Saturday, May 8, 2021
Home भारत देश के कोने-कोने तक वैक्सीन पहुंचाने हवाई प्लान तैयार, सरकार ने 41...

देश के कोने-कोने तक वैक्सीन पहुंचाने हवाई प्लान तैयार, सरकार ने 41 एयरपोर्ट चुने


कल पूरे देश में होगा कोरोना वायरस वैक्सीन का ड्राई रन (सांकेतिक तस्वीर)

Vaccine Update: सूत्रों ने जानकारी दी कि ट्रांसपोर्टेशन आज या कल से शुरू हो जाएगा. सूत्रों ने संकेत दिए हैं कि वैक्सीन की आवाजाही का केंद्र पुणे होगा. वहीं, पैसेंजर हवाई जहाजों का इस्तेमाल भी वैक्सीन की आवाजाही में किया जाएगा. 

नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) की वैक्सीन (Corona Vaccine) को मंजूरी की प्रक्रिया के बाद सरकार ने ट्रांसपोर्टेशन की तैयारियां भी पूरी कर ली हैं. सरकार ने हवाई मार्गों से वैक्सीन की आवाजाही को लेकर पूरा प्लान तैयार कर लिया है. खास बात है कि देश के कई एयरपोर्ट्स पर यह प्रक्रिया आज या कल से शुरू हो सकती है. कोविड वैक्सीन के ट्रांसपोर्ट मॉड्यूल (Vaccine Transport Module) को भारत सरकार ने तैयार किया है.

सरकारी सूत्रों ने बताया ‘पूरे देश में वैक्सीन ट्रांसपोर्ट के लिए एक कॉमन ड्राफ्ट तैयार कर लिया गया है. इस ड्राफ्ट को जल्द ही स्टॉकहोल्डर्स के साथ शेयर किया जाएगा.’ सूत्रों ने जानकारी दी कि ट्रांसपोर्टेशन आज या कल से शुरू हो जाएगा. सूत्रों ने संकेत दिए हैं कि वैक्सीन की आवाजाही का केंद्र पुणे होगा. वहीं, पैसेंजर हवाई जहाजों का इस्तेमाल भी वैक्सीन की आवाजाही में किया जाएगा.

सूत्रों ने बताया ‘पुणे एयरपोर्ट भारतीय वायुसेना के अंतर्गत होने के चलते वे भी उसका हिस्सा हैं.’ इसके अलावा सरकार ने देश भर में कई मिनी हब भी तैयार किए हैं. उन्होंने जानकारी दी ‘पूरे देश में कुल 41 एयरपोर्ट्स है, जिन्हें वैक्सीन की डिलीवरी के लिए तय किया गया है.’ वहीं, कई स्टेकहोल्डर्स, मंत्रालय और कार्गो और एयरपोर्ट संचालकों के बीच आंतरिक बैठकें हो चुकी हैं.

उत्तर भारत के लिए भारत सरकार ने अपने मॉड्यूल में दिल्ली और करनाल को चुना है. ये दोनों एयरपोर्ट्स वैक्सीन ट्रांसपोर्टेशन के दौरान मिनी हब का काम करेंगे. वहीं, पूर्वी क्षेत्र के लिए कोलकाता और गुवाहाटी को मिनी हब बनाया गया है. गुवाहाटी उत्तरपूर्वी क्षेत्रों के लिए नोडल पॉइंट का काम भी करेगा. इसके अलावा दक्षिण भारत के लिए चेन्नई और हैदराबाद को चुना गया है.

बीते रविवार को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में तैयार हो रही कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को अनुमति दे दी है. इन दोनों वैक्सीन को पाबंदियों के साथ आपातकालीन स्थिति में इस्तेमाल करने की इजाजत मिली है. हालांकि, बगैर क्लीनिक ट्रायल का चरण पूरा हुए अनुमति मिलने के कारण वैक्सीन पर काफी सवाल उठ रहे हैं.


<!–

–>

<!–

–>


! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular