Tuesday, August 3, 2021
Home राजनीति CM पर अफसरों को बचाने का आरोप: नेता प्रतिपक्ष बोले- JDU के...

CM पर अफसरों को बचाने का आरोप: नेता प्रतिपक्ष बोले- JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष, केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के अध्यक्ष और DSP को बचा रहे हैं नीतीश, जनता को चाहिए जवाब


पटना19 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • बिहार के मुख्यमंत्री, केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के अध्यक्ष और उनके ओएसडी डीएसपी का अनैतिक गठजोड़

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर एक DSP और केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के अध्यक्ष को बचाने का आरोप लगाया है। तेजस्वी ने सीएम से सवाल पूछा है कि आखिर क्यों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक DSP जिस पर नाबालिग दलित लड़की के बलात्कार के साथ साथ केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) में भी भारी धांधली करने के आरोप हैं, को बचा रहे हैं? उन्होंने कहा है कि यह DSP केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के अध्यक्ष का OSD रहा है। इस DSP और चयन पर्षद के अध्यक्ष का क्या संबंध रहा है यह पूरा प्रशासन और पुलिस महकमा जानता है। केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के विवादित अध्यक्ष और मुख्यमंत्री की पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का क्या, कैसा और कब से कौन सा संबंध है यह भी सर्वविदित है।

सेवानिवृत्ति के बाद भी वैसे लोगों को बड़े पद क्यों देते हैं?

नेता प्रतिपक्ष ने मांग की है कि चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए ऐसे लोगों को तुरंत हटाया जाए। क्या जिले और जात के लोगों के अलावा चढ़ावे का हिस्सा भी मजबूरी है जो नीतीश कुमार उन्हें पद पर बनाए हुए है? हरेक भर्ती और चयन प्रक्रिया का कमोबेश यही हाल है। मुख्यमंत्री को ऐसा क्या लालच और फायदा है कि सेवानिवृत्ति के बाद भी वो ऐसे लोगों को बड़े पद देकर उपकृत कर रहे हैं? मुख्यमंत्री जवाब दें?

DSP की पत्नी ने सबूत सहित अपने पति पर आरोप लगाया है

तेजस्वी ने कहा कि इस DSP ने एक दलित नाबालिग का बलात्कार किया व भर्ती परीक्षा में धांधलियां कीं। यह आरोप स्वयं DSP की पत्नी ने सबूत सहित मीडिया के समक्ष अपने पति पर लगाया है। ऐसी क्या मजबूरी है कि गिरफ्तारी तो दूर की बात, निष्पक्ष जांच को भी ऊपर से बाधित किया जा रहा है? FIR दर्ज करने में भी जान बूझकर देरी की गई। इस अधिकारी के विरुद्ध जांच और गिरफ्तारी होने से प्रत्यक्ष रूप से बिहार के पूर्व DGP और वर्तमान केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के अध्यक्ष बचा रहे हैं। मीडिया में मामला आने के बाद पुलिस विभाग अब इस भ्रष्ट और व्याभिचारी अधिकारी पर दिखावटी कार्यवाही कर रहा है।

ड्राइवर बहाली में क्या-क्या गुल खिलाए
उन्होंने कहा कि बिहार का हर अभिभावक और अभ्यर्थी जानता है कि नीतीश कुमार और उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष के संरक्षण, निर्देश और शह पर केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के अध्यक्ष ने अपने इस OSD के साथ मिलकर व्यापक पैमाने पर सिपाही भर्ती में धांधली और घोटाले को अंजाम दिया है। 2017 ड्राइवर (सिपाही भर्ती) में भी क्या-क्या गुल खिलाए गए यह कौन नहीं जानता?

भारी रिश्वत और लेनदेन के खेल का आरोप
तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री और उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा सौंपी गई सूचियों के आधार पर सिपाही भर्ती में अनियमित तरीके से अधिकांश नियुक्ति एक जिला और जात की होने के बाद बाकी नियुक्तियों में भारी रिश्वत और लेनदेन का खेल शुरू होता है जिसका हिस्सा ऊपर तक जाता है। इसी गठजोड़ के तहत पूर्व विवादित डीजीपी को सेवानिवृत्त होने के बाद भी नीतीश कुमार ने महत्वपूर्ण पद देकर व्यवस्था में जमा रखा है ताकि वो उनकी एक जिला-एक जात की जरूरतें पूरी करने के साथ-साथ भ्रष्टाचार और अनैतिक राजनीति को भी मजबूती देते रहें।

अनेक ऑडियो वायरल
स्वयं इनके ओएसडी की धर्मपत्नी पर किसकी कैसी नजर थी यह बात खुद उसने अपनी पत्नी को बतायी थीं। बाजार में अनेक Audio वायरल हो रहे है जो दर्शाता है सत्ता शीर्ष पर बैठे इस गुट के कुछ खास लोगों का चाल चरित्र और चेहरा कैसा है?

प्रतिभाशाली और बेरोजगार युवा नौकरी से वंचित

चयन पर्षद के महत्वपूर्ण पद पर बैठे व्यक्ति एवं सत्ता शीर्ष के इस अनैतिक और भ्रष्ट गठजोड़ ने बिहार के लाखों युवाओं की जिंदगी चौपट कर दी है। जाति, जिला, अन्याय और पैसे के आधार पर अयोग्य युवकों का पुलिस विभाग में चयन किया जा रहा है जिससे योग्य, सक्षम और प्रतिभाशाली युवा और बेरोजगार नौकरी पाने से वंचित रह जाते हैं।

बिहार पुलिस की कार्यक्षमता और अधिक प्रभावित होगी

तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चयन प्रक्रिया की बागडोर अगर ऐसे ही लोगों के हाथ में देकर जाति और पैसे के आधार पर अक्षम लोगों की नियुक्ति जारी रखेंगे। तो यकीन मानिए पहले से ही बदहाल बिहार पुलिस की कार्यक्षमता और अधिक प्रभावित होगी।

इनका क्या है कहना

वहीं, जदयू ने नेता प्रतिपक्ष के आरोपों को खारिज कर दिया है। जदयू के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि तेजस्वी यादव बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। वे अपने माता-पिता वाला राज देखना चाहते हैं। हमारी सरकार में जेनुइन काम होता है और पूरी पारदर्शिता बरती जाती है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular