Monday, May 10, 2021
Home विश्व ताइवान पर हमले के खिलाफ US ने चीन को दी चेतावनी, अब...

ताइवान पर हमले के खिलाफ US ने चीन को दी चेतावनी, अब जिनपिंग को बचकर रहना होगा


लास वेगास: अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) रॉबर्ट ओब्रायन (Robert O’Brien) ने बुधवार को चीन को बलपूर्वक ताइवान (Taiwan) पर फिर से कब्जा करने के किसी भी प्रयास को लेकर चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि चीन बड़े पैमाने पर नौसैनिक निर्णाम में लगा हुआ है, हालांकि उन्होंने इस पर अमेरिका कैसे प्रतिक्रिया देगा, इस बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं कहा.

रॉबर्ट ओब्रायन ने लास वेगास में नेवादा विश्वविद्यालय में एक घटना के बारे में बताया कि चीन बड़े पैमाने पर नौसैनिक निर्माण (Naval Buildup) में लगा हुआ है. उन्होंने कहा कि ऐसा संभवतः प्रथम विश्व युद्ध से पहले ब्रिटेन की शाही नौसेना के साथ प्रतिस्पर्धा करने के जर्मनी के प्रयास के बाद से कभी नहीं देखा गया.

ओब्रायन का चीन-ताइवान के बीच द्वीपो की ओर इशारा

ओब्रायन ने चीन और ताइवान (China and Taiwan) के बीच 160 किमी (100 मील) की दूरी और द्वीप पर कुछ लैंडिंग तटों की ओर इशारा करते हुए कहा, “इसके साथ समस्या यह है कि जलस्थलचर लैंडिंग (Amphibious Landings) बेहद कठिन हैं.”

ओब्रायन ने अमेरिकी नीति का किया उल्लेख

उन्होंने कहा, “यह एक आसान काम नहीं है और ताइवान पर चीन द्वारा किए गए हमले के जवाब में अमेरिका क्या करेगा, इस बारे में बहुत अभी अस्पष्टता है.” उन्होंने कहा जब चीन, ताइवान पर कब्जा करने का प्रयास करेगा तब यह देखना होगा कि अमेरिकी विकल्प क्या होंगे?

अमेरिका ने मदद को लेकर स्थिति नहीं की साफ

ओ’ब्रायन रणनीतिक अस्पष्टता की लंबे समय से चली आ रही अमेरिकी नीति का जिक्र कर रहे थे कि क्या वह ताइवान की रक्षा के लिए वह हस्तक्षेप करेंगे, जिसे चीन अपना प्रांत मानता है और जरूरत पड़ने पर नियंत्रण करने की बात करता है. अमेरिकी कानून है कि वह ताइवान को अपना बचाव करने के लिए साधन मुहैया कराए लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि क्या वह चीनी हमले की स्थिति में सैन्य रूप से हस्तक्षेप करेगा.

दशक के निचले स्तर पर है अमेरिका-चीन संबंध

अमेरिकी एनएसए रॉबर्ट ओ’ब्रायन का बयान ऐसे समय में आया हैं, जब चीन ने ताइवान के पास सैन्य गतिविधि को काफी हद तक बढ़ा दिया है और जब 3 नवंबर को अमेरिका में होने वाले चुनाव में दखल देने को लेकर अमेरिका और चीन का संबंध दशक के सबसे निचले स्तर पर है.

ओब्रायन ने ताइवान को दिया सुझाव

ओब्रायन ने इस स्थिति से निपटने के लिए ताइवान को अपनी रक्षा पर अधिक खर्च करने और चीन द्वारा आक्रमण के प्रयास के जोखिमों को स्पष्ट करने के लिए सैन्य सुधार करने के सुझाव दिया. उन्होंने कहा, “आप अपने रक्षा पर जीडीपी का केवल 1 प्रतिशत खर्च नहीं कर सकते, जैसा ताइवान 1.2 प्रतिशत कर रहा है और 70 वर्षों में सबसे बड़े सैन्य निर्माण में लगे चीन को रोकने की उम्मीद है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular