Friday, January 28, 2022
Homeशिक्षाशनि के इस चंद्रमा पर छिपा हुआ है गुप्त महासागर! वैज्ञानिकों को...

शनि के इस चंद्रमा पर छिपा हुआ है गुप्त महासागर! वैज्ञानिकों को मिले ये संकेत


वॉशिंगटन: सौर मंडल के दूसरे सबसे बड़े ग्रह शनि के एक चंद्रमा पर महासागर छिपा हो सकता है. खगोलविदों का दावा है कि यहां 32 किलोमीटर मोटी बर्फ की परत मौजूद है जिसके नीचे ये महासागर मौजूद हाे सकता है.

मीमास शनि से सबसे नजदीक और बड़े आकार के चंद्रमाओं में से एक है. इसका व्यास 395 किलोमीटर का है और ये सबसे छोटा खगोलीय पिंड अपने गुरुत्वाकर्षण की वजह से सबसे अधिक गोल है.

नई स्टडी में सामने आई ये बात 

विशेषज्ञों के अनुसार, तस्वीरों और ऑब्जर्वेशन से मीमास चंद्रमा पर किसी भी तरल पानी का कोई संकेत नहीं है, लेकिन कोलोराडो में साउथवेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट के सिमुलेशन से पता चलता है कि इसकी बर्फ की मोटी परत के नीचे एक महासागर छिपा हो सकता है. 

साल 2014 में नासा के कैसिनी अंतरिक्ष यान से ऐसे संकेत मिले कि इस चंद्रमा की सतह के नीचे कुछ पानी होगा. हालांकि अबतक इसकी पुष्टि नहीं हुई है. नई स्टडी में टीम ने छोटे चंद्रमा के आकार और उसकी बनावट संबंधी विशेषता का पता लगाया. इस चंद्रमा को Saturn I के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि यह शनि के छल्लों के सबसे करीब है.

शनि के चंद्रमा के पास महासागर

न्यू साइंटिस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, इस नए अध्ययन की प्रमुख लेखक एलिसा रोडेन ने कहा कि मीमास की ऊपरी सतह पर कोई भी फ्रैक्चरिंग या पिघलने का सबूत नहीं है.  मीमास को देखने पर ये एक छोटी, ठंडी, मृत चट्टान सा दिखाई देता है, लेकिन अगर आप मीमास को अन्य बर्फीले चंद्रमाओं के एक समूह के साथ रखकर देखें तो आप कह सकते हैं कि इस चंद्रमा के पास एक महासागर है.

मीमास की खोज 1789 में की गई थी. इसे खगोलशास्त्री विलियम हर्शल ने अपनी 40 फुट की परावर्तक दूरबीन से खोजा था. नासा के कैसिनी अंतरिक्ष यान ने सबसे पहले इस चंद्रमा के आसपास उड़ान भरी थी और इस चंद्रमा की कई तस्वीरें भी जुटाई थीं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular