Monday, June 27, 2022
Homeखेलटीम इंडिया के साउथ अफ्रीका दौरे में बड़ा बदलाव, BCCI ने किया...

टीम इंडिया के साउथ अफ्रीका दौरे में बड़ा बदलाव, BCCI ने किया तारीखों का ऐलान


नई दिल्ली: टीम इंडिया इसी महीने साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट और वनडे सीरीज में भिड़ने वाली है. कोरोना वायरस के नए वैरिएंट की वजह से इस सीरीज पर रद्द होने का खतरा मंडरा रहा था, लेकिन अब बीसीसीआई की एक बैठक में ये साफ हो गया है कि ये सीरीज किस तारीख से शुरू हो रही है. बता दें कि ये दौरा शेड्यूल से लेट शुरू होगा.  

बीसीसीआई ने किया तारीखों का ऐलान

बीसीसीआई ने शनिवार को पुष्टि की कि भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरा 26 दिसंबर से शुरू होगा. यहां 90वीं वार्षिक आम बैठक (एजीएम) में दक्षिण अफ्रीका का दौरा बीसीसीआई द्वारा लिए गए आठ फैसलों में से एक था. बीसीसीआई के बयान में कहा गया है, ‘भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरा 2021-22, संशोधित तिथियों और यात्रा कार्यक्रम के साथ आगे बढ़ेगा. टीम तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में भाग लेगी, जिसके बाद 26 दिसंबर, 2021 से शुरू होने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज होगी.’

ओमिक्रॉन से था खतरा

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) द्वारा कुछ घंटे पहले कहा गया था कि भारत का दौरा योजना के अनुसार आगे बढ़ेगा, जिससे कोविड-19 वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के कारण अनिश्चितता की स्थिति साफ हो जाएगी. चार टी20आई इस दौरे का हिस्सा नहीं होंगे और इसे अगले साल के लिए फिर से तय किया जाएगा. सीएसए ने यह भी कहा कि दौरे के लिए स्थानों की घोषणा अगले 48 घंटों में की जाएगी.

एजीएम में बीसीसीआई द्वारा लिए गए अन्य प्रमुख निर्णयों में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) गवर्निग काउंसिल में प्रतिनिधि के रूप में बृजेश पटेल और एम खैरुल जमाल मजूमदार को फिर से शामिल किया गया, जबकि भारत के पूर्व स्पिनर प्रज्ञान ओझा को भारतीय क्रिकेटरों के प्रतिनिधि के रूप में शामिल किया गया. आईपीएल गवर्निग काउंसिल में एसोसिएशन (आईसीए) ने टूर्स, फिक्स्चर्स एंड टेक्निकल कमेटी, अंपायर कमेटी और डिफरेंटली एबल्ड क्रिकेट कमेटी बनाने के फैसले की भी घोषणा की.

बीसीसीआई ने लिया फैसला

बीसीसीआई ने मैच अधिकारियों और सहयोगी स्टाफ की आयु सीमा भी 60 वर्ष से बढ़ाकर 65 वर्ष कर दी है, जो उनके फिटनेस पर निर्भर करेगा. बीसीसीआई ने पूर्वोत्तर राज्यों, पुडुचेरी, बिहार और उत्तराखंड के बुनियादी ढांचे के विकास को शुरू करने का भी निर्णय लिया है. सामान्य निकाय ने ‘वित्तवर्ष 2021-22 के वार्षिक बजट के अलावा वित्तवर्ष 2019-20 और 2020-21 के लेखापरीक्षित खातों’ को भी अपनाया.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular