Saturday, September 18, 2021
Home भारत त्रिपुरा: कोरोना ने बढ़ाई चिंता, जांच के लिए गए आधे से ज्यादा...

त्रिपुरा: कोरोना ने बढ़ाई चिंता, जांच के लिए गए आधे से ज्यादा नमूनों में मिला डेल्टा प्लस वेरिएंट


अगरतला. उत्तर-पूर्वी राज्य त्रिपुरा (Tripura) में बड़ी संख्या में डेल्टा प्लस वेरिएंट के मामले मिले हैं. शुक्रवार को इस बात की जानकारी राज्य के एक्सपर्ट्स ने दी है. खबर है कि जीनोम सीक्वेंसिंग (Genome Sequencing) के लिए पश्चिम बंगाल (West Bengal) भेजे गए आधे से ज्यादा सैंपल्स में डेल्टा प्लस की पुष्टि हुई है. इस दौरान कुल 151 नमूने जांच के लिए भेजे गए थे, जिनमें 90 से ज्यादा नमूनों में कोरोना वायरस का यह स्ट्रेन मिला है.

त्रिपुरा में कोविड-19 नोडल अधिकारी डॉक्टर दीप देववर्मा ने बताया, ‘त्रिपुरा ने जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए 151 RT-PCR सैंपल पश्चिम बंगाल भेजे थे. इनमें, 90 से ज्यादा सैंपल में डेल्टा प्लस वेरिएंट मिला है.’ उन्होंने कहा, ‘यह चिंता की बात है.’ डेल्टा वेरिएंट के चलते ही देश को दूसरी लहर का सामना करना पड़ा था. अब एक्सपर्ट्स तीसरी लहर को लेकर चिंता जाहिर कर रहे हैं.

बीते बुधवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि देश के 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 174 जिलों में ‘वेरिएंट्स ऑफ कंसर्न’ के मामले मिले हैं. इनमें मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और गुजरात में मिली थी. कहा जा रहा है कि कोविड-19 का डेल्टा प्लस वेरिएंट देश में महामारी की तीसरी लहर का कारण बन सकता है.

यह भी पढ़ें: डबल म्यूटेंट डेल्टा वेरिएंट से कई गुना ज्यादा घातक हो सकता है लैम्ब्डा, ये 5 बातें बढ़ाती हैं चिंता

गुरुवार को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और देवरिया में डेल्टा प्लस वेरिएंट के एक-एक मरीज मिले. इसके अगले दिन राज्य ने जानकारी दी कि कोविड-19 का डेल्टा प्लस वेरिएंट फिर से 107 सैंपल्स में मिला है. सरकारी बयान के अनुसार, इस बीच, राज्य में कप्पा के दो मामलों की पहचान हुई है. फिलहाल, दुनियाभर के एक्स्पर्ट्स लैम्ब्डा वेरिएंट्स को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं. कहा जा है कि ये अन्य वेरिएंट्स की तुलना में यह स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक हो सकता है.

राज्य में कोरोना के हाल
covid19india.org के आंकड़ों के अनुसार, त्रिपुरा में अब तक कोरोना वायरस के 69 हजार 547 मामले मिल चुके हैं. इनमें से 64 हजार से ज्यादा मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. जबकि, 706 की मौत हो गई है. फिलहाल, राज्य में 4 हजार 175 मरीजों का इलाज जारी है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular