Saturday, November 27, 2021
Homeशिक्षास्पेस से मिले रहस्यमय सिग्नल एलियंस ने नहीं भेजे, तो आखिर कैसे...

स्पेस से मिले रहस्यमय सिग्नल एलियंस ने नहीं भेजे, तो आखिर कैसे आए ये?


नई दिल्ली. इस ब्रह्मांड में पृथ्वी के अलावा भी कहीं जीवन है इसकी खोज में कई साल से दुनियाभर के वैज्ञानिक लगे हुए हैं. हालांकि अब तक इस बात के कोई सबूत नहीं मिले हैं. अप्रैल 2019 में स्पेस साइंटिस्ट्स को स्पेस से एक रेडियो सिग्नल मिला. शुरुआत में सबको लगा कि ये एलियंस ने भेजा है. लेकिन हाल ही में आई एक रिपोर्ट में कहा गया कि ये सिग्नल एलियंस ने नहीं भेजा है लेकिन अब तक ये रहस्य बना हुआ है कि आखिर ये सिग्नल आया कहां से.

सिग्नल में हैं विशेष गुण 

डेली स्टार में छपी एक खबर के अनुसार कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के एंड्रयू सीमियन ने उस समय कहा था कि सिग्नल में कुछ विशेष गुण हैं, हम लगातार इस पर रिसर्च कर रहे हैं लेकिन अभी तक इसको एक्सप्लेन नहीं  कर सके हैं.

ये भी पढ़ें: वैज्ञानिकों ने आखिर खोज निकाला ऐसा जीव, जो ‘मरता’ ही नहीं

पार्क्स मुरियांग रेडियो टेलीस्कोप  से लगा था पता

जानकारी के अनुसार इस सिग्नल के बारे में पार्क्स मुरियांग रेडियो टेलीस्कोप द्वारा पता लगाया गया. टेलिस्कोप द्वारा पता चला कि ये सिग्नल प्रॉक्सिमा सेंटॉरी की दिशा से आता हुआ प्रतीत हुआ था. प्रॉक्सिमा सेंटॉरी एक क्षुद्र गृह है, जो पृथ्वी से 4.22 प्रकाश वर्ष दूर है. धरती के आकार का प्रॉक्सिमा बी इसकी परिक्रमा करता है और इसकी खोज 2016 में हुई थी. यह सौर मंडल के इतर सबसे करीबी ग्रह है और इस ग्रह मंडल में एक ग्रह के अलावा भी चीजें हैं.

प्रॉक्सिमा सेंटॉरी की तरफ से मिले थे सिग्नल

स्पेस से जो रेडियो सिग्नल मिले थे वे आम विमानों से मिलने वाले सिग्नल्स की तरह थे जिनकी रेंज सीमित होती होती है. लेकिन ये सिग्नल करीब 5 घंटे तक जारी रहे थे. जब टेलिस्कोप को प्रॉक्सिमा सेंटॉरी की दिशा में ले जाया गया केवल तभी ये सिग्नल्स मिले थे. 2019 में मिले रेडियो सिग्नल को BLC1 नाम दिया गया था.

ये भी पढ़ें: रहस्यमय तरीके से धीमी पड़ी धरती के घूमने की रफ्तार, बढ़ा इस बात का खतरा

मानव जीवन के लिए रहने लायक नहीं है प्रॉक्सिमा 

इस सिग्नलस पर स्टडी कर रहे साइंटिस्ट डैनी प्राइस ने बताया कि उन्हें नहीं लगता कि ये मानव जीवन के लिए रहने लायक ग्रह है. हालांकि ये पृथ्वी के काफी नजदीक है और इसे देखना भी आसान है. उन्होंने कहा कि BLC1 केवल प्रॉक्सिमा की ओर ऑन-सोर्स पॉइंटिंग में पाया गया. हम नहीं जानते कि वास्तव में ऐसा क्यों हुआ था.

बिना सबूत नहीं की जा सकता घोषणा 

डॉ. प्राइस ने कहा कि ये सिग्नल मिलना किसी नई खोज की शुरुआत हो सकते हैं लेकिन हम बिना किसी ठोस सबूत के कोई घोषणा नहीं कर सकते. पृथ्वी के अलावा किसी और जगह जीवन होने की बात साबित करने के लिए उच्च स्तर की जानकारी और सबूत चाहिए, जो कि अभी हमारे पास नहीं हैं. अभी इन सिग्नल्स के बारे में और रिसर्च करने की जरूरत है.

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular