Sunday, December 5, 2021
Homeराजनीतिफिरोजाबाद: सामूहिक दुष्कर्म के मामले में नया मोड़, मजिस्ट्रेट के सामने मुकरी...

फिरोजाबाद: सामूहिक दुष्कर्म के मामले में नया मोड़, मजिस्ट्रेट के सामने मुकरी पीड़िता, कहा तीनों युवक निर्दोष


संवाद न्यूज एजेंसी, फिरोजाबाद
Published by: Abhishek Saxena
Updated Tue, 09 Nov 2021 12:27 PM IST

सार

फिरोजाबाद में दीपावली पर एक किशोरी ने आरोप लगाया था कि उसको घर के सामने से तीन युवकों ने अगवा कर लिया। जंगल में ले जाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। अदालत में लड़की ने अपने बयान बदल दिए।
 

जिला एवं सत्र न्यायालय फिरोजाबाद
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

 दिवाली की शाम किशोरी को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में नया मोड़ आ गया है। पीड़िता ने मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान में आरोपी युवकों को बेकसूर बताया। इस पर न्यायालय ने पकडे़ गए तीनों युवकों को छोड़ने के आदेश दिए हैं।  
 थाना नगला सिंघी क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी ने आरोप लगाया था कि विगत बृहस्पितवार शाम घर के बाहर दीपक जलाते समय गांव के ही तीन युवक उसे अगवा कर ले गए और उसे जंगल में ले जाकर नशीला पदार्थ खिला दिया। बेहोशी की हालत में उसके साथ तीनों ने दुष्कर्म किया। घटना को अंजाम देकर वे उसे जंगल में ही छोड़कर भाग गए थे। पुलिस ने किशोरी को जंगल में अर्द्ध बेहोशी की हालत में बरामद किया था।
आरोपों का वीडियो हुआ था वायरल
किशोरी ने पुलिस पर कोरे कागजातों पर हस्ताक्षर कराने एवं मारपीट का आरोप लगया था। इस बीच पीड़िता के आरोपों का एक वायरल वायरल हुआ था। इसके बाद पुलिस ने हिरासत में लिए तीनों युवकों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया था। थाना पुलिस ने सोमवार को किशोरी का मेडिकल करा मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान कराए। मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़िता ने उसके साथ किसी भी घटना से इनकार कर दिया और तीनों युवकों को निर्दोष बताया। ऐसे में मजिस्ट्रेट ने पुलिस को तीनों आरोपियों को तत्काल रिहा करने के आदेश दिए हैं। 
 
पीड़िता को मजिस्ट्रेट के समक्ष 164 के बयान के लिए पेश किया गया था। किशोरी ने अपने साथ किसी भी घटना होने से इनकार किया है और तीनों युवकों को निर्दोष बताया है। न्यायालय के निर्देश पर पकड़े गए तीनों युवकों को नियमानुसार परिजनों को सौंपा जाएगा।  अभिषेक श्रीवास्तव, पुलिस क्षेत्राधिकारी, टूंडला

विस्तार

 दिवाली की शाम किशोरी को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में नया मोड़ आ गया है। पीड़िता ने मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान में आरोपी युवकों को बेकसूर बताया। इस पर न्यायालय ने पकडे़ गए तीनों युवकों को छोड़ने के आदेश दिए हैं।  

 थाना नगला सिंघी क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी ने आरोप लगाया था कि विगत बृहस्पितवार शाम घर के बाहर दीपक जलाते समय गांव के ही तीन युवक उसे अगवा कर ले गए और उसे जंगल में ले जाकर नशीला पदार्थ खिला दिया। बेहोशी की हालत में उसके साथ तीनों ने दुष्कर्म किया। घटना को अंजाम देकर वे उसे जंगल में ही छोड़कर भाग गए थे। पुलिस ने किशोरी को जंगल में अर्द्ध बेहोशी की हालत में बरामद किया था।

आरोपों का वीडियो हुआ था वायरल

किशोरी ने पुलिस पर कोरे कागजातों पर हस्ताक्षर कराने एवं मारपीट का आरोप लगया था। इस बीच पीड़िता के आरोपों का एक वायरल वायरल हुआ था। इसके बाद पुलिस ने हिरासत में लिए तीनों युवकों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया था। थाना पुलिस ने सोमवार को किशोरी का मेडिकल करा मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान कराए। मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़िता ने उसके साथ किसी भी घटना से इनकार कर दिया और तीनों युवकों को निर्दोष बताया। ऐसे में मजिस्ट्रेट ने पुलिस को तीनों आरोपियों को तत्काल रिहा करने के आदेश दिए हैं। 

 

पीड़िता को मजिस्ट्रेट के समक्ष 164 के बयान के लिए पेश किया गया था। किशोरी ने अपने साथ किसी भी घटना होने से इनकार किया है और तीनों युवकों को निर्दोष बताया है। न्यायालय के निर्देश पर पकड़े गए तीनों युवकों को नियमानुसार परिजनों को सौंपा जाएगा।  अभिषेक श्रीवास्तव, पुलिस क्षेत्राधिकारी, टूंडला



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular