Thursday, August 5, 2021
Home लेटेस्ट मोबाइल फोन्स क्या 5G टेक्नोलॉजी स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है? ल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ...

क्या 5G टेक्नोलॉजी स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है? ल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने दिया जवाब


5G टेक्नो़लॉजी से जुड़े खतरे को लेकर कुछ दिनों से चर्चा चल रही है.

5G टेक्नो़लॉजी से जुड़े खतरे को लेकर कुछ दिनों से चर्चा चल रही है.

सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने बताया कि 5जी प्रौद्योगिकी (5G Technology) के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव को लेकर जो चिंता जताई जा रही है, वह पूरी तरह गलत है.

नई दिल्ली. सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) ने कहा है कि 5जी प्रौद्योगिकी (5G Technology) के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव को लेकर जो चिंता जताई जा रही है, वह पूरी तरह गलत है. अभी तक जो भी प्रमाण उपलब्ध हैं उनसे पता चलता है कि अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकी पूरी तरह सुरक्षित है. सीओएआई ने इस बात पर जोर दिया कि 5जी प्रौद्योगिकी ‘पासा पलटने’ वाली होगी और इससे अर्थव्यवस्था और समाज को जबरदस्त फायदा होगा.

सीओएआई रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया जैसी बड़ी कंपनियों का प्रतिनिधित्व करती है. एसोसिएशन ने कहा कि भारत में दूरसंचार क्षेत्र में इलेक्ट्रोमैग्नेटिक विकिरण सीमा को लेकर पहले ही कड़े नियम हैं. वैश्विक रूप से मान्य मानकों की तुलना में भारत में नियम अधिक सख्त हैं.

(ये भी पढ़ें-  Samsung के सबसे सस्ते 5G फोन को और भी सस्ते में खरीदने का मौका, मिलेगी 6GB RAM और 20MP फ्रंट कैमरा) 

सीओएआई के महानिदेशक एस पी कोचर ने कहा कि वैश्विक स्तर पर स्वीकार्य मानक की तुलना में भारत में सिर्फ 10% विकिरण की अनुमति है. विकिरण और उसके प्रभाव को लेकर जो भी चिंता जताई जा रही है वह सही नहीं है. ये भ्रम फैलाने वाली आशंकाएं हैं. जब भी कोई नई प्रौद्योगिकी आती है, तो ऐसा ही होता है.’

दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को देश में 5जी वायरलेस नेटवर्क को स्थापित करने को चुनौती देने वाली अभिनेत्री जूही चावला की याचिका को खारिज करते हुए उनपर 20 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था.

(ये भी पढ़ें- खुशखबरी! BSNL के सस्ते प्लान में अब 1 नहीं हर दिन मिलेगा 2GB डेटा, 90 दिनों के लिए पाएं फ्री कॉलिंग भी)

कोचर ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इससे 5जी को लेकर जो अफवाहें चल रहीं हैं उसपर लगाम लगाने में मदद मिलेगी. उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों 5जी प्रौद्योगिकी को कोविड-19 संक्रमण से भी जोड़ा गया था. उद्योग संगठन ने पिछले महीने इस तरह की भ्रामक खबरों की कड़ी आलोचना की थी.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular