Tuesday, January 18, 2022
Homeभारतप्रत्‍याशियों के लिए खर्च तय: 1100 रुपये में हवन और पंडित का...

प्रत्‍याशियों के लिए खर्च तय: 1100 रुपये में हवन और पंडित का खर्चा, 200 का लड्डू और 7 से 15 रुपये तक चाय-कॉफी


गाजियाबाद. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Elections- 2022) के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission) ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारी को चुनाव खर्चे को लेकर सख्त हिदायत (Strict Instructions) दी है. इसी का नतीजा है कि यूपी के हर जिले के निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों (Candidates) के लिए खर्च की दरें (Fixed Rates of Expenditure) तय कर दी हैं. अब इन्हीं दरों से प्रत्याशियों को चुनावी खर्च का हिसाब देना होगा. दिल्ली से सटे नोएडा और गाजियाबाद में भी प्रत्याशियों के लिए कोरोना गाइडलाइंस के तहत खर्च तय हुआ है. नोएडा में चाय के लिए 10 रुपये और कॉफी के लिए 15 रुपये खर्च की रकम तय की गई है. वहीं, गाजियाबाद में चाय के लिए 7 रुपये और कॉफी के लिए 10 रुपये. गाजियाबाद में प्रत्याशियों के हवन के लिए 1100 रुपये, एलसीडी के लिए 2100 रुपये, एक फेस मास्क तीन लेयर का रेट 200 रुपये, सैनिटायइजर 100 से 600 एमएल 10 से 600 रुपये तय किया गया है.

वहीं, नोएडा में एक फेस मास्क की कीमत दो रुपये तय की गई है. जबकि 100 से 600 मिलीग्राम सैनिटाइजर की कीमत 18 से 600 रुपये तक तय की गई है. वहीं, 250 एमएल लिक्विड साबुन की कीमत 55 रुपये, फेस शील्ड की कीमत 30 रुपये, दस्ताने-प्लास्टिक पन्नी के लिए 60 पैसे और दस्ताने- रबर (सर्जिकल) के छह रुपये तथा थर्मल स्कैनर की दर 973 रुपये तय की गई है.

चाय समोसे और खाने की थाली पर रहेगी चुनाव आयोग की नजर.

नोएडा और गाजियाबाद में ये दरें हुईं तय
नोएडा के जिलाधिकारी के मुताबिक, चाय की कीमत 10 रुपये और कॉफी की कीमत 15 रुपये तय की गई है. समोसा 10 रुपये, लाउडस्पीकर 760 रुपये प्रतिदिन, पंडाल 900 से 3100 प्रतिदिन, कपड़े के बैनर 350 रुपये, कपड़े का झंडा 12 से 28 रुपये, पोस्टर 1,380 से 2,500 रुपये, कुर्सी के लिए 7 से 12 रुपये प्रतिदिन, सोफा के लिए 50 से 75 रुपये प्रतिदिन तथा रजाई-गद्दे के इंतजाम के लिए 10 रुपये प्रतिदिन, ढोल 400 रुपये प्रतिदिन, रागिनी 15 हजार से 40 हजार रुपये प्रतिदिन, बाइक और स्कूटी का खर्च 300 रुपये प्रतिदिन, कार खर्च 3,000 से 3,200 रुपये प्रतिदिन, होटल का कमरा 1,150 से 4,600 रुपये प्रतिदिन की दर तय की गई है. एक प्लेट पूड़ी-सब्जी की दर 30 रुपये तय की गई है, जबकि इसी का लोकसभा चुनाव के समय 35 रुपये कीमत तय की गई थी.

समोसा और ब्रेड पकौड़ा के देने होंगे इतने रुपये
वहीं, गाजियाबाद में समोसा और ब्रेड का पकौड़ा के लिए 10 रुपये, मठरी के लिए 5 रुपये, लंच के लिए 75 रुपये से लेकर 100 रुपये तक किए गए हैं. वहींं, पूजा सामग्री जैसे अगरबत्ती 10 रुपये की, नारियल 20 रुपये,पंडित और हवन दोनों के लिए 1100 रुपये का खर्च तय कर दिया गया है. इसी तरह प्रत्याशी अगर मुंह मीठा कराते हैं तो काजू के लिए 750 रुपये, मावे की मिठाई के लिए 400 रुपये, लड्डू के लिए 200 प्रति किलो रेट फिक्स तय कर दिए गए हैं.

election commission

राज्य के सभी निर्वाचन अधिकारी को विधानसभा के प्रत्याशियों के खर्चे का पूरा हिसाब रखना होगा. (फाइल फोटो)

हर जिले के डीएम तय कर रहे हैं रेट
बता दें कि यूपी के हर जिले में गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर जिले के हिसाब जैसा ही प्रत्याशियों के खर्च का रेट तय हुआ है. हर जिलों में प्रत्याशियों के खिलाफ मिले शिकायत या दूर करने के लिए एक शिकायत प्रकोष्ठ का भी गठन किया गया है. इस प्रकोष्ठ में विधानसभा चुनाव संबंधित शिकायत दर्ज कराई जा सकती है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली के अस्पतालों में 13 हजार से ज्यादा बेड खाली, अब मरीजों के भर्ती दर की रफ्तार पड़ी धीमी

बता दें कि निर्वाचन आयोग के आदेश पर राज्य के सभी जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन अधिकारी को विधानसभा के प्रत्याशियों के खर्चे का हिसाब रखना होता है. इसके लिए हर जिले में एक टीम गठित की गई है. नोएडा और गाजियाबाद में भी चुनाव के दौरान सभी प्रकार की सामग्री के साथ ही खाने-पीने, झंडे बैनर, चुनाव में लगाए गए वाहन, गायक-गायिकाओं के खर्चे का हिसाब प्रत्याशी के खाते में ही जुड़ेगा. चुनावी खर्च के लिए प्रत्येक प्रत्याशी को अलग से बैंक खाता खुलवाना होगा. सभी प्रत्याशी सभी प्रकार के बिल भुगतान इसी खाते से करेंगे.

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Candidate Profile, ECI, UP Assembly Election 2022, UP Assembly Election News, UP Assembly Election Updates



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular