Saturday, December 4, 2021
Homeविश्वचमत्कार से कम नहीं! सबसे गहरी गुफा में गिरा, 54 घंटे तक...

चमत्कार से कम नहीं! सबसे गहरी गुफा में गिरा, 54 घंटे तक फंसा रहा; फिर भी जिंदा बच गया


नई दिल्ली: एडवेंचर (Adventure) के शौकीन जान को जोखिम को जोखिम में डालने से नहीं डरते. हैरतअंगेज कामों को अपना पेशा बना लेने वाले खतरों के खिलाड़ी भी अक्सर सुर्खियों में रहते हैं. यूरोप से लेकर अमेरिका तक ऐसे कई लोग हैं जिनका सिक्का पूरी दुनिया में चलता है. कुछ ऐसी ही कोशिश कर रहे एक शख्स को भयानक चोट लगने के बाद एक गुफा (Cave) से सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया गया.  

54 घंटे का रेस्क्यू ऑपरेशन

गुफा में फंसे शख्स को 54 घंटे बाद बचाया जा सका. इसके लिए व्यापाक अभियान चलाया गया. मामला बीते शनिवार का है जब पीड़ित शख्स ब्रेकन बीकन्स (Brecon Beacons) की पहाड़ियों के नीचे मौजूद गुफा से जुड़ी खोज के दौरान 50 फीट नीचे गिरा. कई हड्डियां टूटने के बाद क्लाइंबर की हालत बिगड़ गई थी. इस वाकये के दौरान पीड़ित शख्स करीब 900 फीट की गहराई की ओर खिसक गया. हादसे की खबर मिलने के बावजूद इमर्जेंसी सेवाओं से जुड़े लोगों और रेस्क्यू टीम को उस तक पहुंचने में काफी वक्त लगा.

घने अंधेरे में बिताए दो दिन

द सन में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक इस गुफा का नाम Ogof Ffynnon Ddu है. जिसकी गिनती यूरोप की गहरी गुफाओं के तौर पर होती है. इसमें गिरने के बाद जाबांज क्लाइंबर ने बुरी तरह घायल होने के बावजूद न तो हिम्मत हारी ना ही अपना हौसला खोया. उसने दो दिन घुप अंधेरे में बिताए. इस बीच करीब 250 लोगों का एक बचाव दल ने गुफाओं के बीच गुजरते हुए उस तक पहुंचने का रास्ता बनाया. उसे बचान के लिए कई टीमों ने अनवरत 12-12 घंटे की शिफ्ट में काम किया.

ये भी पढ़ें – थाईलैंड: दुनिया का सबसे मुश्किल रेस्क्यू ऑपरेशन सफल, सभी 13 लोगों को निकाला गया सुरक्षित

तालियां बजाकर हौसलाअफजाई

इंग्लैंड के दक्षिणी हिस्से में रहने वाला पीड़ित जब गुफा से बाहर एंबुलेंस में पहुंचा तो शाम 07.45 बजे लोगों ने तालियां बजाकर उसका स्वागत किया. ये उत्साहवर्धन उस रेस्क्यू टीम के लिए भी था जिनके भावनात्मक लगाव की वजह से पीड़ित को उस जगह से निकाला गया. जहां से बाहर निकलना लगभग असंभव था.

RESCUE

(Photo: South & Mid Wales Cave Rescue Team)

ये भी पढ़ें- ये चमत्कार से कम नहीं! 170 बार हुई कीमोथैरेपी, फिर भी बना पिता; शख्स के निकले आंसू

थाइलैंड के केव हादसे से तुलना

आपको बता दें कि बचाव दल के लोगों ने इस रेस्क्यू ऑपरेशन की तुलना थाइलैंड की गुफा में फंसी बच्चों की फुटबॉल टीम को बचाने के लिए चलाए गए ऑपरेशन से की. ऑपरेशन के पूरा होते ही पीड़ित को पेनकिलर देने के साथ उसका इलाज शुरू हुआ. फिलहाल उसकी हालत स्थिर बनी हुई है. अस्पताल में डॉक्टरों की उस पर नजर बनाए हुए है.  

ये भी पढ़ें- रोमांस के दौरान महिला को आया हार्ट अटैक, इस एक गलती की वजह से जा सकती थी जान

थाइलैंड में क्या हुआ था?

उत्तरी थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में करीब दो हफ्ते से ज्यादा समय तक फंसे 12 लड़कों और उनके सहायक फुटबॉल कोच को तीन साल पहले गहरी गुफा से सुरक्षित बाहर निकाला गया था. उस अभियान में विदेशी गोताखोरों ने मदद की थी.

आपको बता दें कि, यह सभी बच्चे एक मैच पूरा होने के बाद गुफा में घूमने गए थे. सभी बच्चे अंडर-16 फुटबॉल टीम के खिलाड़ी हैं, जिनकी उम्र 11 से 16 साल के बीच थी. 12 बच्चों के साथ इस गुफा में उनके कोच भी थे. वो गुफा करीब 10 किलोमीटर लंबी है बारिश के मौसम में ये गुफा जुलाई से नवंबर के बीच बंद कर दी जाती है. बताया जा रहा है कि जिस वक्त बच्चे और उनके कोच गुफा में गए थे, उस वक्त वहां पर बारिश होने लगी, जिसके कारण वह वहां पर फंस गए थे.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular