Tuesday, July 27, 2021
Home मनोरंजन विक्रांत मैसी बोले- फिल्मों में अब ‘ग्रे’ कैरेक्टर और यथार्थवाद को लोग...

विक्रांत मैसी बोले- फिल्मों में अब ‘ग्रे’ कैरेक्टर और यथार्थवाद को लोग पसंद करने लगे हैं


नई दिल्ली. एक्टर विक्रांत मैसी (Vikrant Massey) का मानना है कि हर व्यक्ति का एक ‘ग्रे’ (अपरिभाषित) कैरेक्टर होता है और आज का सिनेमा उसी का प्रतिबिम्ब है इसलिए फिल्मकार अपनी कहानियों में यथार्थवाद का चित्रण करना चाहते हैं. इसके साथ ही मैसी को विश्वास है कि दर्शक उनकी फिल्म ‘हसीन दिलरुबा’ को पसंद करेंगे जो कि एक छोटे से शहर में गढ़ी गयी रोमांटिक थ्रिलर है.

फिल्म ‘हसीन दिलरुबा’ (Haseen Dillruba) शुक्रवार को नेटफ्लिक्स पर रिलीज कर दी गई है और इसमें मैसी रिशु नामक एक अंतर्मुखी इंजीनयर की भूमिका में हैं जो एक उग्र स्वभाव की महिला के प्रेम में पड़ जाता है लेकिन किसी और व्यक्ति का प्रवेश होने से उनकी शादी संकट में पड़ जाती है.

‘हंसी तो फंसी’ बनाने वाले डायरेक्टर विनिल मैथ्यू द्वारा निर्देशित इस फिल्म में तापसी पन्नू और हर्षवर्धन राणे भी लीड रोल में हैं. मैसी ने कहा कि फिल्म के तीनों किरदार मजबूत विचारों वाले हैं. एक्टर ने पीटीआई-भाषा को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘हमारे कई चेहरे होते हैं और हम प्रतिदिन कई स्तरों पर काम करते हैं. हम समाज में मुखौटा लगाकर रहते हैं और यही इन किरदारों में भी दिखता है. हम यह सिनेमा में प्रतिबिम्बित होते हुए देखते हैं क्योंकि लोगों ने अब सच्चाई को थोड़ा और स्वीकार करना शुरू कर दिया है. इसलिए कहानियों में भी यथार्थवाद ज्यादा दिखाया जाने लगा है.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है सभी को गलतियां करने वाले किरदार पसंद हैं. यह नई चीज है जो आप फिल्मों में देख रहे हैं, ग्रे चरित्र वाले लोग, जिन्हें वास्तव में लोग पसंद करते हैं.’ ‘लुटेरा’, ‘ए डेथ इन द गंज’ और ‘छपाक’ में अपने अभिनय के लिए सराहना बटोर चुके एक्टर ने कहा कि उन्हें स्क्रिप्ट पसंद आई क्योंकि उन्हें आमतौर पर रिशु जैसे किरदार निभाने को नहीं मिलते.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular