Friday, January 21, 2022
Homeखेलसचिन तेंदुलकर को बूढ़ा बोल रहे थे माइकल क्लार्क, फिर सहवाग ने...

सचिन तेंदुलकर को बूढ़ा बोल रहे थे माइकल क्लार्क, फिर सहवाग ने इस रिएक्शन से मचा दी सनसनी


नई दिल्ली: भारत के महान बल्लेबाज रहे सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है. अपने करियर के दौरान सचिन तेंदुलकर ने कभी भी बिना वजह किसी भी विरोधी खिलाड़ी से पंगा नहीं लिया, लेकिन कई खिलाड़ी ऐसे भी थे जो सचिन तेंदुलकर पर कमेंट करने से बाज नहीं आते थे. एक बार क्रिकेट के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज माइकल क्लार्क सचिन तेंदुलकर पर कमेंट कर उन्हें बूढ़ा बोल रहे थे. इस पर सचिन ने तो कोई जवाब नहीं दिया, लेकिन उनके साथ बल्लेबाजी कर रहे वीरेंद्र सहवाग ने जो जवाब दिया, उसने सनसनी मचा दी.

सचिन को बूढ़ा बोल रहे थे माइकल क्लार्क

कॉमेडियन कपिल शर्मा के एक शो के दौरान वीरेंद्र सहवाग ने इस घटना का जिक्र करते हुए कहा, ‘मैं और सचिन तेंदुलकर एक मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बल्लेबाजी कर रहे थे. उन दिनों ऑस्ट्रेलियाई टीम में माइकल क्लार्क की नई-नई एंट्री हुई थी. मेरी और सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी के दौरान क्लार्क लगातार सचिन पाजी पर छींटाकशी कर रहे थे. वो सचिन के बारे में कह रहे थे कि आप उम्रदराज हो चुके हो. अब आप फिल्डिंग नहीं कर सकते. आप ये नहीं कर सकते वो नहीं कर सकते.’

सहवाग के इस जवाब ने मचा दी सनसनी 

वीरेंद्र सहवाग ने आगे बताया कि काफी देर तक क्लार्क की छींटाकशी सुनने के बाद वह क्लार्क के पास गए. सहवाग ने क्लार्क से उनकी उम्र के बारे में पूछा, ‘तुम्हारी क्या उम्र हैं? तो क्लार्क ने जवाब दिया -23 साल. इस पर सहवाग ने कहा, ‘तुम्हे पता है सचिन के टेस्ट में शतकों की संख्या तुम्हारी उम्र से भी कहीं ज्यादा हैं.’ इतना सुनने के बाद भी माइकल क्लार्क नहीं माने तब सहवाग एक बार फिर क्लार्क के पास गए और उनसे कहा कि तुम्हारे दोस्त तुमको पप (पप) कहते हैं? तो क्लार्क ने कहा- हां. इस पर सहवाग ने एक और प्रश्न कर डाला, ‘तो कौन-सी नस्ल के हो?’ इतना सुनकर माइकल क्लार्क का मुंह देखने लायक हो गया.

सहवाग हमेशा देते थे स्लेजिंग का जवाब

क्रिकेट में दूसरे खिलाड़ियों का ध्यान भटकाने के लिए स्लेजिंग की जाती है. सचिन के बारे में यह कहा जाता था कि उनको कोई कुछ भी बोलता था तो उनका कान बंद रहता था. उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता था. हालांकि, सचिन के खिलाफ होने वाली स्लेजिंग का जवाब हमेशा सहवाग देते थे. बता दें कि सचिन और सहवाग भारतीय क्रिकेट के वे नाम हैं, जिन्हें शायद ही कभी कोई भूल सकता है. सचिन ने साल 2013 में ही क्रिकेट को अलविदा कह दिया था तो सहवाग ने साल 2015 में क्रिकेट से रिटायरमेंट ले ली थी.

सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड्स 

बता दें कि सचिन को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है. उन्होंने अपने करियर के दौरान वनडे में 15,921 और टेस्ट में 18,426 रन बनाए हैं. सभी प्रारूपों को मिलाकर सचिन के नाम 100 अंतरराष्ट्रीय शतक हैं. बता दें कि सचिन तेंदुलकर के नाम वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक जड़ने का रिकॉर्ड है. 24 फरवरी 2010 को सचिन ने वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट का पहला दोहरा शतक जड़ा.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular