Tuesday, May 18, 2021
Home राजनीति भाजपा विधायक चोकर बाबा का कटा टिकट तो अन्न-जल खाना छोड़ दिया,...

भाजपा विधायक चोकर बाबा का कटा टिकट तो अन्न-जल खाना छोड़ दिया, कहा – सन्यासी हूं, अब सिर्फ फलाहार पर जिंदगी बिता दूंगा


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Election 2020: Amnour BJP MLA Shatrudhan Tiwari | Choker Baba Protest After Not Getting Ticket In Chhapra Bihar Assembly Elections

पटना12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भाजपा विधायक शत्रुघ्न तिवारी इलाके में चोकर बाबा के नाम से भी जाने जाते हैं।

  • सिवान के अमनौर से निवर्तमान विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ़ चोकर बाबा पार्टी से नाराज हो गए हैं
  • पिछले चुनाव में चोकर बाबा ने जिसे हराया था, उसी को टिकट दे रही है पार्टी

सिवान के अमनौर विधानसभा क्षेत्र से खबर है। इलाके के निवर्तमान भाजपा विधायक शत्रुघ्न तिवारी अपनी पार्टी से नाराज हो गए हैं। वजह है पार्टी द्वारा उनका टिकट काटा जाना। शत्रुघ्न तिवारी इलाके में चोकर बाबा के नाम से भी जाने जाते हैं। स्वभाव से सन्यासी हैं। टिकट काटे जाने से नाराज होकर अब उन्होंने अन्न-जल त्यागने का निर्णय ले लिया है। अब वे जिंदगी भर फलाहार पर ही रहेंगे।

दूसरे चरण में होना है अमनौर विधानसभा में मतदान
शत्रुघ्न तिवारी उर्फ़ चोकर बाबा के विधानसभा क्षेत्र अमनौर में मतदान दूसरे चरण में होना है। एनडीए में सीट बंटवारे के क्रम में भाजपा ने इसे बचाए रखा है। हालांकि, चर्चा है कि इस बार चोकर बाबा को टिकट नहीं मिलेगा। उनकी जगह पार्टी का प्रत्याशी कौन होगा, यह अभी तय नहीं है। लेकिन चर्चा है कि पार्टी इस बार कृष्ण कुमार मंटू को टिकट देगी।

पिछले चुनाव में कृष्ण कुमार को हरा चुके हैं चोकर बाबा
चोकर बाबा 2015 के विधानसभा चुनाव में तब जदयू के प्रत्याशी रहे कृष्ण कुमार मंटू को पांच हजार से से अधिक मतों से हरा चुके हैं। अब उनका कहना है कि पार्टी उसे ही टिकट देने जा रही है, जिसे वे पहले ही हरा चुके हैं। उनका कहना है कि सिटिंग विधायक होने के नाते वे अभी इलाके में चुनाव प्रचार में लगे हुए थे। ऐसे वक़्त में उनका टिकट काटा जाना पार्टी में आतंरिक लोकतंत्र की कमी की ओर इशारा करता है।

भाजपा सांसद व डिप्टी सीएम पर लगाया आरोप
अमनौर विधायक ने स्थानीय भाजपा सांसद राजीव प्रताप रुडी और डिप्टी सीएम सुशील मोदी पर आरोप लगाया है कि इलाके में उनकी लोकप्रियता से ये लोग घबरा गए हैं। उन्होंने इलाके के लोगों के लिए हमेशा काम किया है। उनकी रसोई से हजारों लोगों को खाना मिल रहा है। इन सबकी वजह से बड़े नेताओं ने मिलकर उनका टिकट कटवा दिया।

अब सन्यासी वाले अंदाज में करेंगे विरोध
चोकर बाबा अब अपने टिकट काटे जाने का विरोध सन्यासी वाले अंदाज में करेंगे। इसके लिए उन्होंने अन्न-जल त्याग कर आजीवन फलाहार पर रहने का निर्णय लिया है। कहा कि वह संन्यासी की जिंदगी जीते हैं और अपना विरोध वह संन्यासी की तरह ही प्रकट करेंगे।

अमनौर सीट का इतिहास
साल 2009 के परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई अमनौर सीट पर अब तक दो विधानसभा चुनाव हुए हैं। 2010 में यहां हुए पहले चुनाव में जदयू के कृष्ण कुमार जीते थे। इसके बाद 2015 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के शत्रुघन तिवारी ने जदयू के कृष्ण कुमार मंटू को 5,251 वोट से हराया। यहां ब्राह्मण-राजपूत और यादव वोटरों की संख्या 35 फीसदी के आसपास मानी जाती है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular