Saturday, November 27, 2021
Homeविश्व40 साल से जेल की सजा काट रहा शख्स, पूछा गया गुनाह-...

40 साल से जेल की सजा काट रहा शख्स, पूछा गया गुनाह- जवाब ने सबको चौंकाया


केन्सास: अमेरिका की केन्सास सिटी (Kansas City) में तीन लोगों की हत्या के मामले में 40 साल से जेल में बंद एक शख्स एक बार फिर खुद को बेगुनाह बताया है. मामले की सुनवाई के दौरान सोमवार को शख्स ने कहा कि अपराध से उसका कोई लेना-देना नहीं है. इतने साल बाद भी उसके समर्थक और विरोधी इस केस में अपने-अपने तर्क सही ठहराने में जुटे हुए हैं.

साल 1979 में मिली थी सजा

दोषी केविन स्ट्रिकलैंड (Kevin Strickland) ने कहा, ‘मेरा इन हत्याओं से कोई लेना-देना नहीं है और मैं किसी भी तरह घटनास्थल के करीब भी नहीं था.’स्ट्रिकलैंड ने कहा कि 1979 में सजा सुनाए जाने के बाद से ही, वह रिहा होने के लिए लड़ाई लड़ रहा है. जैक्सन काउंटी प्रोसिक्यूटर जीन पीटर्स बेकर समेत कानूनी एक्सपर्ट और राजनेताओं का कहना है कि स्ट्रिकलैंड को दोषी ठहराए जाने में गलती हुई है.

जीन पीटर्स बेकर ने कहा कि उसे दोषी ठहराए जाने में इस्तेमाल हुए सबूत खारिज कर दिए गए थे या उन्हें नामंजूर कर दिया गया था. उन्होंने कहा, ‘यह ट्रिपल मर्डर (Triple Murder) केस से जुड़ा मामला है, जिसमें तीन युवाओं की हत्या की गई थी. इस मामले में केविन स्ट्रिकलैंड को दोषी ठहराए जाने से यह बर्बर घटना बदतर हो गई.’

पीड़िता ने की थी स्ट्रिकलैंड की पहचान

स्ट्रिकलैंड के मामले में गवाहों की पेशी के लिए सुनवाई, कानूनी प्रक्रियाओं के कारण महीनों की देरी के बाद सोमवार को हुई. सुनवाई ज्यादातर राज्य अटॉर्नी जनरल के दफ्तर की तरफ से दायर प्रस्तावों के कारण टल रही थी. रिपब्लिकन अटॉर्नी जनरल एरिक श्मिट ने कहा कि उनका मानना ​​है कि स्ट्रिकलैंड हत्याओं का दोषी है.

स्ट्रिकलैंड और अटॉर्नी जनरल के दफ्तरों के वकीलों ने शुरुआती बयानों के दौरान कहा था कि गोलीबारी में जिंदा बची सिंथिया डगलस ने अपने बयान में स्ट्रिकलैंड की पहचान हमलावर के तौर पर की थी. स्ट्रिकलैंड के समर्थकों का कहना है कि मृत्यु से पहले डगलस अपने बयान से मुकर गई थी.

फोन रिकॉर्ड के सबूत मौजूद

अटॉर्नी जनरल के कार्यालय में असिस्टेंट प्रोसेक्यूटर एंड्रयू क्लार्क ने कहा कि स्ट्रिकलैंड को दोषी ठहराने के लिए सबूत मौजूद हैं. डगलस और उनके पति के बीच फोन पर हुई बातचीत के रिकॉर्ड मौजूद हैं, जिसमें डगलस ने कहा था कि वह स्ट्रिकलैंड की बेगुनाही साबित करने के लिए उसकी मदद करने में कोई दिलचस्पी नहीं रखतीं.

ये भी पढ़ें: छोटे कपड़ों में भी लड़कियों को क्यों नहीं लगती ठंड? मिल गया जवाब

गोलीबारी की रात इस्तेमाल की गई बंदूक पर भी स्ट्रिकलैंड की उंगलियों के निशान मिले थे. वह बंदूक विंसेट बेल की थी, जिसने बाद में हत्याओं के मामले में अपना जुर्म कबूल कर लिया था.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular