Sunday, April 11, 2021
Home भारत मकर संक्रान्ति: पिछले साल के मुकाबले इस बार सस्ता है गज़क, फिर...

मकर संक्रान्ति: पिछले साल के मुकाबले इस बार सस्ता है गज़क, फिर भी बाज़ार में कम हैं ग्राहक


पिछले साल के मुकाबले इस साल गज़क के रेट सस्ते हैं.

इस साल मकर संक्रान्ति से ठीक पहले गज़क 4 से 5 रुपये तक सस्ते हैं. इसके बाद भी दुकानदारों की सबसे बड़ी परेशानी यह है कि बाज़ार में ग्राहक दिखाई नहीं दे रहे हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 8:48 AM IST

नई दिल्ली. अक्टूबर के आखिर या फिर नवंबर की शुरुआत से गज़क (Gajak) का सीजन शुरु हो जाता है. लेकिन इस बार सीज़न शुरु होने से पहले ही गज़क के महंगी होने की चर्चाएं शुरु हो गईं थी. ऐसा तिल के बाज़ार भाव को देखते हुए कहा जा रहा था. गज़क का सीजन शुरु होने से पहले ही तिल के भाव 115 रुपये किलो से सीधे 135 रुपये पर पहुंच गए थे.

लेकिन मकर संक्रति (Makar Sankranti) के मौके पर भी गज़क के रेट पिछले साल के मुकाबले 4-5 रुपये सस्ते ही हैं. लेकिन दुकानदारों की परेशानी यह है कि इसके बावजूद भी बाज़ार में ग्राहक दिखाई नहीं दे रहा है.

पंडित मधुसूदन शर्मा ने न्यूज18 हिंदी को बताया, मकर संक्रति के मौके पर न सिर्फ गज़क बल्कि तिल से बनीं ज़्यादातर चीजें बाज़ार में बिकती हैं. इसके साथ ही चूड़ा और गुड़ से बनी मूंगफली, सेव और लाई की पट्टी भी खूब बिकती है. भुनी मूंगफली भी इस सब के बीच शामिल रहती है. इसे प्रसाद के रूप में भी बांटा जाता है. बहन-बेटियों और दूसरे रिश्तेदारों को भी भेजा जाता है. और लगभग यही सब सामान लोहड़ी के मौके पर भी खरीदा जाता है.

इसलिए बर्ड फ्लू न होने पर भी खुद ही 5 दिन बाद मुर्गों को मार देंगे पोल्ट्री मालिकरेट (रुपये किलो में)

मूंगफली का दाना- 140

गुड़- 35-40

गजक-240-320

तिल के लड्डू- 250

गुड़ की पट्टी- 150

रेवड़ी- 100

गुड़ की लईया-100

तिल (काला)-150-180

तिल (सफेद)-150-170

भुना चना – 120

लाई (देशी छोटी)- 50

लाई (बड़ी)- 60

चूड़ा (मोटा)- 50

चूड़ा (महीन)- 60

गट्टा- 80

गुड़ का सेव  – 125

अनारदाने की पट्टी-125


<!–

–>

<!–

–>


! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular