Friday, January 28, 2022
Homeखेल'हिम्मत है तो मेरी बॉल पर छक्का मारो', PAK दिग्गज की स्लेजिंग...

‘हिम्मत है तो मेरी बॉल पर छक्का मारो’, PAK दिग्गज की स्लेजिंग पर सचिन ने इस रिएक्शन से चौंकाया


नई दिल्ली: मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने जब 16 साल की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा, तो उनका सामना एक बार पाकिस्तान के दिग्गज स्पिनर अब्‍दुल कादिर से हुआ था. अब्‍दुल कादिर ने सचिन तेंदुलकर की बैटिंग को परखने के लिए एक बार उन्हें कहा, ‘दम है तो मेरी गेंद पर छक्का मारकर दिखाओ.’

कादिर ने सचिन को छक्का मारने के लिए उकसाया

दरअसल, ये वाकया साल 1989 में पेशावर के एक फ्रेंडली मैच के दौरान का था, जब पाकिस्तान के दिग्गज स्पिनर लेग अब्‍दुल कादिर ने सचिन को उनकी गेंद पर छक्का मारने के लिए उकसाया था. उस वक्त सचिन तेंदुलकर वर्ल्ड क्रिकेट में नई-नई सनसनी बनकर आए थे और वो सिर्फ 16 साल के थे. पाकिस्‍तानी फैंस युवा सचिन का मजाक उड़ाते थे. कुछ दर्शकों ने पोस्टर पर ‘दूध पीता बच्चा… घर जाकर दूध पी’ लिखकर सचिन का मजाक उड़ाया था, लेकिन सचिन इन सबसे जरा भी परेशान नहीं हुए.

अब्दुल कादिर गुस्से में आ गए

साल 1989 में पेशावर में हुए इस प्रदर्शनी मैच में सचिन ने पाकिस्‍तानी गेंदबाज मुश्ताक अहमद के ओवर में दो छक्‍के लगाए. कम उम्र के सचिन की ऐसी शानदार बल्लेबाजी देखकर टीम के पाकिस्‍तानी टीम के सीनियर खिलाड़ी अब्दुल कादिर गुस्से में आ गए. कादिर सचिन के पास गए और बोले ‘बच्चों को क्यों मार रहे हो, हमें भी मार कर दिखाओ.’ 

फिर सचिन ने दिखाया ये एक्शन 

सचिन ने कादिर की इस बात का मुंह से कोई जवाब नहीं दिया. इसके बाद कादिर जब गेंदबाजी करने आए, तो सचिन ने उनके ओवर में लगातार तीन छक्के ठोक दिए. कादिर को एहसास हो चुका था कि उन्‍होंने सचिन को ऐसा बोलकर गलत किया. कादिर ने सचिन की बल्लेबाजी देखकर ताली बजाई और सम्‍मान में सचिन के सामने हाथ तक जोड़ लिए.

लगातार तीन छक्के जड़ दिए

इंडिया टुडे को दिए एक इंटरव्यू में अब्दुल कादिर ने खुलासा किया था, जिसमें उन्होंने सचिन से कहा था, ‘ये कोई वनडे मैच नहीं है, इसलिए तुम्हें मुझे छक्के मारने की कोशिश करनी चाहिए. और अगर तुम मार दोगे तो तुम स्टार बन जाओगे. उसने मुझसे कुछ नहीं कहा और सीधे मुझे लगातार तीन छक्के जड़ दिए.’

अब्दुल कादिर को नहीं थी सचिन से ये उम्मीद

अब्दुल कादिर ने सचिन की इस पारी के बारे में कहा था, ‘मुझे एक ही ओवर में इससे पहले किसी ने लगातार तीन छक्के नहीं मारे थे. यकीन मानिए मैंने अपने पूरे तजुर्बे के साथ गेंद डाली, लेकिन इस लड़के ने मेरी ही धुनाई कर दी. गौरतलब है कि 463 वनडे मैच खेलने वाले सचिन तेंदुलकर ने इस फॉर्मेट में 18,426 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 49 शतक समेत 96 अर्धशतक ठोके. सचिन ने 200 टेस्ट मैचे खेले, जिसमें 51 शतक और 68 अर्धशतक की मदद से 15,921 रन बनाए हैं.

क्रिकेट के इतिहास में सबसे बेस्ट स्पिन गेंदबाज

अब्दुल कादिर को टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे बेस्ट स्पिन गेंदबाज कहा जाता है. अब्दुल कादिर की ‘दूसरा’ समझना हर किसी के बस की बात नहीं थी. अब्दुल कादिर 10 अलग तरीके से गेंद फेंक सकते थे. अब्दुल कादिर ने पाकिस्तान के लिए 67 टेस्ट, 104 वनडे खेले हैं, जिसमें उन्होंने 236 और 132 विकेट लिए हैं. अब्दुल कादिर का साल 2019 में निधन हो गया था. 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular