Thursday, December 2, 2021
Homeभारतछठ पूजा के लिए नोएडा में 12 जगह बनाए गए हैं घाट,...

छठ पूजा के लिए नोएडा में 12 जगह बनाए गए हैं घाट, पढ़िए पूरी लिस्ट


नोएडा. कहा जाता है कि छठ पूजा (Chhath Puja) आस्‍था और संयम का त्‍योहार है. छठ पूजा की शुरुआत नहाय-खाय (Nahay Khay) के साथ होती है. हिंदू पंचांग (Hindu Panchang) के मुताबिक छठ पूजा कार्तिक माह (Kartik Month) की षष्ठी से शुरू हो जाती है. यह पर्व चार दिनों तक चलता है. नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने भी इसे लेकर खासी तैयारियां की हैं. नोएडा में 12 जगह पर कृत्रिम घाट तैयार किए गए हैं. 8 नवंबर को नहाय-खाय का दिन था. आज के दिन यानी 9 नवंबर को खरना मनाया जाएगा. जबकि 10 नवंबर को सूर्य (Sun) को अर्घ्य दिया जाएगा और अंत में 11 नवंबर की सुबह सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही इस पावन पर्व छठ का समापन हो जाएगा.

नोएडा में छठ पूजा के लिए यहां बनाए गए हैं 12 घाट

नोएडा अथॉरिटी ने छठ पूजा को देखते हुए सेक्टर 25 स्पाइस मॉल के पास छठ घाट का तैयार करवाया है. काशीराम कॉलोनी, सेक्टर 45 में, सेक्टर 63ए में भी घाट बनकर तैयार हो गया है. सेक्टर 71 में पेट्रोल पंप के पीछे पार्क में घाट बनाया गया है.

छठ को देखते हुए शहर के हर ओर घाट का इंतजाम रहे इसके लिए सेक्टर 74, 77,116 और 117 क्रॉसिंग में बिहार और पूर्वांचल के लोगों के लिए घाट बनवाया गया है. सेक्टर 120 प्रतीक लोरियल ग्रुप हाउसिंग के पीछे ग्राउंड में भी हर बार की तरह से साफ सफाई कराकर घाट तैयार किया गया है. सेक्टर 110 और 129 में भी छठी मैय्या को पूजने वालों के लिए घाट का इंतजाम नोएडा अथॉरिटी ने कराया है.

ग्रेटर नोएडा में प्लॉट के लिए मांगे ऑनलाइन आवेदन, जानिए किस सेक्टर में हैं खाली

नहाय-खाय के साथ इन नियमों का करना होता है पालन

– नहाय-खाय के दिन से व्रती को साफ और नए कपड़े पहनने चाहिए.

– नहाय खाए से छठ का समापन होने तक व्रती को जमीन पर ही सोना चाहिए. व्रती जमीन पर चटाई या चादर बिछाकर सो सकते हैं.

– घर में तामसिक और मांसाहार वर्जित है. इसलिए इस दिन से पहले ही घर पर मौजूद ऐसी चीजों को बाहर कर देना चाहिए और घर को साफ-सुथरा कर देना चाहिए.

– मदिरा पान, धुम्रपान आदि न करें. किसी भी तरह की बुरी आदतों को करने से बचें.

– साफ-सफाई का विशेष ध्यान देना जरूरी होता है. पूजा की वस्तु का गंदा होना अच्छा नहीं माना जाता.

महिलाएं माथे पर सिंदूर जरूर लगाएं. सिंदूर नाक से लेकर पूरी मांग भरने की परंपरा है.

– किसी भी वस्तु को छूने से पहले हाथ जरूरत धोएं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular