Saturday, May 28, 2022
Homeभारतपांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में मिली हार की हताशा का नतीजा...

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में मिली हार की हताशा का नतीजा हैं सांप्रदायिक हिंसक घटनाएं : जेपी नड्डा


नई दिल्ली: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने रविवार को कर्नाटक में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा रामनवमी और हनुमान जयंती पर निकाली गई यात्राओं के दौरान हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसक घटनाएं (communal Violence) समाज को विघटित करने के लिए एक साजिश के तौर पर हुई हैं. नड्डा ने कांग्रेस पर सबसे गैर जिम्मेदार तरीके से काम का भी आरोप लगाया.

कर्नाटक के होसपोट में राज्य कार्यकारी समिति के बैठक के दौरान राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सांप्रदायिक हिंसा को पांच राज्यों में हुए चुनाव के परिणामों से जोड़ा है. बता दें कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने चार राज्यों में जीत के वापसी की थी और अब जेपी नड्डा ने कहा कि चुनाव में हार की हताशा का कारण है ये सांप्रदायिक हिंसा.

जेपी नड्डा ने कहा कि ‘उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में भाजपा को मिले ऐतिहासिक जनादेश ने कुछ लोगों को झकझोर कर रख दिया है. इसलिए हताशा में उन्होंने खुद को समाज को तोड़ने का काम करने वालों की साजिशों से जोड़ लिया है.

कर्नाटक में सत्तारूढ़ भाजपा के मुख्य विपक्ष कांग्रेस पर हमला बोलते हुए नड्डा ने कहा कि पिछली सिद्धारमैया सरकार ने मुस्लिम संगठन पीएफआई के उन सदस्यों को मुक्त कर दिया था, जिस पर भाजपा के कई नेताओं ने उग्रवाद और हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है.

नड्डा ने कहा, “हमारी सरकार दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी.” उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस जब सत्ता में थी तो आतंकवादियों को छोड़ देती थी. उन्होंने कहा कि यह पार्टी आंतरिक रूप से विघटित ताकतों से दोस्ती करती है, लेकिन बाहर दूसरी तरह से दिखावा करता है. भाजपा नेता ने कहा, “उन्हें बेनकाब करना जरूरी है.”

‘सिर्फ भाजपा ही देश को विकास के रास्ते पर ले जा सकती है’
उन्होंने कहा कि केवल भाजपा ही एकमात्र विकल्प है जो देश को विकास के रास्ते पर ले जा सकती है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस या क्षेत्रीय दल में कोई नेता यह नहीं बता सकता कि वे लोगों के लिए क्या करने जा रहे हैं. भाजपा नेता ने दावा किया, “अन्य दलों के लोग क्षेत्रवाद, भाषा और जाति तथा लोगों को बांटने के बारे में बात कर रहे हैं, लेकिन उनके पास गरीब लोगों के आंसू पोंछने तक के लिए शब्द नहीं हैं.”

‘कांग्रेस महज भाई-बहन की पार्टी है’
नड्डा ने कहा कि केवल भाजपा ही विचारधारा पर आधारित राष्ट्रीय दल है, जबकि अन्य वंशवादी दल हैं. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा, “वह न तो भारतीय है न ही राष्ट्रीय है. वह दो राज्यों तक सीमित एक क्षेत्रीय पार्टी रह गयी है. वह अब कांग्रेस नहीं रही. वहां जो भी नेतृत्व के खिलाफ बोलता है, वह पार्टी विरोधी बन जाता है. यह महज भाई-बहन की पार्टी है.”

नड्डा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गयी विभिन्न योजनाओं का भी जिक्र किया, जिसने लोगों की जिंदगियों को बदला है. इनमें स्वच्छ भारत अभियान, उज्ज्वला योजना, ‘एक देश एक राशन कार्ड’ और प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना शामिल है.

Tags: Jp nadda, Karnataka, Violence



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular