Friday, January 28, 2022
Homeभारतकिसान यूनियन ने किया खुद को चुनाव से दूर रखने का ऐलान,...

किसान यूनियन ने किया खुद को चुनाव से दूर रखने का ऐलान, टिकैत बोले- कोई फतवा जारी नहीं करेंगे


जयपुर. भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) ने खुद को चुनाव से दूर रखने का ऐलान किया है. यूनियन उन किसान नेताओं के पक्ष में प्रचार नहीं करेगी जिन्होंने पंजाब में पार्टी बनाकर चुनाव में उतरने का ऐलान किया है. किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने आज जयपुर में दिनभर किसान संगठनों के साथ चर्चा की और राजपार्क में गुरमत समागम में शिरकत की. टिकैत ने कहा कि उनका संगठन गैर राजनीतिक है. उन्होंने एमएसपी को किसानों का हक करार दिया और कहा कि किसान इसे लेकर रहेंगे.

राकेश टिकैत बोले आंदोलन स्थगित हुआ है. किसान संगठन अपने हक की लड़ाई जारी रखेंगे और चुप नहीं बैठेंगे. देशभर में किसानों के जनजागरण का काम जारी रहेगा. किसानों का आंदोलन तब तक चलेगा जब तक राजस्थान जैसे प्रदेश में बाजरे का भाव नहीं बढ़ जाता और किसानों को एमएसपी का हक नहीं मिल जाता. उन्होंने कहा किसान हल चलाता है. वो दिन रात मेहनत करता है. फसलें पैदा करता है. उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली की कलम भाव पर चलती है तो बेईमानी करती है. यह जनता को अब समझ में आ गया है.

किसानों ने आंदोलन के जरिये ट्रेनिंग ले ली है
टिकैत ने कहा कि 13 महीने तक किसानों ने आंदोलन के जरिये ट्रेनिंग ले ली है. किसान अपनी जंग जारी रखेगा. एमएसपी गारंटी कानून, बाजार भाव और सीटू प्लस 50 का फॉर्मूला किसान को चाहिए. टिकैत ने सवाल उठाये कि किसान की जमीन के सौदे रात के अंधेरे में हो जाते हैं लेकिन उसके द्वारा पैदा की जाने वाली फसल दिन में भी नहीं बिकती. देश के किसान मजदूर आदिवासी की समझ में आने लगा है कि उसके साथ सरकारें धोखा कर रही हैं.

पंजाब में नहीं करेंगे प्रचार
टिकैत ने कहा संयुक्त किसान मोर्चा चार महीने की छुटटी पर गया है. पंजाब में चुनाव लड़ रहे किसान मोर्चा के नेताओं द्वारा राजनीतिक दल बनाकर मैदान में कूदने के घटनाक्रम को टिकैत ने गलत बताया. उन्होंने कहा कि हमने उन्हें 4 महीने की छुट्टी पर भेजा है. चाहे वे ताश के पत्ते खेलें या चुनाव लड़ें. वो जब वापस बैठक के लिए आएंगे तब हम बात करेंगे. टिकैत ने कहा कि मैं प्रचार करने नहीं जाऊंगा. संयुक्त किसान मोर्चा न चुनाव लड़ेगा ना चुनाव लड़ायेगा. ना हम प्रचार करेंगे.

किसी भी पार्टी के पक्ष या विरोध में फतवा जारी नहीं करेंगे
टिकैत ने कहा कि यूपी और उत्तराखंड में भी हम किसी भी राजनीतिक दल का प्रचार नहीं करेंगे. गन्ने, आलू और सरसों के बकाया भुगतान बिजली के बढ़े हुए बिलों को कम करने की मांग जारी रहेगी. टिकैत बोले हम किसी भी पार्टी के पक्ष या विरोध में फतवा जारी नहीं करेंगे. टिकैत ने आरोप लगाया कि नेता सिर्फ वोट चाहते हैं. न वो नहर की खुदाई चाहते हैं और न ही उनको किसानों के बच्चों की शिक्षा की फिक्र है.

आपके शहर से (जयपुर)

Tags: Rajasthan latest news, Rakesh Tikait big statement



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular