Saturday, November 27, 2021
Homeभारत'सिद्धू को सोच समझकर बोलना चाहिए', इमरान को 'बड़ा भाई' बताने पर...

‘सिद्धू को सोच समझकर बोलना चाहिए’, इमरान को ‘बड़ा भाई’ बताने पर बोले राशिद अल्वी


नई दिल्ली. पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने ‘बड़ा भाई’ बयान के चलते एक बार फिर पार्टी को मुश्किल में डाल दिया है. हालांकि, कांग्रेस का कहना है कि उनके इस बयान से पार्टी को कोई नुकसान नहीं होगा. पार्टी के वरिष्ठ नेता राशिद अल्वी (Rashid Alvi) ने सलाह दी है कि सिद्धू को सोच समझकर बोलना चाहिए. शनिवार को करतारपुर कॉरिडोर के जरिए पाकिस्तान में करतारपुर साहिब गुरुद्वारा पहुंचे सिद्धू ने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान को कथित रूप से ‘बड़ा भाई’ बताया था.

इमरान खान को बड़ा भाई बताने के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर भी निशाना साधा है. इस मुद्दे पर न्यूज18 ने कांग्रेस नेता अल्वी से बात की. उन्होंने मामले में राहुल गांधी का नाम आने पर भी सफाई दी है. साथ ही कहा है कि सिद्धू के इस तरह के बयानों से देश को भी नुकसान होगा.

सवाल-नवजोत सिंह सिद्धू बयान देकर एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं पाकिस्तान को लेकर?
जवाब–सवाल विपक्ष का नहीं है इमरान खान ना हमारा भाई है और ना ही हमारा दोस्त है. और जो लोग दोस्त और दुश्मन में तमीज नहीं कर सकते हैं उनके भविष्य पर हमेशा सवालिया निशान लगा रहता है.

सवाल- क्या सिद्धू कांग्रेस के लिए मुश्किल खड़ी कर रहे हैं?
जवाब– मैं उन्हें मशवरा दूंगा कि बहुत सोच समझ कर उनको बोलना चाहिए. उनके इस तरह के बयान से न सिर्फ कांग्रेस पार्टी को नुकसान होगा बल्कि देश को नुकसान होगा.

सवाल- इससे पहले भी सिद्धू का कई बार पाकिस्तान प्रेम सामने आया था?
जवाब– इससे पहले भी वह कई बार इस तरह के बयान देते रहे हैं उनके तालुकात इमरान खान से हो सकते हैं, लेकिन आज की तारीख में भारत का कोई रिश्ता ना पाकिस्तान से है और ना ही इमरान खान से है.

सवाल- बाजवा को उन्होंने गले लगाया था और कांग्रेस के अंदर ही उनका मुखर विरोध हुआ था?
जवाब– उनके गले लगाने से देश के अंदर लोगों को तकलीफ हुई थी और खासकर जो आदमी हमारे फौजियों को शहीद करता रहा हो और आतंक फैलाता रहा हो उसके साथ कैसे गले मिला जा सकता है?

सवाल- क्या सिद्धू के इन बयानों से पंजाब में कांग्रेस को नुकसान हो सकता है?
जवाब– कांग्रेस पार्टी सिर्फ सिद्धू का नाम नहीं है. कांग्रेस पार्टी पंजाब में एक बड़ी ताकत है और कांग्रेस पार्टी की विचारधारा पूरा देश और पंजाब जानता है. उनके इन बयानों से कांग्रेस को कोई नुकसान नहीं होगा.

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड चुनावः ऑटो-टैक्सी वालों से बोले अरविंद केजरीवाल- आप सरकार बनवा दो, बाकी जिम्मेदारी मेरी

सवाल- इस तरह के बयान सिद्धू बार-बार देते हैं और कांग्रेस को मुश्किल में डाल देते हैं लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है?
जवाब– उनकी और इमरान की हमेशा से दोस्ती रही है इसीलिए इसको नजरअंदाज किया जाता रहा है. लेकिन मैं फिर मशवरा दूंगा कि सिद्धू जी को पाकिस्तान और इमरान खान को लेकर उनके व्यक्तिगत रिश्ते हो सकते हैं, लेकिन सोच समझकर बयान देना चाहिए. देश का इंटरेस्ट पहला इंटरेस्ट है.

सवाल- बीजेपी ने कहा कि पंजाब बहुत ही संवेदनशील राज्य है और बॉर्डर के नेताओं को संवेदनशील होकर बयान देना चाहिए?
जवाब– बीजेपी एक-एक नब्ज पकड़कर राजनीति करने का काम करती है. बीजेपी बजाय विकास पर तवज्जो देने के वह इसी तरह के अल्फाज पकड़कर राजनीति करना चाहती है.

सवाल- बीजेपी ने यह भी कहा है कि सिद्धू ने राहुल गांधी के कहने पर बयान दिया?
जवाब– यह बिल्कुल गलत और बेबुनियाद बात है. राहुल गांधी को क्या जरूरत है कि वह सिद्धू से बयान दिलाएंगे. राहुल गांधी को बयान देना होगा तो खुद ट्वीट करेंगे और बयान देंगे. बीजेपी की यही आदत है कि वह बेबुनियाद इल्जाम विपक्ष के नेताओं पर लगाकर उनकी इमेज देश में खराब करना चाहती है.

सवाल- बीजेपी ने ये भी कहा है कि यह एक्सीडेंटल बयान नहीं है कांग्रेस के कई नेताओं ने इससे पहले भी इस तरह के बयान दिए हैं?
जवाब– मैं इस बात से इत्तेफाक नहीं करता हूं कि यह एक्सीडेंटल नहीं है. सिद्धू के बयानों से मैं इत्तेफाक नहीं रखता, लेकिन इसके बावजूद सिद्धू वहां पूजा करने गए उसी में उन्होंने यह बयान दे दिया तो यह नहीं कहा जा सकता यह एक्सीडेंटल नहीं है.

सवाल- क्या सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए?
जवाब– मैं कहता हूं कि उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं होनी चाहिए, लेकिन उनको समझने की और समझाने की जरूरत है.

Tags: Bada Bhai, Imran khan, Kartarpur Sahib, Navjot singh sidhu, Rashid Alvi, Sidhu Controversy





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular