आप लोग इजाजत दें तो बोलना शुरू करुं? भोजपुरी में दीपावली और छठ समेत आगामी पर्वों की शुभकामनाएं दी।

वाराणसी में पीएम मोदी
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वाराणसी में 5189 करोड़ रुपए की 28 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इसके साथ ही देश की बड़ी योजना आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन की शुरुआत की। जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व की सरकारों पर तंज भी कसा। काशी का विकास, देश के हेल्थ केयर सिस्टम, 100 करोड़ कोरोना डोज, वोकल फॉर लोकल जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखी।

रिंग रोड किनारे मेंहंदीगंज में पीएम मोदी जनसभा की शुरुआत हर-हर महादेव के उद्घोष से की। जनता से संवाद करते हुए कहा कि आप लोग इजाजत दें तो बोलना शुरू करुं? भोजपुरी में दीपावली और छठ समेत आगामी पर्वों की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि देश ने कोरोना महामारी से अपनी लड़ाई में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के बड़े पड़ाव को पूरा किया है।

बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से, मां गंगा के अविरल प्रताप से, काशीवासियों के अखंड विश्वास से, सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन का अभियान सफलता से आगे बढ़ रहा है। काशी में तो शिव और शक्ति निवास करते हैं, काशी में कष्ट और क्लेश से मुक्त कराती है।

75 हजार करोड़ का कार्यक्रम
पीएम मोदी ने कहा कि आज इस मंच पर दो बड़े कार्यक्रम हो रहे हैं। एक भारत सरकार का भारत के लिए 64 हजार करोड़ से अधिक का काम काशी से लॉन्च हो रहा है। दूसरा काशी और पूर्वांचल के कार्यक्रम हो रहा है। पहले और यहां के कार्यक्रम को मिला दें तो 75 हजार करोड़ का कार्यक्रम जारी किया गया है।

पीएम मोदी ने आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन की खासियतों की चर्चा की। बताया कि देश के हेल्थ सेक्टर के अलग-अलग गैप्स को एड्रेस करने के लिए  इस मिशन के तीन बड़े पहलू हैं। पहला, डाइअग्नास्टिक और ट्रीटमेंट के लिए विस्तृत सुविधाओं के निर्माण से जुड़ा है। योजना का दूसरा पहलू, रोगों की जांच के लिए टेस्टिंग नेटवर्क से जुड़ा है।

इस मिशन के तहत, बीमारियों की जांच, उनकी निगरानी कैसे हो, इसके लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास किया जाएगा। तीसरा पहलू रिसर्च संस्थानों को सशक्त बनाने का है। 80 बायो व रिसर्च लैब हैं इनको और बेहतर किया जाएगा।  
आज केंद्र और राज्य में वो सरकार है जो गरीब, दलित, शोषित-वंचित, पिछड़े, मध्यम वर्ग, सभी का दर्द समझती है। देश में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने के लिए हम दिन रात एक कर रहे हैं। यह मिशन स्वास्थ्य के साथ आर्थिक मिशन भी है जो सभी के लिए सुलभ और सस्ता हो यानि होलिस्टिक मिशन भी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि आजादी के बाद के लंबे कालखंड में हेल्थ केयर सिस्टम पर उतना ध्यान नहीं दिया गया, जितनी देश को जरूरत थी। देश में जिनकी लंबे समय तक सरकारें रहीं उन्होंने देश के हेल्थकेयर सिस्टम के संपूर्ण विकास के बजाय, उसे सुविधाओं से वंचित रखा। पीएम मोदी ने कहा कि आज केंद्र और राज्य में वो सरकार है जो गरीब, दलित, शोषित-वंचित, पिछड़े, मध्यम वर्ग, सभी का दर्द समझती है। देश में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने के लिए हम दिन रात एक कर रहे हैं।

आयुष्मान भारत योजना ने दो करोड़ से अधिक गरीबों का अस्पताल में मुफ्त इलाज भी करवाया है। इलाज से जुड़ी अनेक परेशानियों को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के जरिए हल किया जा रहा है। हमसे पहले जो सरकार में रहे, उनके लिए स्वास्थ्य सेवा पैसा कमाने, घोटालों का जरिया रही है।

गरीब की परेशानी देखकर भी वो उनसे दूर भागते रहे। विपक्ष पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि पहले की सरकार जनता की परेशानी से भागती थी। अब ईमानदारी और ऊर्जा के साथ काम हो रहा है। पहले विकास का पैसा भ्रष्टाचार में जाता था। अब विकास का पैसा विकास में जाता है। 

पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जिस तेजी के साथ नए मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं, उसका बहुत अच्छा प्रभाव मेडिकल की सीटों और डॉक्टरों की संख्या पर पड़ेगा। ज्यादा सीटें होने की वजह से अब गरीब माता-पिता का बच्चा भी डॉक्टर बनने का सपना देख सकेगा और उसे पूरा कर सकेगा। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज काशी का हृदय वही है, मन वही है, लेकिन काया को सुधारने का ईमानदारी से प्रयास हो रहा है। जितना काम वाराणसी में पिछले सात साल में हुआ है, उतना पिछले कई दशकों में नहीं हुआ। रिंग रोड के अभाव में काशी में जाम की क्या स्थिति होती थी, इसे आपने वर्षों तक अनुभव किया है।

अब रिंग रोड बनने से प्रयागराज, लखनऊ, सुलतानपुर, गोरखपुर, दिल्ली कहीं भी जाना हो तो उसके लिए शहर में नहीं आना पड़ेगा।  अब एयरपोर्ट आने वालों को कालीन बनाने वालों को, विंध्याचल दर्शन करने वालों की सुविधा होगी। 

पीएम मोदी ने कहा कि बीते सालों की एक और बड़ी उपलब्धि अगर काशी की रही है, तो वो है बीएचयू का फिर से दुनिया में श्रेष्ठता की तरफ अग्रसर होना। आज टेक्नॉलॉजी से लेकर हेल्थ तक, बीएचयू में अभूतपूर्व सुविधाएं तैयार हो रही हैं।
पीएम मोदी ने आगामी दीपावली के त्योहार को लेकर कहा कि मिट्टी के कारीगर और बुनकरों के लिए खादी व कुटीर उद्योग में 60 फीसद और बिक्री में 90 फीसद इजाफा हुआ है। जनता से कहा कि इस दीवाली पर हमें उनका भी ध्यान रखना है। कपड़ों और दीयों के लिए वोकल फॉर लोकल के लिए मनोभाव बनाए रखना है। इसकी वजह से सबकी दीवाली खुशियों से भर जाएगी। वह उत्पादन जिसमें देश का पसीना और देश की मिट्टी की सुगंध है उसे खरीदेंगे तो गरीब को काम मिलेगा। दीवाली पर देश में निर्मित सामान को खरीदकर हम बड़ा परिवर्तन हम ला सकते हैं।

विस्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वाराणसी में 5189 करोड़ रुपए की 28 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इसके साथ ही देश की बड़ी योजना आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन की शुरुआत की। जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व की सरकारों पर तंज भी कसा। काशी का विकास, देश के हेल्थ केयर सिस्टम, 100 करोड़ कोरोना डोज, वोकल फॉर लोकल जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखी।

रिंग रोड किनारे मेंहंदीगंज में पीएम मोदी जनसभा की शुरुआत हर-हर महादेव के उद्घोष से की। जनता से संवाद करते हुए कहा कि आप लोग इजाजत दें तो बोलना शुरू करुं? भोजपुरी में दीपावली और छठ समेत आगामी पर्वों की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि देश ने कोरोना महामारी से अपनी लड़ाई में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के बड़े पड़ाव को पूरा किया है।

बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से, मां गंगा के अविरल प्रताप से, काशीवासियों के अखंड विश्वास से, सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन का अभियान सफलता से आगे बढ़ रहा है। काशी में तो शिव और शक्ति निवास करते हैं, काशी में कष्ट और क्लेश से मुक्त कराती है।

75 हजार करोड़ का कार्यक्रम

पीएम मोदी ने कहा कि आज इस मंच पर दो बड़े कार्यक्रम हो रहे हैं। एक भारत सरकार का भारत के लिए 64 हजार करोड़ से अधिक का काम काशी से लॉन्च हो रहा है। दूसरा काशी और पूर्वांचल के कार्यक्रम हो रहा है। पहले और यहां के कार्यक्रम को मिला दें तो 75 हजार करोड़ का कार्यक्रम जारी किया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular