Monday, April 12, 2021
Home राजनीति 2021 का स्वागत: दशाश्वमेध घाट पर साल के अंतिम दिन मां गंगा...

2021 का स्वागत: दशाश्वमेध घाट पर साल के अंतिम दिन मां गंगा की आरती में महामारी कोरोना से मुक्ति की कामना


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • On The Last Day Of The Year At Dashashwamedh Ghat, The Ganga Aarti Wished For Freedom From The Epidemic Corona, The Year 2021 Was Welcomed By Lighting A Lamp

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाराणसी5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

गंगा आरती में लोगो के अंदर नये साल का उत्साह दिखा।

दशाश्वमेध घाट की होने वाली मां गंगा की महाआरती गुरुवार शाम को और विशेष हो गई। आयोजक समिति गंगा सेवा निधि ने दीप जलाकर नये साल का स्वागत किया। ब्राह्मणों द्वारा मां गंगा का वैदिक मंत्रों के साथ विशेष पूजन किया गया। गंगा आरती में कोरोना महामारी से पूरे विश्व और देश को मुक्ति दिलाने की कामना की गई। नया साल सभी का खुशियों भरा हो यही प्रार्थना की गई।

लॉकडाउन में एक ब्राह्मण द्वारा सांकेतिक आरती की जाती थी

गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्रा ने बताया साल 2020 पूरी दुनियां के लिये कष्टकारी रहा है। पूरा विश्व महामारी कोरोना से जूझ रहा है। मां गंगा की आरती में साल के आखरी दिन सभी के लिए मंगल कामना किया गया है। दुनियां भर से पर्यटक, श्रद्धालु आरती देखने आते है। कोरोना के चलती इस साल काफी कमी भी आ गई।

1990 में गंगा सेवा निधि के संस्थापक सतेंद्र मिश्रा ने एक ब्राह्मण से आरती की शुरुआत की थी। अब नित्य दिन 7 ब्राह्मण आरती को संपन्न कराते है। 18 मार्च को कोविड – 19 के चलते आरती को सांकेतिक कर दिया गया था। 21 नवंबर से सभी नियमों का पालन करते हुए श्रद्धालुओं को भी आरती में शामिल होने की अनुमति प्रदान की गई।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular