Sunday, January 23, 2022
Homeविश्वमातम में बदली खुशियां: हनीमून पर गई महिला का हुआ ये हाल,...

मातम में बदली खुशियां: हनीमून पर गई महिला का हुआ ये हाल, फर्स्ट वर्ल्ड वॉर से जुड़ी है वजह


लंदन: ब्रिटेन में रहने वाला एक कपल (British Couple) हनीमून (Honeymoon) के लिए यूक्रेन गया था, ताकि खूबसूरत वादियों में वो अपनी जिंदगी की नई शुरुआत का आगाज कर सके. कपल के साथ लड़की का भाई और कुछ दोस्त भी थे. सभी रात के वक्त आग जलाकर अपनी जिंदगी के छूए-अनछूए पहलुओं को साझा कर रहे थे, तभी हुए एक जोरदार धमाके ने खुशियों को मातम में बदल गया. ये धमाका फर्स्ट वर्ल्ड वॉर (First World War) के समय दफन किए गए बम की वजह से हुआ. 

Mountains को बनाया था ठिकाना

‘डेली मेल’ की रिपोर्ट के मुताबिक, बर्कशायर के ब्रैक्नेल में रहने वालीं लिडिया मकारचुक (Lidiia Makarchuk) अपने पति नॉर्बर्ट वर्गा (Norbert Varga) के साथ पिछले महीने हनीमून पर यूक्रेन (Ukraine) गईं थीं. उन्होंने हंगरी की सीमा के नजदीक कार्पेथियन पर्वत को अपना ठिकाना बनाया था. रात के समय सभी आग जलाकर बातें कर रहे थे. लिडिया बता रही थीं कि कैसे नॉर्बर्ट ने उनके जूतों की तारीफ की और दोनों एक-दूसरे के करीब आते चले गए. 

ये भी पढ़ें -ये है ब्रिटेन का सबसे अनलकी कपल, 31 करोड़ जीतकर भी हारा; अब रिश्ता भी हुआ खत्म

Wife को गंभीर चोट आई

बातचीत के बीच नॉर्बर्ट वर्गा अपना कैमरा लेने टेंट की ओर गए. जैसे ही वो वापस आने के लिए मुड़े एक जोरदार धमाका हुआ. वो तुरंत अपनी पत्नी लिडिया मकारचुक के पास पहुंचे, जो बुरी तरह घायल हो चुकी थी. बम धमाके ने उनकी खुशियों को मातम में बदल दिया था. इस हादसे में लिडिया के भाई और एक दोस्त की मौत हो गई. जबकि उनके हाथ और चेहरे पर गंभीर चोटें आई हैं.

Help पहुंचने में लगा एक घंटा

हादसे के बाद सहायता पहुंचने में करीब एक घंटा लगा. लिडिया ने कहा, ‘सबकुछ बहुत अच्छा चल रहा था. तभी एक जोरदार धमाका हुआ. कुछ नुकीली चीजें उड़कर मेरे चेहरे पर लगीं, मुझे सुनाई देने बंद हो गया था. मैं दर्द से चीख रही थी. जब धुआं हटा तो मैंने देखा कि केवल मैं ही नहीं बाकी लोगों का भी यही हाल था. मुझे बाद में बताया गया कि मेरा भाई अब इस दुनिया में नहीं है.  

इस वजह से हुआ Blast

बताया जा रहा है कि धमाका प्रथम विश्व युद्ध के दौरान जमीन में दफन हुए एक बम में विस्फोट की वजह से हुआ. कपल ने जो आग जलाई थी, उसकी गर्मी के कारण बम में धमाका हो गया. रिपोर्ट में कहा गया है कि ये बम ब्रुसिलोव आक्रमण के समय से आया था,  जो रूसियों द्वारा 1916 में ऑस्ट्रिया-हंगरी के खिलाफ चलाए गए एक खूनी अभियान का हिस्सा था.

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular