Home राजनीति भास्कर एक्सक्लूसिव: गांव की गलियां भी हाेंगी राेशन, जिले की सभी 238...

भास्कर एक्सक्लूसिव: गांव की गलियां भी हाेंगी राेशन, जिले की सभी 238 पंचायताें में 34 हजार साेलर लाइट लगेगी

0
15
Quiz banner


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • The Streets Of The Village Will Also Be Rationed, 34 Thousand Solar Lights Will Be Installed In All The 238 Panchayats Of The District.

भागलपुरएक घंटा पहलेलेखक: मदन

  • कॉपी लिंक

सात निश्चय पार्ट 2 स्वच्छ गांव समृद्ध गांव योजना के तहत मुख्यमंत्री ग्रामीण सोलर स्ट्रीट लाइट योजना के तहत गांवों में सोलर लाइट लगेगी। यानी, अब शहर की तरह गांव की सड़कें और गलियां भी जगमगाएंगी। रात में बिजली गुल होने के बाद साेलर लाइट से इलाका राेशन हाेगा। इसके लिए पहल तेज हाे गई है। लाइट लगाने के लिए जिले की 238 पंचायतों के 3030 वार्डाें के 34 हजार 803 बिजली पोल चिह्नित किये गए हैं।

इस पर 110 कराेड़ रुपए से अधिक खर्च हाेने का अनुमान है। इसके लिए पंचायती राज विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। पाेल का सर्वे कर इसकी रिपाेर्ट जिला से विभाग काे भेज दी गई है। विभाग के स्तर इस काम के लिए एजेंसी का चयन कर लिया गया है। हाल में पटना में हुई विभागीय बैठक में इसकी जानकारी जिलास्तरीय पदाधिकारी काे दी गई।

48 घंटे सूर्य की राेशनी न मिलने पर भी जलेगी
​​​

जिले की सभी पंचायतों के प्रत्येक वार्ड में 10-10 सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने की याेजना है। पर्याप्त रोशनी हो, इसके लिए हर पोल पर 20 वाट की ट्यूबलाइट लगेगी। इन लाइटों की खासियत यह है कि अगर किसी कारण से 48 घंटे सूर्य की रोशनी नहीं मिलेगी, तब भी ये गांवों की गलियों को रोशन करेंगी। शहरों के तर्ज पर गांव की गलियों और चौराहों को रोशन करने के मकसद से विभाग की अाेर से यह निर्णय लिया गया है। इसमें रिमोट मॉनिटरिंग सिस्टम भी लगाया जाएगा, ताकि इसकी ऑनलाइन माॅनिटरिंग की जा सके।

आंगनबाड़ी केंद्र, स्कूल और पंचायत सरकार भवन में सबसे पहले लगेगी
इस योजना के तहत स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र, पंचायत सरकार भवन, पूजा स्थल, बस स्टैंड पर प्राथमिकता के आधार पर साेलर स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी। एक सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने पर 32 हजार रुपए खर्च करने का एस्टीमेट बनाया गया है। 34 हजार 804 साेलर स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी। बिहार रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी (ब्रेडा) को काम की जवाबदेही दी गई है। मेंटेनेंस का काम पांच साल तक ब्रेडा की अाेर से चयनित एजेंसी को ही करना होगा।

स्थल के चयन में मुखिया व पंचायत प्रतिनिधि की दखल हाेगी कम
सोलर लाइट योजना में मुखिया की दखल कम हाेगी। वे सिर्फ योजना की निगरानी कर सकते हैं। तय एजेंसियों से ही सोलर लाइट की खरीद की जाएगी। इसके लिए स्थल चयन की व्यवस्था भी पहले से अधिक पारदर्शी बनाई गई है। विभाग ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि पंचायत प्रतिनिधि किसी भी परिस्थिति में कहीं भी अपनी इच्छानुसार लाइट लगवाने में मनमानी नहीं करेंगे। जाे ऐसा करेंगे उनपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

रात में बिजली कट जाने के बाद भी गांव रहेगा राेशन
सोलर लाइट योजना के तहत गांव के लोगों की रात अब अंधेरे में नहीं गुजरेगी। रात में बिजली न होने की वजह से गांव के लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ता था। ऐसे में स्ट्रीट लाइट लगने के बाद गांव के लोगों को राहत मिलेगी। पंचायत के सभी वार्डों में सोलर लाइट लगाने के लिए पहले से ही संबंधित मुखिया को सर्वे करने की जवाबदेही साैंपी गई थी। सर्वे में गांव और उस जगह का चयन करने को कहा गया था, जहां सोलर लाइट लगाई जाएगी।

काम के लिए एजेंसी हुई चयनित
जिले की पंचायत के वार्ड में साेलर स्ट्रीट लाइट लगाने की दिशा में पहल की जा रही है। इसके लिए पाेलाें का सर्वे हाे गया है। काम के लिए एजेंसी भी चयनित हाे चुकी है। अब जल्द काम शुरू हाेने की उम्मीद है।-त्रिलाेकीनाथ सिंह, जिला पंचायत राज पदाधिकारी

खबरें और भी हैं…



Source link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here