Friday, January 28, 2022
HomeभारतAQI in Delhi: 'गैस चैंबर' बनी दिल्ली को प्रदूषण से बचा पाएगा...

AQI in Delhi: ‘गैस चैंबर’ बनी दिल्ली को प्रदूषण से बचा पाएगा लॉकडाउन? जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ


नई दिल्ली. दिल्ली के वायु प्रदूषण (Air Pollution) को लेकर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में चर्चा हुई. इसके अलावा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी मुद्दे पर विचार करने के लिए एक बड़ी बैठक बुलाई थी. अदालत ने दिल्ली सरकार से पूछा है कि क्या प्रदूषण से निपटने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) का सहारा लिया जा सकता है. हालांकि, कई जानकार शीर्ष अदालत के इस विचार के खिलाफ हैं. वहीं, कुछ जानकारों ने प्रदूषण के खिलाफ किसी भी उपाय को दिल्ली के बजाए पूरे एनसीआर में लागू किए जाने की बात कही है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अुसार, काउंसिल ऑन एनर्जी एनवायरमेंट एंड वॉटर के कार्तिक गणेशन ने कहा, ‘अगर लॉकडाउन लागू किया गया, तो उन लोगों को सेफ्टी नेट मुहैया करानी होगी, जिनकी आजीविका प्रभावित हुई है.’ सेंट्रल पॉल्युशन बोर्ड के पूर्व अतिरिक्त निदेशक दीपांकर साहा ने कहा, ‘अगर लॉकडाउन लागने की जरूरत है, तो इसे पूरे एनसीआर में करना होगा. नीति का लागू होना एक समान होना चाहिए, ताकि हम फैले जहर के स्तर में कमी देख सके. अगर दिल्ली कुछ कर रही है और अन्य नहीं, तो इससे मकसद पूरा नहीं होगा.’

यह भी पढ़ें: केवल किसान नहीं जिम्मेदार, पटाखों पर बैन का क्या हुआ? वायु प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट ने किए सख्त सवाल

रिपोर्ट के अनुसार, गणेशन ने पूर्वानुमान के मुद्दे को भी उठाया. उन्होंने कहा, ‘फोरकास्टिंग सिस्टम ने इस स्थिति को देखा था और यहां एक डिसीजन सपोर्ट सिस्टम बी है. उन्होंने DSS का इस्तेमाल नहीं किया.’ वे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मीटियोरोलॉजी (IITM) की तरफ से तैयार किए गए सिस्टम के बारे में बात कर रहे थे.

IIT कानपुर में प्रोफेसर सच्चिदानंद त्रिपाठी ने कहा, ‘जब इसमें पराली जलाने का भी योगदान है, तो हमें दिल्ली में योगदानों पर भी काम करने की जरूरत है.’ उन्होंने कहा, ‘मॉडल डेटा सेट दिखाता है कि वाहन और उद्योग स्त्रोतों के लिए बड़े योगदान करने वाले हैं.’ प्रोफेसर त्रिपाठी ने कहा कि फिलहाल, हम मदद करने के लिए जलाने और उद्योग और निर्माण कार्य को रोकने जैसे उपाय कर सकते हैं. इस दौरान वाहनों से होने वाले उत्सर्जन को भी नियंत्रित करना होगा. प्रोफेसर का मानना है कि चूंकि लोग अब सामान्य आर्थिक गतिविधियों की ओर लौट रहे हैं, ऐसे में लॉकडाउन के परिणाम विपरीत होंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular