Tuesday, May 18, 2021
Home पेट्रोल से सस्ती सीएनजी ने बढ़ाई कारों की बिक्री, कार सेल्स में...
Array

पेट्रोल से सस्ती सीएनजी ने बढ़ाई कारों की बिक्री, कार सेल्स में 7 फीसद की वृद्धि


महंगे होते पेट्रोल ने सीएनजी गाड़ियों की मांग बढ़ाने का काम किया है। इस मौके का फायदा उठाकर वाहन कंपनियां भी फैक्ट्री फिटेड सीएनजी गाड़ियों पर जोर दे रही हैं। सीएनजी गाड़ियों की बिक्री बढ़ने का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले साल गाड़ियों की सेल्स में 18 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी, जबकि सीएनजी कार सेल्स में सात प्रतिशत की वृद्धि देखी गई जो वित्त वर्ष 2020 में बढ़कर 117,000 इकाई पहुंच गई। 

यह भी पढ़ें: दौड़ पड़ी अर्थव्यवस्था की गाड़ी, मोदी सरकार और आम आदमी को खुश करने वाले आंकड़ों ने दिए शुभ संकेत

पिछले 5-7 सालों में सड़कों पर सीएनजी गाड़ियों की तादाद 22 लाख से बढ़कर 34 लाख तक पहुंच चुकी है। सीएनजी की डिमांड इसलिए भी बढ़ रही है क्योंकि कार मेंटेनेंस में खर्चा कम आता है तो वहीं पेट्रोल के मुकाबले सीएनजी बेहद सस्ता विकल्प है। सीएनजी कारों की बिक्री की बात करें तो मारुति ने 13.5 प्रतिशत का इजाफा देखा है जो वहीं हुंडई ने 7 प्रतिशत। 

पेट्रोल बनाम सीएनजी

वित्त वर्ष सीएनजी की कीमत (रुपये प्रति किलो) पेट्रोल (रुपये प्रति लीटर)
2015-16 38 61.87
2016-17 38 68.26
2017-18 40.61 73.98
2018-19 45.7 72.86
2019-20 42 69.59
2020 44.23 81.06

स्रोत: मारुति सुजुकी

यह भी पढ़ें: नवरात्रि में मारुति, हुंदै, टाटा मोटर्स और अन्य वाहन कंपनियों की बिक्री ने पकड़ी रफ्तार

सरकार भी इस वृद्धि को देखते हुए अगले 10 सालों में 2200 सीएनजी स्टेशन लेकर 10,000 सीएनजी स्टेशन खोलने की योजना बना रही है। मारुति सुजुकी फिलहाल अपने 14 गाड़ियों में 7 में सीएनजी का विकल्प देती है। उम्मीद है कि सीएनजी गाड़िों की बिक्री वित्त वर्ष 2021 में 36 प्रतिशत और बढ़ेगी, जिसके बाद आंकड़ा 144,000 इकाई तक पहुंच जाएगा। वहीं हुंडई 10 मॉडल्स में से 3 में सीएनजी का विकल्प दे रही है।

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular