Sunday, May 9, 2021
Home भारत पुलवामा हमले पर पाक के कबूलनामे से अफवाह फैलाने वाले बेनकाब हो...

पुलवामा हमले पर पाक के कबूलनामे से अफवाह फैलाने वाले बेनकाब हो गए : मोदी


पुलवामा हमले पर पाक के कबूलनामे से अफवाह फैलाने वाले बेनकाब हो गए : मोदी

Bihar Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव में पीएम मोदी ने छपरा में की रैली की (फाइल फोटो)

छपरा:

Bihar Election 2020 : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narenda Modi) ने रविवार को बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान एक बार फिर पुलवामा हमले (Pulwama Attack) को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले पर पाकिस्तान (Pakistan)  के कबूलनामे के बाद अफवाह फैलाने वाले चेहरे बेनकाब हो गए हैं. 

यह भी पढ़ें

छपरा की चुनाव रैली में पीएम मोदी ने कहा कि जब देश के जवान शहीद हुए थे तो उस वक्त सत्ता एवं स्वार्थ की राजनीति करने वालों ने खूब भ्रम फैलाने की कोशिश की और ऐसे लोग आज वोट मांग रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘दो-तीन दिन पहले पड़ोसी देश पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की सच्चाई को स्वीकारा है. इस सच्चाई ने उन लोगों के चेहरे से नकाब हटा दिया, जो हमले के बाद अफवाएं फैला रहे थे. ये लोग देश के दुख में दुखी नहीं थे, ये बिहार के नौजवानों के गुजर जाने पर दुखी नहीं थे.’

उन्होंने कहा कि देश के वीर जवानों, वीर बेटे-बेटियों के शौर्य और शूरता पर बिहार को और पूरे देश को जरा भी संदेह नहीं रहा, लेकिन सत्ता और स्वार्थ की राजनीति करने वालों ने भ्रम फैलाने का प्रयास किया. यही लोग आज मतदाताओं से वोट देने की अपील कर रहे हैं.गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान की इमरान खान सरकार के मंत्री फवाद चौधरी के वहां की संसद में पुलवामा हमले को लेकर दिए गए बयान का जिक्र कर रहे थे। फवाद ने पाकिस्तानी संसद में कहा था कि पुलवामा हमला उनकी सरकार के कार्यकाल की बड़ी उपलब्धि है.

देश में हो रहा चौतरफा विकास

उन्होंने कहा कि देश में चौतरफा हो रहे विकास के बीच जनता को उन ताकतों से भी सावधान रहना है, जो राजनीतिक फायदे के लिए देशहित के खिलाफ जाने से भी बाज नहीं आतीं. प्रधानमंत्री ने केंद्र और बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार के विकास और कल्याणकारी योजनाओं का भी जिक्र किया. मोदी ने कहा कि एक तरफ एससी-एसटी का आरक्षण 10 साल तक के लिए बढ़ाया गया है. वहीं सामान्य वर्ग के गरीब बच्चों को भी 10 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है. उन्होंने बिहार की जनता से अपील की कि राज्य विकास के पथ पर आगे बढ़ता रहे, इसके लिए नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजग को जनादेश दें.

एक प्रवेश परीक्षा से युवाओं की तकलीफ दूर की

मोदी ने कहा कि यह सच है कि बिहार के हज़ारों युवाओं का अलग-अलग प्रतियोगिताओं की कोचिंग और तैयारी में ऊर्जा, समय और पैसा लगता था, लेकिन अब तमाम पदों के लिए एक प्रवेश परीक्षा कर दी गई है. अब रेलवे, बैंकिंग और ऐसी अनेक सरकारी भर्तियों के लिए एक ही प्रवेश परीक्षा की व्यवस्था की जा रही है.

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular