Sunday, January 16, 2022
Homeराजनीतिसपा के बागी नितिन अग्रवाल और नरेन्द्र सिंह वर्मा आमने-सामने: सदन के...

सपा के बागी नितिन अग्रवाल और नरेन्द्र सिंह वर्मा आमने-सामने: सदन के दिवंगत को श्रद्धांजलि देने के बाद शुरु होगी यूपी विधान सभा उपाध्यक्ष पद के चुनाव की प्रक्रिया


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • After Paying Tribute To The Departed Of The House, The Process Of Election For The Post Of Deputy Speaker Of The UP Legislative Assembly Will Start.

लखनऊएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
विधान सभा के इस विशेष सत्र के कार्यक्रम को रविवार को बैठक  कर अंतिम रूप दे दिया गया है। - Dainik Bhaskar

विधान सभा के इस विशेष सत्र के कार्यक्रम को रविवार को बैठक  कर अंतिम रूप दे दिया गया है।

विधान सभा के विशेष सत्र के सोमवार को शुरु होगा। यूपी विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने बताया कि दो सदस्यों का विधानसभा उपाध्यक्ष का निवार्चन स्वीकार हुआ है। सोमवार को सुबह 11 बजे सदन में दिवंगत सदस्यों की शोक संवेदना व्यक्त की जाएगी। इसके बाद उपाध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी। विधान सभा के इस विशेष सत्र के कार्यक्रम को रविवार को बैठक कर अंतिम रूप दे दिया गया है।

भाजपा के पास बहुमत, नितिन का जीतना तय
विधानसभा में भाजपा का बहुमत है। ऐसे में नितिन अग्रवाल के उपाध्यक्ष पद पर विजयी होने में कोई संशय नहीं दिखता है। लेकिन सपा ने प्रत्याशी उतारा तो नितिन के निर्विरोध चुने जाने की भाजपा की रणनीति को धक्का जरूर लगा है।

मौजूदा समय में विधानसभा में सदस्यों की संख्या
भाजपा-304
समाजवादी पार्टी-49
बसपा-16
अपना दल (एस) -09
कांग्रेस-7
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी – 4
राष्ट्रीय लोक दल-1
निर्बल इंडियन शोषित समाज-1
नॉमिनेटेड – 1
बिना पार्टी वाले – 2
रिक्त – 7

नितिन अग्रवाल और नरेन्द्र सिंह वर्मा ने दाखिल किया था नामांकन
भाजपा से सपा के बागी नितिन अग्रवाल ने नामांकन किया तो सपा से सीतापुर के महमूदाबाद से विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा ने रविवार को पर्चा दाखिल किया है। अब 18 अक्टूबर को मतदान होगा। यह पहली बार है जब चुनाव होने जा रहा है। नितिन अग्रवाल पूर्व मंत्री नरेश अग्रवाल के बेटे हैं। उपाध्यक्ष संसदीय परंपरा के मुताबिक विधानसभा में मुख्य विपक्षी दल का होना चाहिए। भाजपा नितिन अग्रवाल को मैदान में उतारकर यह जताना चाहती है कि उसने संसदीय परंपरा का निर्वहन करते हुए सपा के ही विधायक का चयन किया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular