Sunday, December 5, 2021
Homeनितिन गडकरी का बयान,
Array

नितिन गडकरी का बयान,


केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में कहा है कि आने वाले 2 साल में इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत पेट्रोल वाहनों के बराबर हो जाएगी।

नई दिल्ली। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में एक बयान देते हुए यह भरोसा जताया है कि आने वाले 2 साल में इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत पेट्रोल वाहनों के बराबर हो जाएगी। गडकरी ने बताया कि सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों की सेल्स को बढ़ाने के लिए पूरी कोशिश रही है। साथ ही सरकार फेम स्कीम के तहत इलेक्ट्रिक वाहनों पर सब्सिडी भी दे रही है। साथ ही सरकार इन वाहनों पर पीएलआई देने के साथ ही के फ्यूल स्टेशन और मुख्य राजमार्गों पर इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिंग पॉइंट भी लगवा रही है। गडकरी ने यह बात डेनमार्क के ‘द सस्टेनेबिलिटी फाउंडेशन’की ओर से आयोजित एक वेबिनार में कही।

इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत के ज़्यादा होने का कारण

गडकरी ने इस वेबिनार में आगे कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत ज़्यादा होने का कारण वर्तमान समय में इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले लिथियम की ज्यादा कीमत है।

screenshot_2021-11-09_electric_vehicle.png

लिथियम और इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत कम करने के उपाय

गडकरी ने आगे बताया कि इलेक्ट्रिक वाहनों पर सरकार की तरफ से सिर्फ 5% GST है, जबकि पेट्रोल वाहनों पर 48% GST है। ऐसे में इलेक्ट्रिक वाहनों पर सरकार की तरफ से कम GST लगाना और भविष्य में लिथियम के ज्यादा उत्पादन से इसकी कीमत कम होगी। गडकरी ने यह भी बताया कि सरकार ने 2030 तक 30% प्राइवेट कार, 70% तक कॉमर्शियल कार और 40% बसों को और 80 % दोपहिया और तिपहिया वाहनों को इलेक्ट्रिक बनाने का टारगेट निर्धारित किया है । ऐसे में लिथियम बैट्री का 81% प्रोडक्शन लोकल स्तर पर हो रहा है। साथ ही सस्ती बैट्री पर भी रिसर्च हो रही है। इससे लिथियम और इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत भी कम होगी।

lithium_battery.jpg

इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए लगाए जा रहे हैं ज़्यादा से ज़्यादा चार्जिंग पॉइंट

गडकरी ने बताया कि सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए ज़्यादा से ज़्यादा चार्जिंग पॉइंट बनाने का काम कर रही है। सरकार द्वारा अगले 2 साल में देश में हजारों चार्जिंग पॉइंट स्थापित कर दिए जाएंगे। सरकार देश में 350 चार्जिंग पॉइंट लगाने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर चुकी है। इसके साथ ही पेट्रोल पंपों को भी इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जिंग पॉइंट लगाने की अनुमति मिल चुकी है। ऐसे में अगले 2 साल में देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या भी तेज़ी से बढ़ेगी।











Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular