Tuesday, January 18, 2022
Homeराजनीतिन्यू ईयर पर VTR में बैन नहीं, जश्न की तैयारी: कोरोना गाइडलाइन...

न्यू ईयर पर VTR में बैन नहीं, जश्न की तैयारी: कोरोना गाइडलाइन का करना होगा पालन; मास्क से लेकर सोशल डिस्टेंसिंग भी जरूरी


बगहा44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते केस को देखते हुए राज्य सरकार ने 31 दिसंबर से दो जनवरी तक राज्य के सभी पार्क और उद्यान को पूर्णतः बंद रखने का निर्णय लिया है । लेकिन VTR प्रशासन गाइडलाइन का पालन करते हुए वाल्मीकि नगर में आने वाले पर्यटकों को वाल्मीकि टाइगर रिजर्व का भ्रमण कर आएगी। वन संरक्षक हेमकांत राय ने बताया कि नव वर्ष के अवसर पर वाल्मीकि नगर में जितने भी होटल या रहने की जगह है। उसकी ऑनलाइन बुकिंग हो गयी है।

VTR में नहीं होगी असुविधा
2 माह पहले ही लोग वाल्मीकिनगर घूमने का प्लान कर लिए थे। जिसे देखते हुए नव वर्ष के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। आने वाले पर्यटकों को वाल्मीकि नगर घूमने में कोई असुविधा नहीं होगी। सिर्फ पर्यटकों के लिए इको पार्क बंद रहेगा। वहीं पर्यटक जंगल सफारी का भी आनंद लेंगे। इसके लिए करोना गाइडलाइन का पालन करना होगा। आने वाले सैलानियों को मास्क का उपयोग करना होगा।

VTR में कोरोना गाइडलाइन का पालन करना सैलानियों के लिए जरूरी।

VTR में कोरोना गाइडलाइन का पालन करना सैलानियों के लिए जरूरी।

6 की जगह जीप पर 4 लोग ही होंगे
वहीं, जंगल सफारी के दौरान जहां पहले 6 लोग जंगल सफारी करने जाते थे। अब उसके जगह पर 4 लोग ही जंगल सफारी का आनंद लेंगे। सभी सफारी करने वाले गाड़ियों पर सैनिटाइजर का उपयोग किया जाएगा। इसके साथ ही सभी रेस्टोरेंट और अतिथि गृह में भी करोना का गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। सैलानियों को निराश होने की या बुकिंग कैंसिल कराने की जरूरत नहीं है बल्कि पर्यटन और वन विभाग की तरफ से पर्यटकों को हर सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।

जंगल के अंदर पिकनिक मनाने की रहेगी मनाही
वन संरक्षक ने बताया कि जंगल के अंदर पिकनिक मनाने को लेकर पूरी तरह से मनाही रहेगी। हालांकि घूमने के लिए कोई मनाही नहीं है लेकिन झुंड बना कर पर्यटक जंगल के अंदर नहीं घूमेंगे। इसे लेकर तैयारी की जा रही है। जंगल के अंदर आग जलाकर कोई खाना नहीं बना सके इसे लेकर जगहों को चिन्हित करके वहां गार्ड की व्यवस्था कर दी गई है।

नव वर्ष के अवसर पर मंदिरों में करेंगे लोग दर्शन
VTR में आने वाले पर्यटक सबसे पहले सीता की समाधि यानी वाल्मीकि आश्रम तक पहुंचते हैं। इसके बाद कौलेश्वर, जटाशंकर और नर देवी का दर्शन करते हैं। इसके बाद ही पर्यटक खाने पीने के व्यवस्था में लगते हैं। पर्यटकों के लिए सभी स्थान खुले रखे जाएंगे। इससे जो भी पर्यटक अपना बुकिंग पहले से करा कर रखे हैं। उन्हें वाल्मीकि टाइगर रिजर्व घूमने का पूरा आनंद मिल सके।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular