Friday, September 17, 2021
Home राजनीति बरेली में हादसे को दावत दे रहा बेसिक शिक्षा विभाग: 1986 से...

बरेली में हादसे को दावत दे रहा बेसिक शिक्षा विभाग: 1986 से किराए के भवन में संचालित हो रहा अकाउंटेंट कार्यालय,बिल्डिंग की हालत जर्जर


बरेली8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
लेखाधिकारी खुद शासन को लगातार तीन साल से पत्र लिख रहे हैं। - Dainik Bhaskar

लेखाधिकारी खुद शासन को लगातार तीन साल से पत्र लिख रहे हैं।

बरेली में बेसिक शिक्षा विभाग अपने ही लेखाधिकारी कार्यालय के कर्मचारियों की जान से खिलवाड़ कर रहा है। कई बार कहने के बाद भी कर्मचारियों को जर्जर बिल्डिंग से किसी दूसरी बिल्डिंग में शिफ्ट नहीं किया जा रहा। बिल्डिंग की हालत यह है कि बरसात के मौसम में जितनी बारिश बाहर होती है उतना ही पानी बिल्डिंग के अंदर टपकता है।

अधिकारी देते हैं रटा-रटाया जवाब

अधिकारियों के बार-बार कहने के बाद विभाग की तरफ से एक ही रटा-रटाया जवाब दिया जाता है कि कोई बिल्डिंग नहीं मिल रही है। ऐसे में यह सवाल उठना लाजिमी है कि क्या विभाग को उस वक्त बिल्डिंग मिलेगी जब कोई हादसा हो जाएगा।

कार्यालय​​​​​​ 1986 से चल रहा किराए पर

दरअसल, जंक्शन रोड पर बना लेखाधिकारी कार्यालय सन,1986 से किराए की बिल्डिंग में चल रहा है। जिसका किराया महज 3400 रुपये जाता है। इस बिल्डिंग में कुल 9 कर्मचारी काम करते है। जिसमें एक एओ, चार अकाउंटेंट और चार फोर्थ क्लास कर्मचारी शामिल है। यह बिल्डिंग जब किराए पर ली गई थी तब भी वह 50 साल से अधिक पुरानी बताई जा रही है। ऐसे में अब तक यह बिल्डिंग करीब 85 साल से भी अधिक पुरानी हो चुकी है।

तीन साल से शासन को लिख रहे है लेखाधिकारी

बिल्डिंग के जर्जर हालातों के देखकर इस बिल्डिंग को किसी दूसरी जगह पर शिफ्ट करने के लिए खुद लेखाधिकारी शासन को लगातार तीन साल से पत्र लिख रहे हैं। लेकिन किसी ने इस पर कोई विचार नहीं किया। न जाने कितनी बार लोकल अधिकारियों को भी इस बार में सूचित किया जा चुका है। इसके बाद भी इस बिल्डिंग को शिफ्ट करने के बारे में अब तक कोई योजना नहीं बनी है।

आखिर कब चेतेंगे अधिकारी

अधिकारियों की बातों पर गौर किया जाए तो यह कहना गलत नहीं होगा कि शासन को अपने कर्मचारियों की जान की कोई परवाह ही नहीं है। ऐसे में यह सवाल खड़ा होना लाजिमी है कि क्या शासन को किसी हादसे का इंतजार है। तब इस बिल्डिंग के बारे में अधिकारी चेतेंगे।

बेसिक शिक्षा विभाग का पक्ष

बेसिक शिक्षा विभाग के लेखाधिकारी परशुराम ओझा का कहना है कि वह पिछले तीन सालों से लगातार शासन-प्रशासन को लिख रहे हैं कि यह बिल्डिंग पूरी जर्जर हो चुकी है। इसे किसी दूसरी जगह शिफ्ट करा दिया जाए लेकिन उनकी बात कोई सुन ही नहीं रहा है। हर बार यही कहा जाता है कि जगह नहीं मिल रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular