Sunday, September 26, 2021
Home विश्व मेहुल चोकसी की किडनैपिंग को लेकर भारत से हुई डील? जानें डोमिनिका...

मेहुल चोकसी की किडनैपिंग को लेकर भारत से हुई डील? जानें डोमिनिका के PM ने क्या कहा


नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक (PNB Scam) घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को भारत लाने की हर मुमकिन कोशिश की जा रही है. इस वक्त वह डोमिनिका (Dominica) की जेल में है. चोकसी ने अपनी किडनैपिंग और हत्या की कोशिश को लेकर बड़ी साजिश का दावा किया था. अब डोमिनिका के प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट (Dominican Prime Minister Roosevelt Skerrit) ने चोकसी के दावों को बकवास करार दिया है.

डोमिनिका समाचार ऑनलाइन के मुताबिक, स्केरिट ने गुरुवार को कहा कि मेहुल चोकसी का डोमिनिका, भारत, एंटीगा-बारबुडा के बीच एक साजिश के हिस्से के रूप में आईलैंड लाने का दावा बिल्कुल झूठा और बकवास है. ये मेहुल चोकसी की कोरी कल्पना है.

मेहुल चोकसी अभी नहीं घोषित किया जाएगा आर्थिक भगोड़ा, बॉम्बे हाईकोर्ट ने बढ़ाई राहत

साजिश की बात में कोई दम नहीं

यह पहली बार है जब डोमिनिका के पीएम रूजवेल्ट स्केरिट ने मेहुल चोकसी और उनके परिवार के आरोपों का जवाब दिया है. चोकसी और उसकी बीवी ने आरोप लगाया था कि डोमिनिका, भारत और एंटीगा-बरबुडा सरकारें मिलकर चोकसी के खिलाफ साजिश कर रही हैं, ताकि चोकसी को भारत लाया जा सके और उसके 13500 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी के मामले में मुकदमा चलाया जा सके.

स्केरिट ने कहा, ‘यह कहना कि डोमिनिका की सरकार ने भारत और एंटीगा सरकार के साथ कोई मिलीभगत की, बिल्कुल निराधार है. कृपया इनपर विराम दें. हम इस तरह की गतिविधियों, उन प्रथाओं में खुद को शामिल नहीं करते हैं. बिल्कुल नहीं. मेरा मतलब है कि यह बेतुका है और हम इसे अस्वीकार करते हैं.’

विपक्ष न दें गैर-जिम्मेदाराना बयान

पीएम रूजवेल्ट स्केरिट ने डोमिनिका में विपक्षी दलों से इस मामले पर “गैर-जिम्मेदाराना बयान” नहीं देने का आग्रह भी किया. डोमिनिका के विपक्ष के नेता लेनोक्स लिंटन ने पिछले महीने आरोप लगाया था कि चोकसी के अपहरण में सरकार की भूमिका थी. प्रधानमंत्री स्केरिट ने रेखांकित किया कि उनकी सरकार कानून को समान रूप से लागू करेगी. भले ही किसी पर कोई भी अपराध करने का आरोप लगाया गया हो.

चोकसी के अधिकारों का सम्मान किया जाएगा
इससे पहले बीते 23 मई को डोमिनिका में पकड़े जाने के बाद पीएम स्केरिट ने पहली बार सार्वजनिक रूप से बयान देते हुए कहा, ‘मेहुल चोकसी के अधिकारों का सम्मान किया जाएगा.’ स्थानीय मीडिया संस्थान ने प्रधानमंत्री के हवाले से कहा कि चोकसी के संबंध में आगे क्या कार्रवाई की जाएगी, इसका फैसला अदालत करेगी.

अपने अपहरण की बताई थे ये कहानी

मेहुल चोकसी की कानूनी टीम ने आरोप लगाया है कि उसे 23 मई को एंटीगा और भारत के पुलिस अधिकारियों ने अगवा कर लिया. अगले दिन उसे एक नाव पर डोमिनिका लाया गया, जहां डोमिनिका के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उसे रिसीव किया. आरोप है कि ये सबकुछ उसे चुपचाप भारत निर्वासित करने के साजिश के तहत था.

कथित गर्लफ्रेंड पर भी लगे थे आरोप

मेहुल चोकसी ने इससे पहले आरोप लगाया है कि उसकी कथित गर्लफ्रेंड बारबरा जबरिका ने उसकी किडनेपिंग में अहम भूमिका निभाई है. इसमें एंटीगा पुलिस के कर्मी होने का दावा करने वाले लोग और भारतीयों की तरह दिखने वाले व्यक्ति शामिल थे.

बता दें कि 13,500 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में भारत में वांछित भगोड़े मेहुल चोकसी के एंटीगा और बारबुडा से रहस्यमयी ढंग से गायब होने के बाद उसे 23 मई को गिरफ्तार कर लिया गया था.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular