Wednesday, October 27, 2021
Home विश्व मलेशिया में राजनीतिक संकट, PM मुहयिद्दीन यासीन ने दिया इस्तीफा

मलेशिया में राजनीतिक संकट, PM मुहयिद्दीन यासीन ने दिया इस्तीफा


कुआलालंपुर. मलेशिया के प्रधानमंत्री मुहयिद्दीन यासीन (Muhyiddin Yassin) ने सोमवार को मलेशिया (Malaysia) के नरेश को इस्तीफा सौंप दिया. इससे पहले उन्होंने यह स्वीकार किया था कि शासन करने के लिए आवश्यक बहुमत का समर्थन उन्हें हासिल नहीं है. विज्ञान मंत्री खैरी जमालुद्दीन ने इंस्टाग्राम पर लिखा, ‘‘मंत्रिमंडल ने नरेश को इस्तीफा सौंप दिया है’’. यासीन ने 18 महीने से भी कम समय पहले पद संभाला था. पहले से वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जूझ रहे देश में अब राजनीतिक संकट भी खड़ा हो गया है.

सत्तारूढ़ गठबंधन में सबसे बड़ी पार्टी यूनाइटेड मलय नेशनल ऑर्गेनाइजेशन (यूएमएनओ) से कई सांसदों के समर्थन वापस लेने और यूएमएनओ के दो मंत्रियों के इस्तीफा देने के कारण सरकार गिर गई.

काबुल एयरपोर्ट पर फायरिंग में 5 लोगों की मौत, कई जगहों पर लूटपाट की खबर

मलेशिया के संविधान के अनुसार अगर प्रधानमंत्री बहुमत खो देते हैं तो उन्हें निश्चित रूप से इस्तीफा देना होता है. शाह उन्हें नया नेता नियुक्त करते हैं जिनके बारे में उन्हें लगता है कि वह संसद में विश्वास मत हासिल कर लेंगे.

मुहयिद्दीन यासीन के इस्तीफे के बाद नेताओं ने शीर्ष पद के लिए संघर्ष की शुरुआत कर दी है. डिप्टी पीएम इस्माइल साबरी ने यासीन की जगह लेने और सरकार को बरकरार रखने के लिए समर्थन दिया है. यासीन का इस्तीफा ऐसे समय पर आया है, जब कोरोना महामारी से ठीक तरह से नहीं निपटने को लेकर उनकी सरकार की आलोचना की जा रही है. मलेशिया में दुनियाभर में सबसे अधिक संक्रमण दर और मृत्यु दर है. सात महीने के आपातकाल और जून से लागू लॉकडाउन के बाद भी इस महीने हर दिन कोरोना के 20 हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं. इससे स्वास्थ्य व्यवस्था पर खासा दबाव पड़ा है.

अशरफ गनी के प्लेन को ताजिकिस्तान ने नहीं दी लैंडिंग की इजाजत, अब जा सकते हैं US

शाम तक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं यासीन
स्थानीय मीडिया ने कहा कि मुहयिद्दीन यासीन के आने से पहले राष्ट्रीय पुलिस प्रमुख, चुनाव आयोग के अध्यक्ष और अटॉर्नी-जनरल को भी सोमवार को राजमहल में बुलाया गया. यासीन ने सोमवार को अपने कार्यालय में कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता की. उन्होंने महल के गेट पर पत्रकारों की ओर हाथ हिलाया और फिर 40 मिनट बाद लौट गए. माना जा रहा है कि शाम तक यासीन एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं. उनकी सरकार के पास शुरू से ही संसद में मार्जिन भर ही बहुमत था. ये तभी गिर गई थी, जब दर्जनभर सांसदों ने उनकी सरकार से समर्थन वापस ले लिया था. (एजेंसी इनपुट के साथ)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular