Saturday, November 27, 2021
Homeविश्वलेस्बियन रिलेशन में आ रही थी रुकावट, कपल ने ऐसे चुप कर...

लेस्बियन रिलेशन में आ रही थी रुकावट, कपल ने ऐसे चुप कर दी 16 महीने की बेटी की जुबान


लंदन: मां और उसके बच्चों के बीच के रिश्ते को दुनिया में सबसे बड़ा माना जाता है. कहा जाता है कि उसके बच्चे तो कपूत निकल सकते हैं लेकिन मां कभी भी अपने बच्चों के अहित के बारे में सोच भी नहीं हो सकती. हालांकि एक मां ने कुछ ऐसा घिनौना काम कर दिया है कि यह कहावत गलत लगने लगी है.

16 महीने की बेटी का मर्डर

द सन की रिपोर्ट के मुताबिक इंग्लैंड के वेस्ट यार्क में रहने वाली एक महिला ने अपनी महिला दोस्त के साथ मिलकर अपने 16 महीने की बच्ची को घर में तड़पा-तड़पा कर मार (Murder) दिया. वे दोनों उस बच्ची को अपने रिलेशन में रुकावट मान रहे थे. जब दोनों को लगा कि अब बच्ची मर चुकी है तो घटना के बाद मेडिकल टीम को बुलाया गया. 

वह टीम बच्ची को अस्पताल लेकर पहुंची लेकिन तब तक उसमें जान नहीं बची थी. दोनों ने अपने गुनाह पर पर्दा डालने के लिए बयान दिया कि 2 साल के दूसरे बच्चे ने उस पर जानलेवा हमला करके मार (Murder) डाला. हालांकि वहां मौजूद तथ्यात्मक सबूतों और बच्चे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से सारा मामला खुल गया.

लेस्बियन पार्टनर के साथ दिया अंजाम

रिपोर्ट के अनुसार वेस्ट यार्क में रहने वाली 20 साल की Frankie Smith तलाक के बाद अपनी 28 साल की लेस्बियन (Lesbian) पार्टनर Savannah Brockhill के साथ रहती हैं. Frankie Smith को 2 साल का बेटा और 16 महीने की बेटी थी. बेटी की नाम Star Hobson था. पुलिस के मुताबिक Frankie और उसकी पार्टनर Savannah को लगता था कि मासूम बेटी दोनों की रिलेशनशिप में समस्या बन रही है तो उन्होंने गुस्से में उसे प्लान बनाकर मार डाला.

बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि उसकी हड्डियां कई जगह से टूटी हुई थी. फिर भी वह जैसे-तैसे जीवित थी और दर्द की वजह से रोती रहती थी. जब Frankie Smith को बेटी का रोना पसंद नहीं आया तो उसने अपनी पार्टनर के साथ मिलकर गूगल पर बच्ची को टॉर्चर करने के तरीके खोजे. इसके बाद एक दिन कंपकंपा देने वाली ठंड में बच्ची की नैप्पी पहनाकर फर्श पर बिठा दिया था. 

मरने के 15 मिनट बाद बुलाई एंबुलेंस

कुछ ही देर में ही बच्ची ठिठुर गई और रोने लगी तो दोनों ने उस पर लात-घूसे बरसाए. डर की वजह से वह वहां से जैसे-तैसे निकलने लगी तो Franki ने उसे उठाकर पटक दिया. नीचे गिरते ही बच्ची शांत हो गई. करीब 15 मिनट तक दोनों बच्ची को ध्यान से देखती रही. जब बच्ची के शरीर में हरकत बंद (Murder) हो गई तो नेशनल हेल्थ सर्विस को कॉल की गई. 

कुछ ही देर में सरकारी एंबुलेंस घर पहुंच गई. मां फ्रेंकी ने उनसे झूठ बोला कि 2 साल के बेटे ने बच्ची पर हमला कर दिया है. बच्ची की नाजुक हालत को देखते हुए उसे हेलीकॉप्टर के जरिए अस्पताल पहुंचाया गया. वहां डॉक्टरों ने उसे मृत (Murder) घोषित कर दिया. डॉक्टरों ने जब बच्ची के शरीर का पोस्टमार्टम किया तो साफ हो गया कि 2 साल का बच्चा इतनी गहरी चोट उस बच्ची को पहुंचा ही नहीं सकता था. इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई.

ये भी पढ़ें- हवस में होश खो बैठी स्कूल टीचर, अपने स्टूडेंट को ही बनाया ‘शिकार’; कोर्ट ने सुनाई सजा

सीसीटीवी फुटेज से खुल गया मामला

पुलिस घर पहुंची तो वहां पर उसे सीसीटीवी फुटेज मिल गई, जिसमें दोनों औरतें उस बच्ची को पीटती हुई दिख रही थी. इसके बाद पुलिस ने दोनों के खिलाफ हत्या और जानलेवा हमले का केस दर्ज कर लिया. इस मामले में दोनों के खिलाफ अदालती कार्रवाई अभी जारी है. अगर उन्हें दोषी पाया गया तो दोनों को उम्र कैद की सजा मिल सकती है. हालांकि दोनों आरोपियों का कहना है कि उन्होंने ये हत्या नहीं की. 

वहीं Frankie Smith की बहन और मां को यकीन नहीं हो रहा है कि उनकी बेटी अपनी ही मासूम को इतनी बेरहमी से मारने (Murder) का काम भी कर सकती है. दोनों का कहना है कि अगर वह मर्डर में दोषी मिलती है तो उसे कड़ी सजा दी जाए. 

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular