Saturday, May 28, 2022
Homeभारतबहुत दयालु हैं पीएम मोदी..हमारा एयरपोर्ट शुरू कराया, श्रीलंका ने की जमकर...

बहुत दयालु हैं पीएम मोदी..हमारा एयरपोर्ट शुरू कराया, श्रीलंका ने की जमकर तारीफ


आर्थिक संकट के चलते श्रीलंका में हालात इस समय बद से बदतर हो चुके हैं। एक ओर जहां राजपक्षे सरकार की किरकिरी हो रही है तो वहीं अब श्रीलंका के लोग सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो चुके हैं। इसी बीच श्रीलंका के पूर्व केंद्रीय मंत्री और क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की है। उन्होंने श्रीलंका की मदद के लिए ना सिर्फ भारत के प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया बल्कि भारत को श्रीलंका का बड़ा भाई भी बताया है।

दरअसल, न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में अर्जुन रणतुंगा ने कई मुद्दों पर अपनी बात रखी और श्रीलंका के मौजूदा हालात को लेकर राजपक्षे सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जाफना एयरपोर्ट को शुरू करने में भारत ने मदद की और इसके लिए पीएम मोदी ने दयालुता दिखाई। भारत हमारे लिए एक बड़ा भाई रहा है, भारत हमारी जरूरतों को समझता है। इसी वजह से भारत ने हमें पेट्रोल-दवाई जैसी चीजों की मदद भी पहुंचाई है, इन सब चीजों की कमी आने वाले समय में हो सकती है।

रणतुंगा ने वर्तमान राजपक्षे सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार में कुछ लोग ऐसे हैं जो समाज में बंटवारा करवाना चाहते हैं। श्रीलंका में मौजूदा हालात में हर जगह समस्या है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि श्रीलका की सरकार घमंडी की तरह बर्ताव कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार में कुछ ऐसे लोग मौजूद हैं जो हिंसा चाहते हैं, ऐसा नहीं होना चाहिए। इसके लिए मुझे काफी चिंता है।

संबंधित खबरें

उन्होंने कहा कि विरोध प्रदर्शनों में आम जनता सिर्फ बुनियादी चीजें मांग रही है, इनमें दूध, गैस, चावल, पेट्रोल जैसी चीजें शामिल हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मैं यहां हो रही हिंसा से सहमत नहीं हूं। मेरी बड़ी चिंता है कि यहां पर किसी तरह का खून खराबा नहीं होना चाहिए। देश पिछले दो साल में एक बड़े संकट में चला गया है।

उधर श्रीलंका में बड़ी संख्या में लोग विरोध प्रदर्शन कर राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे से आर्थिक संकट से निपटने में विफल रहने के लिए पद छोड़ने की मांग कर रहे हैं। श्रीलंका इस समय इतिहास के सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। ईंधन, रसोई गैस के लिए लंबी लाइनें, आवश्यक वस्तुओं की कम आपूर्ति और घंटों बिजली कटौती से जनता महीनों से परेशान है। इसके साथ श्रीलंका सरकार में भी उथल-पुथल मची हुई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular