Tuesday, January 18, 2022
Homeविश्वदुनिया का सबसे लंबा लॉकडाउन यहां पर, अब तक नहीं मिली है...

दुनिया का सबसे लंबा लॉकडाउन यहां पर, अब तक नहीं मिली है राहत; सबकुछ है बंद


नई दिल्ली. वैश्विक महामारी कोरोना (Global pendemic Coronavirus) ने जनजीवन को बुरी तरह से प्रभावित किया. इससे बचने के लिए दुनिया के लगभग सभी देशों ने नागरिकों की सुरक्षा को देखते हुए लॉकडाउन (Lockdown) जैसे तमाम प्रतिबंध लगाए. हालांकि वैक्सीनेशन (Vaccination) शुरू होने के बाद से लगभग सभी देशों में कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की गई. इसके मद्देनजर सभी देश धीरे-धीरे अपने यहां के नागरिकों को प्रतिबंधों से मुक्त जीवन देने की कोशिश कर कर रहे हैं. इसी कड़ी में एक देश ऑस्ट्रेलिया (Australia) भी है, जिसके नागरिकों ने दुनिया के सबसे लंबे लॉकडाउन का सामना किया. फिलहाल हालिया हालात को देखते हुए यहां की सरकार लोगों को बड़ी सहूलियत देने की तैयारी में है.

जल्द ही हट जाएंगी कोरोना की पाबंदियां

मेलबर्न के अधिकारियों ने रविवार को बताया कि इस सप्ताह के अंत तक घर पर रहने जैसी सभी पाबंदियां हटा दी जाएंगी. मार्च 2020 तक पांच मिलियन ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को लगभग नौ महीने यानी 262 दिनों तक छह बार लॉकडाउन के तहत घरों में कैद रहना पड़ा. ऑस्ट्रेलियाई और अन्य मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में ल्रगे 234 के दिनों के लॉकडाउन के बाद ऑस्ट्रेलिया का लॉकडाउन दुनिया का सबसे लंबा लॉकडाउन था. चूंकि ऑस्ट्रेलिया में कोरोना का खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है ऐसे में स्थितियों को सामान्य और बेहतर बनाने के लिए यह उम्मीद की जा रही है कि इस हफ्ते कोरोना वैक्सीनेशन 70 फीसद तक बढ़ सकता है.

ये भी पढ़ें: मातम में बदली खुशियां: हनीमून पर गई महिला का हुआ ये हाल, फर्स्ट वर्ल्ड वॉर से जुड़ी है वजह

कुछ इलाकों में नहीं है एक भी कोविड केस

ऑस्ट्रेलिया में कोरोना के ताजा आंकड़ों की बात की जाए तो यहां रविवार को 1838 नए कोविड के मामले सामने आए हैं, इसके अलावा सात की मौत भी हो चुकी है. ऑस्ट्रेलिया के 80 प्रतिशत नागरिकों का कोरोना वैक्सीनेशन पूरा होते ही लॉकडाउन की संभावनाओं पर ब्रेक लग सकता है. ऑस्ट्रेलियाई हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि न्यूजीलैंड के साउथ द्वीप में कोरोना संक्रमण का एक भी केस नहीं है, इसलिए वहां से क्वारंटाइन फ्री यात्रा बुधवार को जारी रहेगी. 

सिंगापुर-ऑस्ट्रेलिया के बीच शुरू होगी यात्रा

वहीं ऑस्ट्रेलियाई सरकार भी लगातार सिंगापुर सरकार से दोनों देशों के बीच की यात्रा जारी रखने के विषय में बातचीत कर रही है. हालांकि ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर के बीच की यात्रा केवल उन्हीं यात्रियों के लिए संभव हो सकेगी जो नागरिक कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हैं. हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में कोरोना के मामलों में वृद्धि देखने को मिली है, लेकिन कुछ विकसित देशों की तुलना में ऑस्ट्रेलिया में कोरोना संक्रमण के मामले कम हैं.

ये भी पढ़ें: ये है ब्रिटेन का सबसे अनलकी कपल, 31 करोड़ जीतकर भी हारा; अब रिश्ता भी हुआ खत्म

न्यूजीलैंड में भी घट रहे हैं कोविड केस 

वहीं पड़ोसी देश न्यूजीलैंड कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाकर कोविड-19 से सामना करने की तैयारी कर रहा है. यहां पर कोरोना के ताजा आंकड़ों की बात की जाए तो रविवार को न्यूज़ीलैंड में 51 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं, जिनमें से सर्वाधिक 47 केस देश के सबसे बड़े इलाके ऑकलैंड से हैं. बता दें कि न्यूजीलैंड में बीते अगस्त महीने से लॉकडाउन जारी है. वहीं, न्यूज़ीलैंड सरकार के द्वारा चलाए जा रहे वैक्सीनेशन अभियान में शनिवार को यहां के 2.5 फीसद से ज्यादा नागरिकों ने कोरोना वैक्सीन लगवाई.

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular