Monday, May 10, 2021
Home भारत सरकार जल्द लाएगी एक और राहत पैकेज, वित्त सचिव ने दिए संकेत,...

सरकार जल्द लाएगी एक और राहत पैकेज, वित्त सचिव ने दिए संकेत, जानिए क्या होगा खास


नई दिल्ली: देशभर में फैले कोरोना वायरस से उद्योग-धंधों को पटरी पर लाने और युवाओं के रोजगार के लिए सरकार एक और राहत पैकेज ला सकती है. वित्त सचिव अजय भूषण पांडेय (finance secretary ajay bhushan pandey) ने रविवार को इस बारे में जानकारी दी है. वित्त सचिव के मुताबिक, सरकार एक दूसरे स्टिमुलस पैकेज (COVID-19 Stimulus Package) पर काम कर रही है. ये पैकेज कब तक आएगा इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है.

सरकार स्थिति की कर रही जांच
वित्त सचिव अजय भूषण पांडे ने एएनआई को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि सरकार लगातार जमीनी स्तर तक स्थिति की निगरानी कर रही है. इसके साथ ही इकोनॉमी को बूस्ट देने के लिए और सेक्टर के हिसाब से मदद मुहैया कराने का प्लान कर रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि हम उद्योग निकायों, व्यापार संघों, विभिन्न मंत्रालयों से सुझाव समय-समय पर लेते रहते हैं.

यह भी पढ़ें: अब आप अपने फेवरेट कार्टून छोटा-भीम और मोटू-पतलू के जरिए कर सकेंगे मोटी कमाई, जानिए कैसेटाइमफ्रेम के बारे में नहीं दी कोई जानकारी

इसके साथ ही पांडेय ने कहा कि वह इस पैकेज के आने का कोई तय टाइमफ्रेम नहीं बता सकते, लेकिन हां सरकार इसपर काम कर रही है और आगे की प्रक्रिया पर विचार-विमर्श हो रहा है.

विकास की ओर बढ़ रही अर्थव्यवस्था
इकोनॉमी की वर्तमान स्थिति पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था ठीक होने की राह पर है. सरकार की ओर से किए जा रहे लगातार प्रयासों से इकोनॉमी विकास की ओर बढ़ रही है. इसके अलावा अक्तूबर का जीएसटी संग्रह 105,155 करोड़ रुपये रहा है, जो पिछले साल के इसी महीने के लिए सालाना आधार पर 10 फीसदी अधिक है. इसके अलावा, देश ने बिजली की खपत, निर्यात और आयात में वृद्धि देखी है.

बढ़ा GST कलेक्शन

इसके अलावा वित्त सचिव ने कहा कि इस बार जीएसटी कलेक्शन बढ़ा गै. इकोनॉमी सुधार के साथ-साथ विकास भी कर रही है. इस साल की अप्रैल-अक्तूबर तिमाही की बात करें तो इस दौरान सकल प्रत्यक्ष कर संग्रह पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 22 प्रतिशत घटकर 4.95 लाख करोड़ रुपये रहा.

यह भी पढ़ें: LPG Gas Cylinder: दिवाली के मौके पर आम आदमी के लिए खुशखबरी, अब 50 रुपए सस्ते में बुक करें रसोई गैस

टैक्स सिस्टम नहीं सुधरता तो और ज्यादा होता महामारी का असर
उन्होंने कहा कि अगर टैक्स सिस्टम में सुधान नहीं होता तो देश में महामारी का असर और भी ज्यादा होता. पिछले साल हमने फेसलेस मूल्यांकन, फेसलेस अपील, एसएफटी (वित्तीय लेनदेन का बयान), टीडीएस लागू करके नकद निकासी पर रोक जैसे कदम उठाए.

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular