Friday, July 23, 2021
Home राजनीति मिशन 2022 के लिए BJP की बड़ी रणनीति: संगठन और सरकार के...

मिशन 2022 के लिए BJP की बड़ी रणनीति: संगठन और सरकार के बीच बनी सहमति; विकास के साथ राम मंदिर और राष्ट्रवाद होगा मुद्दा, ‘बूथ जीता तो सब जीता’ का मिला मंत्र


लखनऊ3 मिनट पहलेलेखक: विनोद मिश्र

  • कॉपी लिंक
भाजपा के केंद्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष के दौरे के दूसरे दिन मंगलवार शाम 5 बजे भाजपा मुख्यालय में सरकार और संगठन की सबसे अहम बैठक हुई। - Dainik Bhaskar

भाजपा के केंद्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष के दौरे के दूसरे दिन मंगलवार शाम 5 बजे भाजपा मुख्यालय में सरकार और संगठन की सबसे अहम बैठक हुई।

भाजपा 2022 के विधान सभा चुनाव को जीतने के लिए उत्तर प्रदेश में विकास के साथ ही राम मंदिर और राष्ट्रवाद का मुद्दा पुरजोर तरीके से उठाएगी। इसके जरिए बूथ जीतने का प्रयास किया जाएगा। मंगलवार की शाम संगठन और सरकार के बीच चली 5 घंटे की मैराथन बैठक में इन्हीं तीन मुद्दों पर सबसे ज्यादा जोर दिया गया।

भाजपा के केंद्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष के दौरे के दूसरे दिन मंगलवार शाम 5 बजे भाजपा मुख्यालय में सरकार और संगठन की सबसे अहम बैठक हुई। भाजपा कोर कमेटी की यह मैराथन बैठक करीब 5 घंटे तक चली। इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उप मुख्यमंत्री के अलावा कई कैबिनेट भी शामिल हुए। संगठन की ओर से संगठन राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष, राधमोहन, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन मंत्री सुनील बसंल के अलावा 4 पूर्व प्रदेश अध्यक्ष के साथ ही संगठन क्षेत्रीय पदाधिकारी भई मौजूद रहे।

इसके साथ ही नवनियुक्त उपाध्यक्ष एके शर्मा और हाल में ही पार्टी ज्वाईन करने वाले जितिन प्रसाद भी इस बैठक में शामिल हुए। बैठक में सबसे पहले एके शर्मा और जितिन प्रसाद का सभी पदाधिकारियों से परिचय करवाया गया। परिचय के बाद औपचारिक बैठक शुरु हुई। इस बैठक में 2017 में पार्टी को मिली ऐतिहासिक जीत को दोहराने का मंत्र दिया गया।

विकास के साथ ही राम मंदिर और राष्ट्रवाद होगा मुद्दा

आज की बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। सूत्रों की मानें तो भाजपा एक बार फिर यूपी में राष्ट्रवाद की अलख जगाएगी। सरकार के विकास के साथ ही राष्ट्रवाद को आगे बढ़ाएगी। सरकार की उपलब्धियां को जनता तक पहुंचाएगी। राम मंदिर को भाजपा की बड़ी उपलब्धि के तौर पर जनता का सामने पेश किया जाएगा। इसके साथ ही सरकार की जो योजनाएं चल रही है, खुद जनप्रतिनिधि इन योजनाओं के बारे में लोगों को बताए। फ्री वैक्सीनेशन को भी सरकार की बड़ी उपलब्धि के तौर पर जनता का बीच रखना है।

बूथ जीता तो सब जीता

आज संगठन और सरकार की बड़ी बैठक में संगठन ने सबसे मिशन 2022 को कामयाब बनाने के लिए सबसे बड़ा मंत्र दिया। यह मंत्र है ‘बूथ जीत तो सब जीता’। मंगलवार की बैठक में संगठन ने साफ कर दिया कि अगर हम बूथ मजबूत करते है तो ही 2017 का करिश्मा दोहरा पाएंगे।

बूथ मैनेजमेंट सबसे जरूरी

संगठन ने साफ तौर पर निर्देश दिया है कि हमें हर कीमत पर बूथ पर लेवल के कार्यकर्ताओं को एक्टिव करना है। जीत के लिये बूथ मैनेजमेंट बेहद जरूरी है। हर बूथ की लिस्ट तैयार की जाए। जो लिस्ट अधूरी है, उसे जल्द से जल्द पूरा किया जाय। हर पदाधिकारी की जिम्मेदारी बूथ को जीतना है। बैठक में एक बार फिर मेरा बूथ सबसे मजबूत के मंत्र को भी दोहराया गया और सभी पदाधिकारियों से यह कहा गया इस बार सारा फोकस बूथ पर सोना चाहिए। हर कीमत पर अपना बूथ मजबूत करना होगा।

जातीय समीकरण सेट कर दोहरा सकते 2017 का करिश्मा

संगठन में इस बात को लेकर खास चर्चा हुई कि जिस तरीके से 2017 में यूपी के सभी जातियों का समर्थन भाजपा को मिला था, ठीक उसी तरह इस बार भी जातीय समीकरणों को सेट करना होगा। ताकि एक बार फिर वैसी ही सफलता मिल सके। इसके लिए सभी पदाधिकारियों और सरकार के मंत्रियों को यह जिम्मेदारी दी गई है। सरकार और संगठन दोनों का यह मानना है कि हमें हर गांव, हर ब्लॉक तक पहुंचना है। वो जातियां जो 2017 में भाजपा के साथ थी,अब वह किसी वजह से अगर दूर हो रही है तो उनके वजहों को जानना होगा। और उससे दूर करने की कोशिश की जानी चाहिए।

सरकार के स्तर पर इसके लिए संभव है तो कुछ पॉलिसी भी बनाई जाए। सरकार यह सबको भरोसा दिलाए कि यह सरकार उनके लिए भी काम कर रही है। साथ ही संगठन की बड़ी जिम्मेदारी भी इन जातियों को भाजपा के पाले में वापस लाने की है। सरकार या संगठन से किसी तरह की नाराजगी किसी भी जाति का ना हो इसका खास ख्याल रखना होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular