Thursday, July 29, 2021
Home राजनीति पंचायत चुनाव बैलेट से होने के आसार: ECIL ने नए मॉडल की...

पंचायत चुनाव बैलेट से होने के आसार: ECIL ने नए मॉडल की EVM देने से किया इंकार, मुखिया का EVM से और बाकी पदों का बैलेट से कराने का बचा विकल्प


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Panchayat Election Updates, ECIL Refuses To Give EVM Of New Model, Now Ballet Option

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटनाएक घंटा पहलेलेखक: शालिनी सिंह

  • कॉपी लिंक

बिहार पंचायत चुनाव अब M3 जेनेरेशन की EVM से नहीं होगा। EVM का निर्माण करनेवाली कंपनी इलेक्ट्रॉनिक कॉपरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ECIL) ने NOC मिलने में हो रही लगातार देरी के बाद अब बचे समय में पंचायत चुनाव के लिए M3 जेनेरेशन की EVM को लेकर हाथ खड़े कर दिए हैं। हालांकि राज्य निर्वाचन आयोग अब भी EVM से चुनाव कराने के अपने फैसले पर कायम है।

ECILके इंकार के बाद मामला सुलझने की ओर

पंचायत चुनाव में की EVM का विवाद हाईकोर्ट तक पहुंच चुका है। कोर्ट ने इस मामले को आपसी बातचीत के जरिए सुलझाने के निर्देश दिये हैं। इसी निर्देश के तहत बुधवार को पहली बार राज्य निर्वाचन आयोग और भारत निर्वाचन आयोग के बीच आमने-सामने की वार्ता हुई। इस बातचीत में EICLके प्रतिनिधि भी शामिल हुए थे। इस बातचीत के दौरान ही EICLने बाकी बचे समय में नए डिजाइन की M3 जेनेरेशन की की EVM को अभी के हालात में दे पाने में असमर्थता जता दी। इस तरह से EICLके पीछे हटने के साथ ही राज्य निर्वाचन आयोग और भारत निर्वाचन आयोग के बीच का विवाद खुद-ब-खुद सुलझने की ओर बढ़ चला है। हालांकि दोनों आयोगों के बीच इस मसले पर फिलहाल और बातचीत होनी है।

M3 जेनेरेशन की EVM में एक साथ कराए जा सकते हैं 8 पदों के चुनाव

M3 जेनेरेशन की EVM की खासियत यह है कि इनमें एक कंट्रोल यूनिट (CU) के साथ 8 बैलेट यूनिट (BU) का प्रयोग किया जा सकता है।.यानी एक साथ 8 वोट तक दिए जा सकते हैं। पंचायत आम चुनाव में एक साथ 6 पदों के लिए ही मतदान कराया जाता है। यही वजह है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने इस खास EVM की मांग EICL से की थी, लेकिन इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग ने NOC नही दी, जिसकी वजह से यह मामला हाईकोर्ट तक पहुंच गया।

अब क्या है राज्य निर्वाचन आयोग के पास विकल्प

अब जब यह तय हो गया है कि बिहार में M3 जेनेरेशन की EVM से चुनाव नहीं होंगे, ऐसे में राज्य निर्वाचन आयोग के पास दो विकल्प दिखाई दे रहे हैं। पहले विकल्प में आयोग बैलेट से चुनाव कराने की ओर जा सकता है, जिसकी संभावना अभी नहीं दिख रही। राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेन्द्र राम का यह कहना है कि आयोग अब भी EVM से चुनाव कराने के फैसले पर कायम हैं। ऐसे में दूसरा विकल्प यह है कि आयोग मुखिया के पद का चुनाव EVM से करा ले और बाकी पदों का चुनाव बैलेट के जरिए कराए।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular