Friday, September 17, 2021
Home राजनीति बांदा में पुलिस की अभद्रता से महिला ने की आत्महत्या: बेटे के...

बांदा में पुलिस की अभद्रता से महिला ने की आत्महत्या: बेटे के अपहरण की रिपोर्ट लिखाने गई थी, पुलिस ने भाई को लॉकअप में बंद कर आरोपियों के साथ मिलकर की अभद्रता; सीओ ने महिला को ही ठहराया गलत


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • Went To Write The Report Of Kidnapping Of Son, Police Committed Indecency With The Accused, Brother Was Locked Up In Lockup, Woman Gave Tahrir, But CO Says Police Did Not Know Anything, Indecency Did Not Happen

बांदाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
आरोप है कि आरोपियों के साथ मिलकर पुलिस ने महिला के साथ अभद्रता की। महिला ने इससे परेशान होकर घऱ आकर फांसी लगा ली। - Dainik Bhaskar

आरोप है कि आरोपियों के साथ मिलकर पुलिस ने महिला के साथ अभद्रता की। महिला ने इससे परेशान होकर घऱ आकर फांसी लगा ली।

उत्तर प्रदेश के बांदा में पुलिस की कार्यशैली ने एक बार फिर शर्मसार किया है। बेटे के अपहरण की रिपोर्ट लिखाने गई महिला की रिपोर्ट लिखने के बजाय उसे दिन भर बैठाकर प्रताड़ित किया। इतना ही नहीं, आरोप है कि आरोपियों के साथ मिलकर पुलिस ने महिला के साथ अभद्रता की। महिला ने इससे परेशान होकर घऱ आकर फांसी लगा ली। आक्रोशित परिजनों ने काफी देर तक हंगामा किया। पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

शहर कोतवाली क्षेत्र के चिल्ला रोड मवई बाईपास निवासी श्रीप्रसाद रैकवार की पत्नी सुधा रैकवार (45) ने शनिवार की शाम घर में छत की रेलिंग में रस्सी से फांसी लगा ली। बेटी रिया व अन्य परिजनों को जैसे ही जानकारी हुई तो ट्रामा सेंटर लेकर पहुंचे, जहां पर डॉक्टरों ने सुधा को मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने ट्रामा सेंटर में शहर कोतवाली की पुलिस पर प्रताड़ना और अभद्रता का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा काटा। सीओ आरके सिंह ने कार्रवाई का आश्वासन देते हुए समझा-बुझाकर शांत कराया।

कोतवाली में दिनभर बैठाए रही पुलिस
बेटियों का का आरोप है कि भाई दीपक 2 दिन से लापता था, जिसकी गुमशुदगी की शिकायत लेकर मां सुधा मामा के साथ शहर कोतवाली गई थी। लेकिन पुलिस ने बेवजह ही उन्हें दिनभर कोतवाली में बैठाए रखा और उन्हें दिनभर मानसिक रूप से प्रताड़ित किया और आरोपियों के साथ मिलकर अभद्रता की। शाम को जब घर पहुंची तो फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

सीओ की अलग ही कहानी
सीओ आरके सिंह ने बताया कि सुधा नाम की महिला व उसका पति कोई बैंक चलाने का काम करते थे और कुछ लोगों के पैसे के लेनदेन को लेकर विवाद था, जिस संबंध में इन्हें कोतवाली लाया गया था जिसके बाद उन्होंने घर में पहुंच कर आत्महत्या कर ली। बाद में यह बात पता चली कि इनका लड़का गायब था जो किसी कार से हमीरपुर के मौदहा गया था। हम तलाश कर रहे हैं। परिजन जो आरोप लगा रहे हैं, उसकी जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular