Tuesday, April 13, 2021
Home भारत यूरोप, UK से मुंबई आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन, जानें...

यूरोप, UK से मुंबई आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन, जानें कब होगा टेस्ट और क्वारंटाइन पीरियड


ब्रिटेन से आए अब तक 16 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने एसओपी जारी थी, जिसमें कहा गया है कि यूरोप, दक्षिण अफ्रीका और मध्य-पूर्व की फ्लाइट्स से आने वाले यात्रियों का तुरंत RTPCR टेस्ट नहीं किया जाएगा.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 28, 2020, 12:51 AM IST

मुंबई. ब्रिटेन में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्ट्रेन (SARS-CoV-2 स्ट्रेन) के सामने आने के बाद से भारत में भी डर का माहौल है. कोई भी राज्य इस मामले में कोई भी लापरवाही नहीं बरतना चाहता. महाराष्ट्र सरकार ने इन जगहों से आने वाले यात्रियों के लिए एसओपी (SOPs) जारी की है. राज्य सरकार द्वारा एसओपी जारी करने के बाद ग्रेटर मुंबई नगर निगम (Municipal Corporation of Greater Mumbai) ने यूके / यूरोप / मध्य पूर्व / दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों के लि दिशा-निर्देशों में संशोधन किए हैं.

रविवार को नगर निगम की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है कि यात्रियों के मुंबई आगमन के 7 दिन के भीतर कोरोना टेस्ट करवाना होगा. इन देशों से जो लोग आए हैं और उनका कोरोना टेस्ट नेगेटिव आता है तो भी उन्हें 7 दिन होम क्वारंटाइन में रहना होगा.

क्वारंटीन में रहने के बाद होगा यात्रियों का कोरोना टेस्ट
बता दें कि इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने एसओपी जारी थी, जिसमें कहा गया है कि यूरोप, दक्षिण अफ्रीका और मध्य-पूर्व की फ्लाइट्स से आने वाले यात्रियों का तुरंत RTPCR टेस्ट नहीं किया जाएगा. सरकार के मुताबिक उन्हें पेड क्वारंटीन सुविधा दी जाएगी. महाराष्ट्र सरकार द्वारा जारी एसओपी के मुताबिक इन यात्रियों का कोरोना टेस्ट करीब 5 से 7 दिन तक होटल में रहने के बाद ही किया जाएगा. जिससे उनमें संक्रणम का पता लगाया जा सके.भारत में कोरोना के नए स्ट्रेन का डर

नीति आयोग के सदस्य  डॉ वी के पॉल ने कहा कि इसे लेकर डरने की जरूरत नहीं है लेकिन लोगों को और ज्यादा सतर्क होना चाहिए. उन्होंने कहा कि भारत में अब तक इस तरह का वायरस नहीं मिला है और इसके स्वरूप में भी कोई महत्वपूर्ण बदलाव नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए स्वरूप से टीकों के विकास पर कोई असर नहीं पड़ेगा.


<!–

–>

! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular