Tuesday, April 13, 2021
Home खेल शॉ फिर नाकाम: पृथ्वी शॉ दोनों पारियों में इन-स्विंग पर बोल्ड हुए;...

शॉ फिर नाकाम: पृथ्वी शॉ दोनों पारियों में इन-स्विंग पर बोल्ड हुए; सोशल मीडिया यूजर्स बोले- उनसे बेहतर तो बुमराह हैं


  • Hindi News
  • Sports
  • Prithvi Shaw Failed In Both Innings Of India Vs Australia Day Night Test Gets Trolled Mitchell Starc Pat Cummins

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एडिलेड18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में खेले जा रहे डे-नाइट टेस्ट के दूसरे दिन भारत की दूसरी पारी में पृथ्वी शॉ एक बार फिर नाकाम रहे। शॉ 4 बॉल पर 4 रन बनाकर पैट कमिंस की बॉल पर बोल्ड हुए। पहली पारी में मिचेल स्टार्क ने मैच की दूसरी ही बॉल पर उन्हें शून्य पर बोल्ड किया था।

सोशल मीडिया यूजर्स ने शॉ के खराब फॉर्म को ट्रोल किया। उन्होंने कहा कि आज की तारीख में पृथ्वी से अच्छा तो जसप्रीत बुमराह खेल रहे हैं।

दूसरी पारी में 4 रन पर आउट होने के बाद एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा, पृथ्वी शॉ ने अपनी सेंचुरी 96 रन से मिस कर दी। वहीं दूसरे यूजर ने लिखा BCCI को शॉ का बैटिंग औसत बढ़ाने के लिए जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज करवाना चाहिए, ताकि एक्सपर्ट्स उनकी तारीफ कर सकें।

337 में से 237 रन शॉ ने भारत में बनाए

पृथ्वी शॉ ने इस मैच को मिलाकर अब तक कुल 5 टेस्ट मैच खेले हैं। जिसमें उन्होंने करीब 55 की औसत से 339 रन बनाए हैं। 339 रन में से 237 रन उन्होंने भारत में बनाए हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ अक्टूबर, 2018 में राजकोट में खेले गए टेस्ट मैच में उन्होंने 134 रन की पारी खेली थी। वहीं, वेस्टइंडीज के खिलाफ ही हैदराबाद में उन्होंने 70 रन (पहली पारी) और 33 रन* (दूसरी पारी) बनाए थे।

पृथ्वी शॉ के 5 इंटरनेशनल मैच में खेली गई पारी

पहली पारी दूसरी पारी कुल रन किसके खिलाफ मैदान तारीख
134 नहीं खेले 134 वेस्टइंडीज राजकोट 4 अक्टूबर, 2018
70 33* 103 वेस्टइंडीज हैदराबाद 12 अक्टूबर, 2018
16 14 30 न्यूजीलैंड

वेलिंग्टन

21 फरवरी, 2020
54 14 68 न्यूजीलैंड क्राइस्टचर्च 29 फरवरी, 2020
0 4 4 ऑस्ट्रेलिया एडिलेड 17 दिसंबर, 2020

विदेशी जमीन पर खेले गए 3 टेस्ट में सिर्फ 102 रन

इसके बाद 3 टेस्ट मैच में उन्होंने सिर्फ 102 रन बनाए। ये तीनों मैच विदेशी पिच पर खेले गए। इसी साल फरवरी में वेलिंग्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए टेस्ट में उन्होंने 16 रन (पहली पारी) और 14 रन (दूसरी पारी) की पारी खेली थी। वहीं, क्राइस्टचर्च में इसी टीम के खिलाफ उन्होंने 54 रन (पहली पारी) और 14 रन (दूसरी पारी) बनाए थे।

पृथ्वी शॉ अपनी आखिरी 10 मैच में 5 बार शून्य पर आउट हुए

बैटिंग टीम किसके खिलाफ ग्राउंड, तारीख
0 और 4 रन भारत ऑस्ट्रेलिया एडिलेड,
40 रन और 3 रन इंडियंस ऑस्ट्रेलिया A सिडनी, 11 दिसंबर 2020
0 और 19 रन इंडियंस ऑस्ट्रेलिया A सिडनी, 6 दिसंबर 2020
0 दिल्ली कैपिटल्स मुंबई इंडियंस दुबई, 5 नवंबर, 2020 (IPL)
9 रन दिल्ली कैपिटल्स रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु अबु धाबी, 2 नवंबर, 2020 (IPL)
10 रन दिल्ली कैपिटल्स मुंबई इंडियंस दुबई, 31 अक्टूबर, 2020 (IPL)
7 रन दिल्ली कैपिटल्स किंग्स इलेवन पंजाब दुबई, 20 अक्टूबर, 2020 (IPL)
0 दिल्ली कैपिटल्स सुपर किंग्स शारजाह, 17 अक्टूबर, 2020 (IPL)
0 दिल्ली कैपिटल्स राजस्थान रॉयल्स दुबई, 14 अक्टूबर, 2020 (IPL)
4 रन दिल्ली कैपिटल्स मुंबई इंडियंस अबु धाबी, 11 अक्टूबर, 2020 (IPL)

शॉ को कोचिंग देने वाले ज्वाला सिंह ने भास्कर से की बातचीत

2015 से टीम इंडिया में सिलेक्ट होने तक पृथ्वी शॉ को ट्रेनिंग देने वाले कोच ज्वाला सिंह ने उनका समर्थन किया। उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया की परिस्थितियां ओपनर के लिए चुनौती होती हैं। वसीम जाफर ने टेस्ट क्रिकेट में इंडिया के लिए अच्छे रन बनाए हैं, लेकिन जब वह ऑस्ट्रेलिया गए, तो वहां पर वह बेहतर नहीं कर पाए। पहली पारी में विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा को छोड़कर सारे बल्लेबाजों को संघर्ष करना पड़ा।’

पृथ्वी को विकेट पर रुकने की जरूरत

ज्वाला सिंह ने कहा, ‘पृथ्वी के पास ऑस्ट्रेलिया के पिच पर खेलने का अनुभव नहीं है। मुझे लगता है कि उसे विकेट पर रुक कर खेलने की आदत डालनी होगी। वह शुरू से ही अटैकिंग क्रिकेट खेलता है। अटैकिंग खेलना बहुत अच्छी चीज है। लेकिन मुझे लगता है कि जब बॉलर अच्छी बॉलिंग कर रहा हो, तो उस समय खुद को थोड़ा कंट्रोल करना चाहिए। आपको विकेट पर टाइम देना पड़ता है। जब वह विकेट पर रहना सीख जाएगा, तो मुझे लगाता है कि वह बड़ा स्कोर कर सकेगा।’

जोड़ से हिट करने के चक्कर में आउट होते हैं शॉ: मूडी

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर टॉम मूडी का कहना है कि शॉ एक बेहतरीन टैलेंट हैं, लेकिन वे गेंद को जोड़ से हिट करना चाहते हैं। इस वजह से उनका बैलेंस बिगड़ जाता है। यही कारण है कि उनके बैट और पैड के बीच काफी स्पेस रह जाता है। जोड़ से हिट करने की वजह से हाथ उनके शरीर से दूर चले जाता है।

पोंटिंग ने कहा- इनस्विंग है शॉ की कमजोरी

वहीं, IPL में शॉ की टीम दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने गुरुवार को शॉ के ठीक इसी प्रकार आउट होने की भविष्यवाणी की थी। पोंटिंग ने कमेंट्री के दौरान कहा था कि इनस्विंग बॉल खेलते वक्त शॉ की आदत बैट और पैड के बीच गैप रखने की है। पोंटिंग ने कहा था कि शॉ की बल्लेबाजी में अगर कोई कमी है, तो वह है अंदर आती गेंद को खेलने की उनकी टेक्नीक।

पोंटिंग की भविष्यवाणी हुई सच

पोंटिंग ने कहा था कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज उन्हें इनस्विंग से परेशान कर सकते हैं। पोंटिंग की इस भविष्यवाणी को पहली पारी में मिचेल स्टार्क और दूसरी पारी में पैट कमिंस ने सही साबित किया। IPL में भी शॉ खराब फॉर्म से जूझ रहे थे। इसके बाद पोंटिंग ने उन्हें टीम से बाहर कर दिया था।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular